BREAKING NEWS

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए मामले 10 हजार से कम, 137 लोगों ने गंवाई जान ◾कांग्रेस मुख्यालय में आज राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कृषि कानूनों पर जारी करेंगे बुकलेट◾दुनियाभर में कोरोना का प्रकोप लगातार जारी, मरीजों का आंकड़ा 9.55 करोड़ तक पहुंचा◾TOP 5 NEWS 19 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विदेशी आतंकियों की मौजूदगी से आतंकवाद विरोधी प्रयास हो रहे कमजोर : टी. एस. तिरुमूर्ति◾गुजरात : सूरत में सड़क किनारे सो रहे प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 13 लोगों की मौत ◾शुभेंदु अधिकारी ने ममता के गढ़ में चुनाव लड़ने का किया ऐलान बोले- 50 हजार वोटों से हारेंगी, नहीं तो छोड़ दूंगा राजनीति ◾किसान संगठनों और सरकार के बीच दसवें दौर की वार्ता अब बुधवार को होगी◾‘तांडव’ की टीम ने बिना शर्त माफी मांगी, कहा-भावनाएं आहत करने का कोई इरादा नहीं ◾सुशासन सरकार में पुलिस दोषियों के बजाये निर्दोष को जेल भेजने का काम करती है :तेजस्वी ◾आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह को मिली जिंदा जलाकर मारने की धमकी ◾एम्स निदेशक की जनता से अपील - मामूली साइड इफेक्ट से मत डरें, वैक्सीन आपको मारेगी नहीं ◾SC की टिप्पणी के बाद बोले किसान संगठन - ट्रैक्टर रैली निकालना किसानों का संवैधानिक अधिकार है◾बढ़ते क्राइम को लेकर तेजस्वी ने राज्यपाल से की मुलाकात, कहा- बिहारियों की बलि मत दिजीए CM नीतीश ◾नंदीग्राम से विधानसभा चुनाव लड़ेंगी ममता बनर्जी, कहा- दल बदलने वालों की नहीं है चिंता ◾केंद्र ने माल्या प्रत्यर्पण मामले में दी SC को सूचना, कहा- ब्रिटेन ने डिटेल सांझा करने से किया इंकार ◾'तांडव' वेब सीरीज विवाद को लेकर लखनऊ से मुंबई रवाना हुई UP पुलिस की टीम◾भारतीय किसान यूनियन के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी को संयुक्त किसान मोर्चा ने किया सस्पेंड◾SC की टिप्पणी पर बोले राकेश टिकैत-हम झगड़ा नहीं, गण का उत्सव मनाएंगे◾ट्रैक्टर रैली पर बोला SC- दिल्ली में किसे एंट्री देनी है, यह तय करना पुलिस का काम, बुधवार को अगली सुनवाई◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

TOP 5 NEWS 07 NOVEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

1 - बिहार इलेक्शन 2020 : आखिरी चरण में 15 जिलों की 78 सीटों के लिए वोटिंग शुरू

बिहार चुनाव 2020 : तीसरे और आखिरी चरण का मतदान शुरू हो गया है। मतदान शुरू होने से पहले ही कई बूथों पर कतारें लगनी शुरू हो गई है। तीसरे चरण में 78 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव के अलावा वाल्मीकिनगर संसदीय क्षेत्र उप चुनाव के लिए भी वोटिंग हो रही है। आपको बता दें कि 15 जिलों की 78 सीटों के लिए तीसरे चरण में 2 करोड़ 35 लाख 54 हजार 71 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। इस चरण में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी के अलावा  सरकार के 11 मंत्रियों -विजेन्द्र प्रसाद यादव, महेश्वर हजारी, विनोद नारायण झा, खुर्शीद अहमद, प्रमोद कुमार, लक्ष्मेश्वर राय, बीमा भारती, कृष्ण कुमार ऋषि, नरेन्द्र नारायण यादव, रमेश ऋषिदेव, सुरेश शर्मा सहित 1204 उम्मीदवार मैदान में हैं। बता दें कि शरद यादव की बेटी और बिहारीगंज से उम्मीदवार सुभाषिनी राज राव (कांग्रेस) ने मधेपुरा के बूथ नंबर 278 में मतदान किया। सहरसा जिले में सुबह नौ बजे तक 9.2 मतदान प्रतिशत रहा। 

2 - US ELECTION 2020 : डोनाल्ड ट्रंप या जो बाइडेन...कौन होगा अमेरिका का राष्ट्रपति? 

न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक डोनाल्ड ट्रंप यहां बाइडेन ट्रंप से आगे चल रहे थे। अमेरिका का अगला राष्ट्रपति कौन होगा, उसके लिए वोटों की गिनती जारी है। डोनाल्ड ट्रंप फिर से राष्ट्रपति की कुर्सी को बरकरार रखेंगे या फिर जो बाइडेन होंगे सत्ता पर काबिज, इसके लिए अब भी सस्पेंस बरकरार है। मगर कुछ राज्य ऐसे हैं, जो तय कर देंगे कि अमेरिका का अगला राष्ट्रपति कौन होगा। यूं कहा जाए कि इन्हीं राज्यों से व्हाइट हाउस का रास्ता गुजरता है। ऐरिजोना, जॉर्जिया, पेंसिल्वेनिया, नॉर्थ कैरोलिना और नेवादा जैसे पांच राज्यों से व्हाइट हाउस का रास्ता गुजरेगा, यही वजह है कि सबकी नजरें इन राज्यों पर टिकी हैं।  बता दें कि पेंसिल्वेनिया में ट्रंप की बढ़त कम होती जा रही है। चुनाव के नतीजे सबसे आखिर में नॉर्थ कैरोलिना में घोषित किए जाएं। बता दें कि यहां ट्रंप के जीतने की ज्यादा संभावना है। 

3 - पश्चिम बंगाल : BJP के बाद ममता की TMC की बढ़ सकती है एक और मुश्किल

बिहार विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस पश्चिम बंगाल में भी वामदलों के साथ गठबंधन को अंतिम रूप देने में जुट गई है। पश्चिम बंगाल में यह दूसरी बार होगा, जब दोनों पार्टियां गठबंधन में विधानसभा चुनाव लड़ेंगी। हालांकि, दोनों पार्टियों में अभी सीट का बंटवारा नहीं हुआ है। पार्टी के अंदर एक तबके का मानना था कि कांग्रेस को तृणमूल कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाहिए। पर यह संभावना उसी वक़्त खत्म हो गई, जब पार्टी ने अधीर रंजन चौधरी को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी। बता दें कि पश्चिम बंगाल में कांग्रेस वजूद बचाए रखने की चुनौती से जूझ रही है। पार्टी को मालूम है कि अगर उसने अकेले चुनाव लड़ने का दम भरा तो लोकसभा की तरह नुकसान उठाना पड़ेगा। कांग्रेस लेफ्ट गठबंधन चुनाव में तृणमूल कांग्रेस की मुश्किल बढ़ा सकता है। तृणमूल और भाजपा का मुकाबला बेहद नजदीक था। तृणमूल को 43 फीसदी वोट के साथ 22 सीट मिली थी, जबकि भाजपा को 40 प्रतिशत वोट के साथ 18 सीट मिली। दो सीट कांग्रेस के हिस्से में आई थी। बता दें कि अधिक सीट पर चुनाव लड़ने के बावजूद सीपीएम को 26 सीट मिली।

4 - उपग्रह EOS-01 : लॉन्चिंग के लिए गिनती शुरू, आज 3.02 बजे होगा लॉन्च

इसरो ने शुक्रवार को बताया कि इसकी लॉन्चिंग सात नवंबर को लॉन्च व्हीकल पीएसएलवी-सी49 से की जाएगी। इसके साथ ही नौ अंतरराष्ट्रीय कस्टमर सैटेलाइट की लॉन्चिंग भी होगी। लॉन्चिंग का समय शनिवार को दोपहर 3.02 बजे है। इसरो ने कहा, 'पीएसएलवी-सी49 / ईओएस-01 मिशन की लॉन्चिंग के लिए आखिरी गिनती श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से दोपहर 1.02 बजे शुरू हुई।' भारत का पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल अपने 51वें अभियान में नौ अन्य देशों की सैटेलाइटों के साथ ईओएस-01 को मुख्य सैटेलाइट के तौर पर प्रक्षेपित करेगा। 

5 - अमेरिका में ट्रंप जीतें या बाइडन, सुरक्षित रहेगा भारत का हित

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप की वापसी हो या जो बाइडन की एंट्री, दोनों स्थिति में अमेरिका के भारत के साथ रिश्ते सुरक्षित रहेंगे। इसका मुख्य कारण ये है कि डेमोक्रैटिक पार्टी और रिपब्लिकन पार्टी की भारत के प्रति विदेश नीति में कोई ख़ास अंतर नहीं है। इसके अलावा चिंता इसलिए भी नहीं है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रिपब्लिकन ट्रंप और डेमोक्रेट राष्ट्रपति रहे बराक ओबामा दोनों से साथ अच्छे संबंध रहे हैं। पूर्व राजनयिक पवन वर्मा के मुताबिक किसी देश की विदेश नीति सत्ता के साथ नहीं बदलती। उसमें निरंतरता रहती है। अमेरिका की विदेश नीति में भारत अहम भूमिका है और यह आगे भी रहेगी। चीन और पाकिस्तान को लेकर लगातार ट्रंप भारत के साथ मजबूती से खड़े दिखे। चाहे लद्दाख का मामला हो या दक्षिण चीन सागर का भारत और अमेरिका के बीच चीन को लेकर बेहतर समझ कायम हुई है। बता दें कि सत्ता बदलने से इस क्षेत्र में हालात नहीं बदलेंगे और इसलिए अमेरिका अपनी प्राथमिकताएँ भी नहीं बदलेगा।