BREAKING NEWS

वैज्ञानिक नवाचार के लिए हब के रूप में उभर रहा भारत : जितेंद्र सिंह ◾कोरोना योद्धाओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं : हर्षवर्धन◾राज्य, जिलों को कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों का पूर्व पंजीकरण को-विन 2.0 पर कराना होगा ◾वाम, कांग्रेस व आईएसएफ गठबंधन ने जनहित सरकार पर दिया जोर, पहले दिन दिखी दरार ◾अमित शाह ने तमिलनाडु, पुडुचेरी में तमिल भाषा और संस्कृति की सराहना की ◾जम्मू-कश्मीर : फारूक अब्दुल्ला का बड़ा बयान, बोले- चाहता हूं कांग्रेस मजबूत हो◾कृषि कानून वापस नहीं होगा तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा : राकेश टिकैत◾गणतंत्र दिवस हिंसा के लिए केजरीवाल ने केंद्र को ठहराया जिम्मेदार, कहा- तीनों कृषि कानून किसानों के डेथ वारंट◾महाराष्ट्र सरकार के वन मंत्री संजय राठौड़ ने दिया इस्तीफा, टिकटॉक स्टार की आत्महत्या के बाद उठ रहे थे सवाल◾भाजपा के शासन में अमीरी-गरीबी की खाई बढ़ी, कांग्रेस सत्ता में आएगी तो न्याय योजना को किया जाएगा लागू : राहुल◾किसान आंदोलन को धार देने की जुगत में लगी BKU, मार्च महीने में होगी दर्जन भर महापंचायत◾ मन की बात के कार्यक्रम में मोदी ने तमिल भाषा न सीख पाने को बताया अपनी कमी◾BJP अध्यक्ष नड्डा 2 दिवसीय दौरे पर पहुंचे वाराणसी, CM योगी समेत कई पार्टी नेताओं ने किया स्वागत◾मन की बात : PM मोदी बोले- जल सिर्फ जीवन ही नहीं, आस्था और विकास की धारा भी◾नए साल में भारत का मिशन सफल, अमेजोनिया-1 समेत 18 अन्य उपग्रहों ने श्रीहरिकोटा से भरी उड़ान ◾विश्व में कोरोना का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 11.3 करोड़ से अधिक ◾Today's Corona Update : देश में कोरोना संक्रमण के सामने आए 16,752 नए मामले, 113 मरीजों की मौत◾ चुनावी कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए अमित शाह आज तमिलनाडु और पुडुचेरी का करेंगे दौरा ◾चिदंबरम ने PM से किया सवाल, बोले- किसानों से बातचीत के लिये दिल्ली सीमा पर क्यों नहीं जाते मोदी◾किसान आंदोलन के प्रति समर्थन जुटाने के लिए राकेश टिकैत इन 5 राज्यों का करेंगे दौरा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

TOP 5 NEWS 19 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें

1 - CORONA VACCINE : टीकाकरण से भारत में टल गया कोरोना की दूसरी लहर का खतरा? 

देश में टीकाकरण की शुरुआत से दूसरी लहर का खतरा टल जाएगा। अमेरिका समेत तमाम यूरोपीय देश कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का सामना कर रहे हैं। लेकिन चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि भारत इस खतरे से बच सकता है। सीएसआईआर के महानिदेशक डा.शेखर.सी.मांडे ने कहा कि टीकाकरण शुरू होने से दूसरी लहर का खतरा निश्चित रुप से कम हुआ है। लेकिन हम पूरी तरह से तब तक सुरक्षित नहीं होंगे, जब तक 60-80 फीसदी लोगों को टीका न लग जाए। वर्धमान महावीर मेडिकल कालेज के कम्युनिटी मेडिसिन विभाग के निदेशक डॉ. जुगल किशोर ने कहा कि मूलत: चार कारण होते हैं जिससे दूसरी लहर आती है। एक वायरस में म्यूटेशन का होना, दूसरे मां से बच्चों में संचरण, तीसरा माइग्रेशन और चौथा प्रतिरोधक क्षमता कम होना। लेकिन ये चारों स्थितियां नहीं हैं। ब्रिटेन में मिले नए प्रकार के वायरस का खतरा भी देश में नहीं है क्योंकि इसके सीमित मामले सामने आए हैं जिनकी रोकथाम कर ली गई है। 

2 - FRAUD : न खरीद न बिक्री और बना दिया 173 करोड़ रुपये का बिल

पटना के भागवत नगर में एक फर्जी फर्म पकड़ी है। विभागीय इंटेलीजेंस की जांच में इस फर्म का बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा सामने आया है। फर्म द्वारा बिना किसी माल की सप्लाई किए ही 173 करोड़ के इनवाइस (बिल) जारी किए गए। इसमें 27.2 करोड़ की जीएसटी चोरी का खेल शामिल है। विभाग ने समय रहते कार्रवाई कर इस खेल का खुलासा कर दिया। दरअसल फर्जी फर्म ने ई-वे बिल तो जेनरेट किया, लेकिन जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल नहीं किया। विभाग द्वारा फर्म पंजीकरण के समय दिए गए पते का निरीक्षण किया तो जानकारी मिली कि वहां कुछ है ही नहीं। यानी फर्म केवल कागजों में ही संचालित थी। विभाग ने इस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए फर्जी फर्म के जीएसटी पंजीयन निलंबित करने और दूसरे फर्म को आईटीसी का लाभ देने पर रोक लगाने की जानकारी दूसरे राज्यों के वाणिज्य कर विभाग को भी दे दी है। बता दें कि जीएसटी लागू होने के बाद से वाणिज्य कर विभाग ने अब तक 150 से अधिक फर्जी फर्म पकड़ी हैं। 

3 - Foreign funding : सबूत खंगालने में जुटीं कई एजेंसिया, समन भेजने की भी है तैयारी

विदेशी फंडिंग की जांच पर एनआईए के अलावा अन्य एजेंसियों की भी नजर है। वित्तीय स्रोत खंगालने के लिए अन्य देशों की एजेंसियो से भी संपर्क की योजना है। सूत्रों का कहना है कि फंडिंग की कड़ियों को विभिन्न स्तर पर खंगाला जा रहा है। देश के भीतर व बाहर इसके स्रोत तलाशने के लिए एनआईए, ईडी, आईटी सहित अन्य संबंधित एजेंसियो का समन्वय बना हुआ है। एक अधिकारी ने कहा कि पूछताछ में शामिल न होने वाले संबंधित पक्षो को दोबारा समन भेजा जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, गृह मंत्रालय में 12 दिसंबर को एनआईए, ईडी, आईटी, सीबीआई और एफसीआरए डिवीजन के अधिकारियों की एक बड़ी बैठक हुई थी। इसके बाद ये प्लान तैयार हुआ कि सिख फॉर जस्टिस, बब्बर खालसा इंटरनेशनल, खालिस्तान जिन्दाबाद फोर्स, खालिस्तान टाइगर फोर्स की ओर से की जा रही फंडिंग पर ध्यान रखा जाए और इन संगठनों के जरिए भारत में किन एनजीओ को मदद मिल रही है इसपर भी नजर रखी जाए। इस बाबत 15 दिसंबर 2020 को गृह मंत्रालय की शिकायत पर एक एफआईआर दर्ज की गई।

4 - किसान आंदोलन : टल गई किसानों और सरकार के बीच आज होने वाली वार्ता

सरकार और आंदोलनकारी किसान संगठनों के होने वाली दसवें दौर की वार्ता 19 के बजाय अब 20 जनवरी को किसान संगठनों और सरकार के बीच बात होगी। बता दें कि सरकार की ओर से मंत्री समूह की बैठक 19 की बजाय 20 जनवरी 2021 को दोपहर 2 बजे विज्ञान भवन में होगी। यह महज संयोग है कि उसी दिन सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई प्रस्तावित है। सुप्रीम कोर्ट में अलग पीठ के कारण सोमवार की सुनवाई बुधवार के लिए आगे खिसकी। अब मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट की बनाई कमेटी की पहली रस्मी बैठक होगी। उधर, एक और मोर्चे की सुगबुगाहट के बीच लिखित माफीनामे के बाद गुरनाम सिंह चढूनी से संयुक्त किसान मोर्चा ने फिर नजदीकी बना ली है। यह महज संयोग है कि मंगलवार की वार्ता की रणनीति बनाने के बाद जब किसान नेता दिल्ली-एनसीआर के बॉर्डर पर सो रहे थे कि अचानक वार्ता 19 के बजाय 20 को होने की सूचना आई। कई किसान नेता सोमवार की रात तक वार्ता स्थगित करने के सरकार से फैसले से बेखबर थे। 

5 - WEATHER UPDATES : अगले चार दिन तक शीतलहर से राहत नहीं

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश पर कोहरे की चादर के चलते दृश्यता काफी कम रही। इसका असर रेल यातायात और सड़क परिवहन पर भी पड़ा। इन क्षेत्रों में जारी ऑरेंज अलर्ट के बीच मौसम विभाग ने अगले चार दिन तक शीतलहर जारी रहने और दिल्ली व कुछ हिस्सों में भी 24 घंटे के अंदर हल्की बारिश का अनुमान लगाया है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली-एनसीआर में पूर्व दिशा की ओर चल रही हवा पश्चिमी हिमालय की तरफ से आने वाली हवाओं की तरह ठंडी नहीं है। इसलिए अगले दो दिन में न्यूनतम तापमान तो बढ़ेगा लेकिन अधिकतम तापमान सामान्य से कम ही रहेगा। लिहाजा 22 जनवरी तक ठंड का कहर जारी रहेगा। अगले दो दिन तक उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में घना कोहरा छाया रहेगा।