BREAKING NEWS

CM ममता का आरोप, बोलीं- केन्द्र जबरन विधेयक करा रहा है पारित◾मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा: भाजपा को अपनी जीत पर भरोसा, चुनावी टिकट के लिए प्रतिस्पर्धा स्वाभाविक◾हरजिंदर सिंह धामी ने कहा- वीर बाल दिवस के बजाय साहिबजादे शहादत दिवस मनाए भारत सरकार◾Coimbatore Blast Case: तमिलनाडु में मंदिर के बाहर कार बम विस्फोट मामले में 3 गिरफ्तार, जांच जारी ◾Draupadi Murmu: द्रोपदी मुर्मू ने कहा- नागरिकों के कल्याण पर विशेष ध्यान दें अधिकारी◾Border dispute: फडणवीस ने महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद पर गृह मंत्री अमित शाह को दी जानकारी◾लव जिहाद फिर बना चर्चा का केंद्र; कांग्रेस ने बताया फर्जी, नरोत्तम मिश्रा ने किया पलटवार ◾RBI ने कहा- भारतीय संस्थाएं आईएफएससी में सोने की कीमत के जोखिम को कम कर सकती ◾MCD नतीजों को लेकर बोले केजरीवाल- दिल्ली का फैसला देश के लिए सकारात्मक राजनीति करने का संदेश◾Indonesia: इंडोनेशिया में पुलिस थाने के बाहर विस्फोट में एक अधिकारी की मौत, 11 घायल ◾यूपी के गाजीपुर में हैवानियत! प्रेमी जोड़े को गांव के प्रधान ने दी क्रूर सजा, जमकर की पिटाई , फिर चटवाया धूक◾पाकिस्तान से निकले तालिबान ने कर दी, 17 पाकिस्तानी सैनिकों का सिर कलम ◾हिमाचल विश्वविद्यालय में मचा बवाल, लेफ्ट-राइट फिर आमने-सामने, पुलिस ने डाला डेरा ◾केजरीवाल ने MCD में फेरी झाड़ू, CM बोले- दिल्ली को बदलने के लिए PM मोदी के आशीर्वाद की जरूरत ◾Bihar News: एक मुस्लिम और दूसरा हिन्दू बेटा, मां के अंतिम संस्कार को लेकर भाई के बीच हुआ विवाद ◾खुद को पैगम्बर बताने वाले बेटमैन की 20 नाबालिग पत्नियां, बेटी के साथ भी की शादी◾पंजाब: पॉपुलर गायक बब्बू मान से मानसा में पूछताछ हो रही, मारने की मिली थी धमकी, जानें पूरा मामला ◾MCD Election Result: क्या गुजरात-हिमाचल में भी पलटेगी बाजी? दिल्ली में Exit Polls क्यों हुए फेल◾MCD Results: दिल्ली में बड़ा चेहरा न होने से फंसी भाजपा, केजरीवाल के इलाके में किसने मारी बाजी, यहां देखे ◾Kanpur News: BJP नेता को घसीटकर MCD के दफ्तर से बाहर फेंका, जानें पूरा मामला◾

पिछले तीन साल में विदेशों में कंपनियों में कार्य के दौरान हुए हादसों में 1509 भारतीयों की हुई मौत, सरकार ने दी जानकारी

केंद्र सरकार ने बताया कि पिछले तीन वर्ष के दौरान विदेशों में स्थित कंपनियों में कार्य के दौरान हुए हादसों में लगभग 1509 भारतीयों की मृत्यु हो गई तथा 241 लंबित मामलों में मृत्यु के कारण प्रतिपूर्ति के दावों की प्रक्रिया चल रही है।लोकसभा को विजय वघेल और अरूण साव के प्रश्न के लिखित उत्तर में विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। सदस्यों ने पिछले तीन वर्षों में नौकरी के लिये विदेश गए एवं वहां कंपनियों में कार्य के दौरान जान गंवाने वाले भारतीयों की संख्या के बारे में जानकारी मांगी थी। 

241 लंबित मामलों में मृत्यु के कारण प्रतिपूर्ति के दावों की प्रक्रिया चल रही है 

सरकार द्वारा लोकसभा में पेश आंकड़ों के मुताबिक, जिन देशों से लंबित मामलों में प्रतिपूर्ति के दावों की प्रक्रिया चल रही है उनमें कतर में 81 मामले, सऊदी अरब में 31, सिंगापुर में 26, संयुक्त अरब अमीरात में 26, कुवैत में 21, सूडान में 20, मलेशिया में 17, ओमान में 5, बहरीन में 4, अजरबैजान-पुर्तगाल में 3-3 मामले शामिल हैं। मंत्री ने बताया कि तीन वर्ष के दौरान विदेशों में स्थित कंपनियों में कार्य के दौरान हुए हादसों में लगभग 1509 भारतीयों की मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि 241 लंबित मामलों में मृत्यु के कारण प्रतिपूर्ति के दावों की प्रक्रिया चल रही है। 

'कोविन' प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण करने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य नहीं, केन्द्र सरकार ने SC को बताया

भारत सरकार ने प्रवासी श्रमिकों के लिये ‘‘प्रवासी भारतीय बीमा योजना’’ शुरू की  

मुरलीधरन ने कहा कि भारत सरकार ने ऐसे प्रवासी श्रमिकों के लिये ‘‘प्रवासी भारतीय बीमा योजना’’ शुरू की है जिन्हें उत्प्रवास संबंधी अनापत्ति प्रमाणपत्र की जरूरत है। उन्होंने बताया कि इस योजना को वर्ष 2017 में और मजबूत बनाया गया ताकि यह भारतीय प्रवासी श्रमिकों के लिये लाभदायक हो सके। 

विदेश राज्य मंत्री ने कहा कि यह योजना दो और तीन साल की अवधि के लिये क्रमश: 275 रूपये और 375 रूपये के मामूली प्रीमियम पर मृत्यु या अस्थायी विकलांगता के मामले में 10 लाख रूपये का बीमा कवर तथा कुछ अन्य सीमित लाभ प्रदान करती है। उन्होंने बताया कि कई देशों में ऐसे मामलों को, मेजबान देशों के स्थानीय कानूनों के अनुसार सीधे नियोक्ताओं और मृतक के परिवारों के बीच निपटाया जा रहा है।