BREAKING NEWS

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान कोरोना पॉजिटिव, डॉक्टरों की सलाह पर अस्पताल में भर्ती◾उप्र : 24 घंटे में कोरोना के 2948 नए मामले की पुष्टि, 41 लोगों की मौत◾कोरोना के 82 फीसद मामले केवल 10 राज्यों में, मृत्युदर तेजी से घटकर 2.10 % हुई : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राम मंदिर भूमि पूजन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल जाएंगे अयोध्या, जानिए- क्या है अयोध्या में PM मोदी का पूरा कार्यक्रम◾राम मंदिर भूमिपूजन : मध्य प्रदेश की तरफ से 11 चांदी की ईंटें अयोध्या भेजेंगे कमलनाथ◾सुशांत मामले की CBI जांच की सिफारिश का विपक्ष ने किया स्वागत, तेजस्वी बोले- कोर्ट की निगरानी में होनी चाहिए जांच ◾UPSC सिविल सेवा परीक्षा-2019 का फाइनल रिजल्ट जारी, प्रदीप सिंह ने हासिल किया प्रथम स्थान◾राम मंदिर भूमिपूजन के अवसर पर महावीर मंदिर ट्रस्ट बांटेगा 1.25 लाख 'रघुपति लड्डू' का भव्य प्रसाद◾राम मंदिर भूमि पूजन से एक दिन पहले 'रामार्चा' शुरू, लगभग सात घंटे तक रहेगी जारी◾सुशांत सुसाइड केस : बिहार सरकार ने की CBI से जांच कराने की सिफारिश◾राम मंदिर भूमिपूजन पर मनीष तिवारी ने देशवासियों को दी शुभकामनाएं, ट्वीट किया महात्मा गांधी का भजन◾आतंकवाद को लेकर UN में भारत ने PAK को घेरा, कहा-आतंकियों का गढ़ है पाकिस्तान◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 81 लाख के पार◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों की संख्या साढ़े 18 लाख के पार, अब तक करीब 39 हजार लोगों की मौत◾LAC तनाव : भारत का चीन को स्पष्ट संदेश- क्षेत्रीय अखंडता के साथ कोई समझौता नहीं◾जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान ने मोर्टार से गोले दागकर संघर्ष विराम का किया उल्लंघन ◾दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर शिलान्यास की तिथि को बताया अशुभ मुहुर्त, PM मोदी से टालने का किया अनुरोध ◾कोविड-19 : देश में संक्रमण के मामले 18 लाख के पार, स्वस्थ होने वालों की संख्या 11.86 लाख हुई◾पीएम मोदी, राजनाथ, नड्डा ने रक्षा बंधन पर दी देशवासियों को शुभकामनाएं ◾दिल्लीः उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रक्षाबंधन की बधाई दी ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कर्नाटक के 2 निर्दलीय विधायकों ने याचिका वापस ली

कर्नाटक के दो निर्दलीय विधायकों आर. शंकर और एच.नागेश ने गुरुवार को सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल अपनी याचिका को वापस ले लिया। 

दायर याचिका में विधायकों ने शीर्ष न्यायालय से मांग की थी कि वह विधानसभा अध्यक्ष को सदन में तुरंत फ्लोर टेस्ट कराने को लेकर दिशा निर्देश प्रदान करे। 

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने याचिका को मंजूर कर लिया, लेकिन विधायकों का प्रतिनिधित्व कर रहे वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी के अदालत में पेश नहीं होने पर सर्वोच्च न्यायालय ने नाराजगी जताई। 

अदालत ने कहा कि जब मामले में तुरंत सुनवाई की जरूरत होती है तो हर कोई आने में सक्षम होता है। 

पीठ ने बुधवार को कहा था कि वह केवल दो पक्षों के वरिष्ठ वकीलों मुकुल रोहतगी और अभिषेक मनु सिंघवी की मौजूदगी में आदेश पारित करेगी। सुनवाई के लिए रोहतगी और सिंघवी बुधवार को मौजूद नहीं थे। 

हालांकि सिंघवी गुरुवार को न्यायालय में पेश हुए और कहा कि निर्दलीय विधायकों की याचिका वापस लिए जाने की अर्जी का वह विरोध नहीं कर रहे हैं।