BREAKING NEWS

ED दफ्तर पहुंचे राउत बोले-मैं बहुत निर्भय आदमी, जिंदगी में कभी नहीं किया गलत काम ◾Prophet Remarks Row: SC ने खारिज की नूपुर शर्मा की याचिका, कहा- TV पर मांगे देश से माफी! ◾मेरा मुख्यमंत्री बनना फडणवीस का ‘मास्टरस्ट्रोक’ : एकनाथ शिंदे◾Maharashtra: फ्लोर टेस्ट एक औपचारिकता... आसानी से होगी जीत, CM शिंदे ने 'मातोश्री' पर कही यह बात ◾पेट्रोल -डीजल और एटीएफ के निर्यात पर बढ़ा टैक्स ,घरेलू बाजारों पर कोई असर नहीं ◾PM मोदी ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को दी जन्मदिन की शुभकामनाएं◾देशभर में आज से सिंगल-यूज प्लास्टिक पर बैन, रोजमर्रा इस्तेमाल होने वाली ये 19 चीज़ें शामिल ◾बाला साहेब की विरासत का कौन होगा उत्तराधिकारी ? उद्धव ठाकरे या एकनाथ शिंदे किसका पलड़ा भारी ◾उदयपुर हत्याकांड को लेकर एक्शन में गहलोत सरकार, देर रात हटाए गए SP और IG◾CORONA UPDATE : देश में कोरोना के मामलो में हुई वृद्धि, 24 घंटे में सामने आए 17 हज़ार से अधिक केस ◾मनी लॉन्ड्रिंग : आज ED के सामने पेश होंगे संजय राउत, Tweet कर शिवसैनिकों से की ये अपील◾यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की यूरोपीय संघ की सदस्यता पर करेंगे घोषणा◾LPG Price Update : LPG कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में कटौती, 198 रुपए हुआ सस्ता◾आज का राशिफल ( 01 जुलाई 2022)◾प्रधानमंत्री मोदी 12 जुलाई को करेंगे देवघर हवाई अड्डे का उद्घाटन◾बीजेपी का खेला : शिवसेना को कमजोर करना चाहती है भाजपा, शिंदे को मुख्यमंत्री बना ‘क्षेत्रीय भावनाओं’ पर कब्जे की कोशिश◾जानिए ! देवेंद्र से पहले भी ये नेता CM रहने के बाद जूनियर पद कर चुके है स्वीकार , फडणवीस ऐसे करने वाले चौथे नेता◾उद्धव ठाकरे ने नये मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे , उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को दीं शुभकामनाएं ◾सतारा के रहने वाले महाराष्ट्र के चौथे सीएम हैं एकनाथ , शरद पवार ने शिंदे को दी बधाई ◾CM Swearing Ceremony : शीर्ष नेतृत्व के कहने पर देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी चीफ मिनिस्टर◾

TOP 5 NEWS 05 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

1 - कृषि बिल : पांचवें दौर की बातचीत से पहले किसानों ने दी भारत बंद की धमकी

नौ दिनों से सड़कों पर आंदोलन कर रहे किसानों ने शुक्रवार को केंद्र सरकार को चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अगर मांगें नहीं मानी गई तो आठ दिसंबर को भारत बंद करेंगे। सरकार के साथ पांचवे दौर की बातचीत से पहले किसान नेताओं ने यह धमकी दी है। किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि यदि केंद्र सरकार शनिवार की वार्ता के दौरान उनकी मांगों को स्वीकार नहीं करती है, तो वे नए कृषि कानूनों के खिलाफ अपने आंदोलन को तेज करेंगे। एक अन्य किसान नेता हरविंदर सिंह लखवाल ने कहा, आज की हमारी बैठक में हमने आठ दिसंबर को ‘भारत बंद’ का आह्वान करने का फैसला किया है, जिस दौरान हम सभी टोल प्लाजा पर भी कब्जा कर लेंगे। उन्होंने कहा, यदि इन कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया गया तो हमने आने वाले दिनों में दिल्ली की शेष सड़कों को अवरूद्ध करने की योजना बनाई है। बता दें कि दिल्ली के बॉर्डर बिंदुओं पर पंजाब, हरियाणा और अन्य राज्यों के किसानों का प्रदर्शन लगातार नौ दिनों से जारी है।

2 - दिल्ली-एनसीआर में आज यहां रहेगा ट्रैफिक का डायवर्जन

नौ दिनों से सड़कों पर आंदोलन की वजह से दिल्ली-हरियाणा के बॉर्डरों के बाद पिछले दो दिन से दिल्ली-यूपी के कई बॉर्डर वाहनों के लिए बंद हैं। शुक्रवार को मध्यप्रदेश और पलवल की ओर से किसानों के दिल्ली का रुख करने की सूचना ने दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की चिंता बढ़ा दी है। पुलिस ने पलवल से दिल्ली में दाखिल होने वाले रास्ते बदरपुर टोल के पास आली गांव पर बैरिकेडिंग कर दी है। कटीले तार लाकर रखे गए हैं, जिससे किसी भी स्थिति को नियंत्रित किया जा सके। बता दें कि लोगों ने सोशल मीडिया पर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस से जाम और रास्ते बंद होने की शिकायत की। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर हापुड़ की ओर से आने वाले वाहनों को डासना पुल, हापुड़ चुंगी, एएलटी राजनगर एक्सटेंशन, रोटरी गोलचक्कर,नागद्वार होते हुए भोपुरा बार्डर से निकाला जाएगा। जल निगम पुलिस चौकी से जीटी रोड़ पर मेरठ तिराहा मोहननगर से होते हुए अप्सरा बार्डर से निकाला जाएगा। डाबर तिराहा से यूपी गेट जाने वाले वाहनों को महाराजपुर-आनंद विहार बार्डर से निकाला जाएगा। छिजारसी,सैक्टर-62 एवं खोड़ा अंडर पास से आने वाले वाहनों को नोएडा की तरफ से निकाला जाएगा। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर यूपी गेट फ्लाईओवर पर बैठे किसानों ने शुक्रवार सुबह दिल्ली से आने वाली लेन पर भी ट्रैफिक बंद किया।   

 3 - नगर निगम चुनाव : असदुद्दीन ओवैसी बोले- हैदराबाद नगर निगम चुनाव में नहीं थी BJP की कोई लहर

नगर निगम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी भले ही दूसरे स्थान पर रही, लेकिन भगवा पार्टी को इस चुनाव ने तेलंगाना में जश्न मनाने के लिए बड़ा मौका दिया है। ओवैसी ने कहा कि बीजेपी ने कहा था कि वे पुराने शहर (हैदराबाद) में सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे। लेकिन वे मेरे क्षेत्र में कुछ नहीं कर सकते थे।  इस चुनाव में सबसे ज्यादा नुकसान टीआरएस को हुआ है। पिछले चुनाव में 99 सीटों के साथ नगर निगम पर कब्जा करने वाली टीआरएस को इस चुनाव में काफी नुकसान हुआ है। उसके बाद अगर किसी को नुकसान हुआ है तो वह  ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन (AIMIM) है। असदुद्दीन ओवौसी की पार्टी भले ही 44 सीटें जीतने में सफल रही, लेकिन बीजेपी का उससे आगे निकलना यह कई मायनों में AIMIM के लिए खतरे की घंटी है। इतना ही नहीं, उन्होंने इसे बीजेपी की लहर मानने से साफ इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि लहर कहां है? अगर लहर आई होती, तो बीजेपी महाराष्ट्र MLC चुनाव में नहीं हारती। आपको बता दें कि सत्तारूढ़ टीआरएस 150 वार्डों वाले जीएचएमसी चुनाव में 55 सीटों जीतने वाली एकल सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी। 

4 - दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, बढ़ाया मजदूरों का वेतन और महंगाई भत्ता

शुक्रवार को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली के अकुशल, अर्द्धकुशल और अन्य श्रमिकों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का आदेश जारी किया है। उन्होंने कहा है कि अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने अपनी मजदूर-परस्त नीतियों के तहत यह कदम उठाया है। इसका लाभ लिपिक और सुपरवाइजर किस्म के कर्मचारियों की भी मिलेगा। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार के वित्त मंत्रालय ने अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रभाव के कारण नियमित सरकारी कर्मचारियों के लिए जनवरी से जून 2020 तक महंगाई भत्ते के अंक जोड़ने पर रोक लगा रखी है। सिसोदिया ने कहा असंगठित क्षेत्र के ऐसे श्रमिकों के महंगाई भत्ते पर रोक नहीं लगाई जा सकती, जिन्हें सामान्यतः केवल न्यूनतम मजदूरी मिलती है।

  

5- सीएम योगी आदित्यनाथ 37 हजार शिक्षकों को आज देंगे नियुक्ति पत्र

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को 69000 शिक्षक भर्ती के नवनियुक्त लगभग 37000 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र प्रदान करेंगे। लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सांकेतिक रूप से पांच शिक्षकों को नियुक्त पत्र देंगे और एनआईसी के माध्यम से राज्यस्तरीय कार्यक्रम को सम्बोधित करेंगे। इस अवसर पर वह नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले अभ्यर्थियों से संवाद भी करेंगे। इससे पहले 16 अक्टूबर को 31,277 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र दिए गए थे। दूसरे चरण की काउंसिलिंग शुक्रवार तक हुई है। सभी 75 जिलों में अधिकारी एनआईसी के माध्यम से इस कार्यक्रम से जुड़ेंगे।