BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 25 अक्टूबर 2020 )◾बिहार : शिवहर से चुनावी उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की गोली मारकर हत्या◾KXIP vs SRH ( IPL 2020 ) : किंग्स इलेवन पंजाब ने सनराइजर्स हैदराबाद को 12 रनों से हराया ◾बिहार चुनाव : केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोली- कमल का बटन दबाने से घर आएंगी लक्ष्मी◾महबूबा ने किया तिरंगे का अपमान तो बोले रविशंकर प्रसाद- अनुच्छेद 370 बहाल नहीं होगा◾KKR vs DC : वरुण की फिरकी में फंसी दिल्ली, 59 रनों से जीतकर टॉप-4 में बरकरार कोलकाता ◾महबूबा मुफ्ती के घर गुपकार बैठक, फारूक बोले- हम भाजपा विरोधी हैं, देशविरोधी नहीं◾भाजपा पर कांग्रेस का पलटवार - राहुल, प्रियंका के हाथरस दौरे पर सवाल उठाकर पीड़िता का किया अपमान◾बिहार में बोले जेपी नड्डा- महागठबंधन विकास विरोधी, राजद के स्वभाव में ही अराजकता◾फारूक अब्दुल्ला ने 700 साल पुराने दुर्गा नाग मंदिर में शांति के लिए की प्रार्थना, दिया ये बयान◾नीतीश का तेजस्वी पर तंज - जंगलराज कायम करने वालों का नौकरी और विकास की बात करना मजाक ◾ जीडीपी में गिरावट को लेकर राहुल का PM मोदी पर हमला, कहा- वो देश को सच्चाई से भागना सिखा रहे है ◾बिहार में भ्रष्टाचार की सरकार, इस बार युवा को दें मौका : तेजस्वी यादव ◾महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कोरोना पॉजिटिव , ट्वीट कर के दी जानकारी◾होशियारपुर रेप केस पर सीतारमण का सवाल, कहा- 'राहुल गांधी अब चुप रहेंगे, पिकनिक मनाने नहीं जाएंगे'◾भारतीय सेना ने LoC के पास मार गिराया चीन में बना पाकिस्तान का ड्रोन क्वाडकॉप्टर◾ IPL-13 : KKR vs DC , कोलकाता और दिल्ली होंगे आमने -सामने जानिए आज के मैच की दोनों संभावित टीमें ◾दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' श्रेणी में बरकरार, प्रदूषण का स्तर 'गंभीर'◾पीएम मोदी,राम नाथ कोविंद और वेंकैया नायडू ने देशवासियों को दुर्गाष्टमी की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने गुजरात में 3 अहम परियोजनाओं का किया उद्घाटन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

TOP 5 NEWS 17 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

1 - बड़ा हादसा : बस और पिकअप वैन में भीषण टक्कर, 7 की मौत और 32 घायल

उत्तर प्रदेश : पीलीभीत के पुरानपुर इलाके में एक बड़ा हादसा हुआ है। यह हादसा पूरनपुर की सीमाओं पर हुई।  बस और पिकअप की जोरदार टक्कर हुई है, जिसमें 8 लोगों की मौत हो चुकी है और 32 लोग घायल हो चुके हैं। इस बात की जानकारी पीलीभीत के एसपी ने दी है। यह बस पूरनपुर खुटार हाईवे पर लखनऊ के केसरबाग डिपो की थी, जिसकी टक्कर पिकअप से हो गई और यह हादसा हो गया। सूचना पर एसपी जयप्रकाश समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। रेस्क्यू कर घायलों को बाहर निकाला गया। बता दें कि हादसा शनिवार सुबह तीन बजे पूरनपुर खुटार हाईवे पर हुआ। लखनऊ के केसरबाग डिपो की बस सवारियां लेकर पीलीभीत की ओर आ रही थी। रास्ते में सेहरामऊ उत्तरी के समीप बस और पिकअप की जोरदार टक्कर हो गई। हादसे के बाद बस अनियंत्रित होकर पलट गई। बता दें कि कुछ को प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

2 - जानें कांग्रेस ने कौन सा दांव चला जो रिस्की तो है, मगर फायदेमंद भी हो सकता है

बिहार विधानसभा चुनाव : उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाने को मैदान में दमखम दिखा रहे हैं। कांग्रेस के अंदर एक बड़ा तबका मौजूदा राजनीतिक हालात में इस तरह के जोखिम लेने के खिलाफ है। कांग्रेस ने भी इन समीकरण के साथ तालमेल बनाते हुए अपने उम्मीदवार घोषित किए हैं, पर इसके साथ पार्टी ने अपने परंपरागत वोटबैंक को फिर से हासिल करने के लिए जोखिम भी उठाया है। कांग्रेस ने जिस तरह से बिहार में जातीय समीकरणों और अपने परंपरागत वोट बैंक को हासिल करने के उद्देश्य से उम्मीदवार उतारे हैं, उससे लगता है कि पार्टी अब फ्रंट पर खेलना चाहती है। एक तरह से देखा जाए तो भले ही अभी बिहार में चुनाव हो रहे हैं, मगर कांग्रेस की नजर बिहार के साथ-साथ उत्तर प्रदेश पर भी है। बिहार विधानसभा चुनाव में राजद की अगुवाई वाले महागठबंधन में कांग्रेस के हिस्से 70 सीटें आईं हैं। इस तरह से कांग्रेस 70 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। इन सभी सीटों पर कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। टिकट बंटवारे को देखें तो पार्टी ने सबसे ज्यादा टिकट सवर्ण, उसके बाद दलित और तीसरे नंबर पर मुस्लिम को दिया है। सवर्णों में पार्टी ने 9 ब्राह्मण उम्मीदवार बनाए हैं। जबकि अनुसूचित जाति से 14 और 12 मुस्लिम उम्मीदवार हैं। ब्राह्मण, दलित और मुस्लिम कांग्रेस को परंपरागत वोट रहा है। चुनाव में पार्टी इन मतदाताओं पर फोकस करेगी। 

3 - कोविड-19 : इलाज के प्रोटोकॉल की समीक्षा करेगा भारत

भारतीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने  निर्णय लिया है की कोविड -19 के इलाज में इस्तेमाल किए जा रहे प्रोटोकॉल की समीक्षा करेगा। यह फैसला विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के एक बड़े परीक्षण के नतीजे आने के बाद लिया गया है। पाया गया कि आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं में से चार को अस्पताल में भर्ती मरीजों में घातक परिणाम कम करने में कोई लाभ नहीं मिलता है। इनमें एंटीवायरल ड्रग रेमेडिविविर, मलेरिया ड्रग हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (एचसीक्यू), एक एंटी-एचआईवी संयोजन लोपिनवीर और रिटोनावीर और इम्युनोमॉड्यूलेटरी इंटरफेरॉन शामिल हैं। इनमें से पहली दो दवाएं कोरोना के मरीज के लिए लिखी जाती हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि प्रोटोकॉल की समीक्षा अगले संयुक्त टास्क फोर्स की बैठक में की जाएगी, जिसकी अध्यक्षता नीतीयोग सदस्य (स्वास्थ्य)  डॉ. वीके पॉल  और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक ( ICMR) डॉ बलराम भार्गव करेंगे। डॉ. भार्गव ने कहा, "हां, हम हमारे सामने नए सबूतों के आलोक में क्लिनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल पर फिर से गौर करेंगे।" जबकि HCQ को भारत के ड्रग्स कंट्रोलर जनरल द्वारा मामूली रूप से बीमार कोविद -19 रोगियों में ऑफ-लेबल उपयोग के लिए मंजूरी दे दी गई है। आपातकालीन उपचार प्राधिकरण के तहत रेमेडिसविर को मंजूरी दे दी गई है।

4 - अजरबैजान अर्मेनिया जंग : अभी भी शांति नहीं, 5 की मौत, 35 घायल

अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव ने टेलीविजन के जरिये राष्ट्र को दिए संदेश में कहा कि आर्मीनिया की बमबारी की वजह से अजरबैजान के सैनिकों और नागरिकों का नुकसान हुआ है। बता दें कि अजरबैजान के गांजा शहर पर हुए मिसाइल हमले में पांच लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 35 अन्य घायल हुए हैं। अजरबैजान के राष्ट्रपति कायार्लय के अधिकारी हिकमत हाजीयेव ने शनिवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी। हाजीयेव ने ट्वीट किया, “अर्मेनिया की ओर से किए गए मिसाइल हमलों में पांच नागरिकों की मौत हो चुकी है जबकि 35 नागरिक घायल हो चुके हैं। आपातकालीन सेवाओं के कर्मचारी राहत एवं बचाव कार्यों में जुटे हुए हैं। अर्मेनिआ का आतंकवाद और युद्ध अपराध लगातार जारी है।” दरअसल, अर्मेनिया और अजरबैजान की सेना के बीच 27 सितंबर से ही नागोनोर-काराबख क्षेत्र में एक इलाके पर कब्जे को लेकर हिंसक संघर्ष जारी है। इस संघर्ष में अब तक दोनों ओर से कई लोगों की मौत हो चुकी है। रूस की मध्यस्थता के बाद 10 अक्टूबर को दोनों ही देश युद्ध विराम लागू करने पर सहमत हो गए थे, लेकिन हिंसा दोबारा शुरू हो गयी है। आर्मीनिया के प्रधानमंत्री निकोलस ने तुर्की को युद्ध में किसी भी तरह की भूमिका को लेकर चेतावनी दी है। 

5 - कोरोना वायरस : 15 दिनों से कोरोना मामलों में 18% की सबसे तेज गिरावट

देश में अब कोविड -19 के मामलों में कमी देखी जा रही है। और मौतों में अक्टूबर के पहले 15 दिनों की अवधि से नए संक्रमणों में 18% की गिरावट देखी गई जबकि मौतों में लगभग 19% की गिरावट आई। भारत ने इस महीने के पहले 15 दिनों में 10,55,068 कोविड -19 मामले दर्ज किए, जो कि राज्य सरकारों से मिले दैनिक आंकड़ों के अनुसार अगस्त के दूसरे हाफ के बाद 15 दिनों का सबसे कम आंकड़ा है। सितंबर के दूसरे हाफ में केस संख्या 18.4% कम थी। यह लगातार दूसरा पखवाड़ा था जब कोरोना वायरस के मामलों में गिरावट देखी गई थी। पिछले पखवाड़े (16-30 सितंबर) में, जब महामारी की संख्या पहली बार गिरी थी, ताजा मामले 2.9% तक गिर गए थे। अक्टूबर के पहले में, 13,474 मौतें दर्ज की गईं।