BREAKING NEWS

देश में 5G सर्विस नए दौर की दस्तक और अवसरों के अनंत आकाश की शुरुआत : मोदी◾पाकिस्तान पर बड़ी डिजिटल स्ट्राइक, भारत में शहबाज सरकार के ट्वीटर पर BAN ◾नीतीश नहीं तेजस्वी यादव के हाथों में होगी बिहार की बागडोर? राजद नेताओं ने कर दिया ऐलान ◾ '... जाके कछु नहीं चाहिए, वे शाहन के शाह', दिग्विजय सिंह के इस tweet के क्या हैं मायने?◾Amazing स्पीड के साथ...No बफरिंग, 10 गुना होगी इंटरनेट की रफ्तार, देश में लॉन्च हुई 5G सर्विस◾दिल्ली : पुरानी आबकारी नीति से मालामाल हुई दिल्ली सरकार, एक महीने में कमाए 768 करोड़◾Pitbull का बढ़ता कहर, अब पंजाब में एक रात एक अंदर 12 लोगों को बनाया शिकार◾RBI Hike Repo Rate : ग्राहकों को लगा बड़ा झटका, रेपो रेट के बाद SBI समेत इन बैंकों में बयाज दर में बढ़ोतरी◾अशोक गहलोत का बड़ा खुलासा, जानिए अंतिम समय में क्यों अध्यक्ष पद चुनाव लड़ने से किया मना◾दिल्ली : हैवानियत का शिकार हुआ मासूम हारा जिंदगी की जंग, LNJP अस्पताल में 14 दिन बाद मौत◾कोविड19 : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना संक्रमण के 3,805 नए मामले दर्ज़, 26 मरीजों मौत ◾अजब प्रेम की गज़ब कहानी : पाकिस्तान की लड़की को हुई नौकर से मोहब्बत, कहा- प्यार अमीर-गरीब नहीं देखता ◾उत्तराखंड : केदारनाथ मंदिर के पास खिसका बर्फ का पहाड़, देखें Video◾LPG Price Update : 25.5 रुपए की कटौती के साथ सस्ता हुआ कमर्शियल LPG गैस सिलेंडर◾मल्लिकार्जुन खड़गे के समर्थन में उतरे गहलोत, जानिए अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर क्या कहा ◾आखिरकार क्यों अध्यक्ष पद चुनाव से कटा दिग्विजय सिंह का पत्ता? जानिए हाईकमान ने खड़गे के नाम पर कैसे लगाई मुहर◾आज का राशिफल (01 अक्टूबर 2022)◾RSS चीफ ने चीन , अमेरिका पर साधा निशाना , कहा - महाशक्तियां दूसरे देशों की स्वार्थी तरीके से मदद करती हैं◾T20 World Cup : 6 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगा भारत◾PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित◾

UK से आए यात्रियों के लिए 10 दिनों का क्वॉरंटीन होगा खत्म, जयशंकर ने ब्रिटेन की विदेश मंत्री से यात्रा संबंधी मुद्दों पर की चर्चा

भारत की तरफ से जवाबी कार्रवाई के बाद ब्रिटेन ने टीकाकरण पूरा करवा चुके भारतीय यात्रियों के लिए 10 दिन के क्वॉरंटीन वाले नियम को खत्म कर दिया है। ब्रिटेन के इस फैसले के बाद अब भारत ने भी नरमी दिखाने के संकेत दिए हैं और जवाबी तौर पर ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों पर लागू क्वॉरंटीन नियमों को भी खत्म करने पर विचार किया जा रहा है। 

भारतीय यात्रियों के लिए आइसोलेशन  में रहने संबंधी अपने नियम को हटाने की ब्रिटेन की घोषणा के एक दिन बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को वहां की अपनी समकक्ष लिज ट्रस से बात की और दोनों देशों के बीच यात्रा से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की।

ब्रिटेन ने बृहस्पतिवार को घोषणा की थी कि ब्रिटेन जाने वाले ऐसे भारतीय यात्रियों के लिए 11 अक्टूबर से  क्वॉरंटीन  में रहने की जरूरत नहीं होगी जिन्हें कोविशील्ड या ब्रिटेन द्वारा अनुमोदित किसी अन्य टीके की दोनों खुराक लगी हैं।जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘ब्रिटेन की विदेश मंत्री लिज ट्रस से बात करके अच्छा लगा। दोनों देशों के बीच यात्रा को सुविधाजनक बनाने पर सहमत हुए।

 इससे ‘रोडमैप 2030’ को लागू करने में मदद मिलेगी।’’

‘‘रोडमैप 2030’’ को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके ब्रिटिश समकक्ष बोरिस जॉनसन के बीच मई में एक डिजिटल शिखर सम्मेलन में स्वीकार किया गया था। इस रोडमैप का उद्देश्य द्विपक्षीय संबंधों को व्यापक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाना और अगले दशक में व्यापार और अर्थव्यवस्था, रक्षा और सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन और लोगों से लोगों के बीच संपर्क के प्रमुख क्षेत्रों में सहयोग का मार्गदर्शन करना है।

भारतीय यात्रियों के लिए पृथक-वास संबंधी नियमों को हटाने की घोषणा भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने बृहस्पतिवार शाम को की थी। एलिस ने कहा था, ''ब्रिटेन जाने वाले ऐसे भारतीय यात्रियों को सोमवार से पृथक-वास में रहने की जरूरत नहीं होगी जिन्हें कोविशील्ड या ब्रिटेन द्वारा अनुमोदित किसी अन्य टीके की दोनों खुराक लगी हैं। अब ब्रिटेन जाना आसान होगा। यह एक अच्छी खबर है।’’ वहीं, अपने नवीनतम यात्रा दिशा-निर्देशों में ब्रिटेन ने कहा कि ''लाल सूची'' सात देशों तक सीमित हो जाएगी और भारत समेत 37 नए देशों तथा क्षेत्रों के टीकाकरण के प्रमाण को सोमवार तड़के चार बजे से मान्यता दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि चार अक्टूबर को प्रभावी हुए ब्रिटेन के नए नियमों के अनुसार, कोविशील्ड टीके की दोनों खुराक लगवा चुके भारतीय यात्रियों को 10 दिन के पृथक-वास में रहना अनिवार्य किया गया था। इसके बाद, भारत ने एक जवाबी कदम उठाते हुए ब्रिटेन से भारत पहुंचने वाले ब्रिटिश नागरिकों का 10 दिन का पृथक-वास में रहना अनिवार्य कर दिया था, चाहे उनका पूर्ण रूप से कोविड-19 रोधी टीकाकरण हो चुका हो।