BREAKING NEWS

मुंबई : ताज होटल के पास की इमारत में लगी आग, कई लोगों के फंसे होने की आशंका ◾CM ममता ने शहीदों को किया याद, लोगों से लोकतंत्र ‘‘बचाने’’ का किया आह्वान ◾आडवाणी, स्वराज ने शीला दीक्षित को दी श्रद्धांजलि ◾सोमवार को 2 बजकर 43 मिनट पर होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण◾LIVE : कांग्रेस मुख्यालय पहुंचा शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर, निगमबोध घाट पर होगा अंतिम संस्कार◾झारखंड : गुमला में डायन होने के शक में 4 लोगों की पीट-पीटकर हत्या◾कारगिल शहीदों की याद में दिल्ली में हुई ‘विजय दौड़’, लेफ्टिनेंट जनरल ने दिखाई हरी झंडी◾ आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात ◾शीला दीक्षित की पहले भी हो चुकी थी कई सर्जरी◾BJP को बड़ा झटका, पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का निधन◾पार्टी की समर्पित कार्यकर्ता और कर्तव्यनिष्ठ प्रशासक थीं शीला दीक्षित : रणदीप सुरजेवाला ◾सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾

देश

सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कर्नाटक के बागी विधायक, जानबूझकर इस्तीफा स्वीकार नहीं करने का लगाया आरोप

कांग्रेस और JDS के कर्नाटक के दस विधायकों ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और आरोप लगाया कि विधानसभा अध्यक्ष जानबूझकर उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं कर रहे हैं। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने बागी विधायकों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी की दलीलों पर गौर किया और उन्हें आश्वस्त किया कि वह देखेगा कि क्या उनकी याचिका को तत्काल सुनवाई के लिए कल सूचीबद्ध किया जा सकता है। 

बीते कई दिनों से कर्नाटक की सरकार में उथलपुथल मची हुई है। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के जल संसाधन मंत्री डी के शिवकुमार आज सुबह बागी 10 विधायकों से मिलने मुंबई की उस होटल में पहुंचे जहां वह सभी ठहरे हुए है। लेकिन सभी विधायकों ने उसने मुलाकात करने का विरोध किया। साथ ही उनके खिलाफ हूटिंग भी की। विधायकों ने शिवकुमार के खिलाफ 'गो बैक' के नारे लगाए।


शिवकुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुंबई पुलिस अथवा अन्य बलों को पहले तैनात होने दीजिए। हम यहां अपने दोस्तों से मिलने आए हैं । हम एक साथ राजनीति में आये थे और एक साथ जाएंगे।’’ वहीं कांग्रेस नेता रमेश जारकीहोली ने डीके शिवकुमार से मुलाकात को लेकर कहा की हमें उनसे से मिलने में कोई दिलचस्पी नहीं है। बीजेपी का कोई भी नेता हमसे मिलने के लिए नहीं आया है।