BREAKING NEWS

कोटा के बीजेपी सांसद ओम बिड़ला होंगे लोकसभा के नए स्पीकर◾बिहार में चमकी बुखार से 107 बच्चों की मौत, आज मुजफ्फरपुर का दौरा करेंगे CM नीतीश◾J&K : अनंतनाग मुठभेड़ में एक जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर ◾अगर तीन दिन से ज्यादा किसी अधिकारी ने रोकी फाइल, तो होगी सख्त कार्रवाई : योगी◾कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद बोले नड्डा- कार्यकर्ता के तौर पर BJP को करुंगा मजबूत◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरू◾WORLD CUP 2019, WI VS BAN : साकिब के शतक से बांग्लादेश ने वेस्टइंडीज को सात विकेट से हराया ◾दिल्ली में बढ़ा हुआ ऑटो किराया मंगलवार से लागू होगा, अधिसूचना जारी ◾मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मुर्सी का अदालत में सुनवाई के दौरान निधन ◾ममता बनर्जी से मिलने के बाद बंगाल के चिकित्सकों ने हड़ताल खत्म की ◾जे पी नड्डा भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किये गये ◾पुलवामा में आतंकवादियों ने किया IED विस्फोट, 5 जवान घायल ◾कांग्रेस ने बिहार में दिमागी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर सरकार पर निशाना साधा ◾Top 20 News - 17 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾बैंकों ने जेट एयरवेज को फिर खड़ा करने की कोशिश छोड़ी, मामला दिवाला कार्रवाई के लिए भेजने का फैसला ◾लोकसभा में साध्वी प्रज्ञा के शपथ लेने के दौरान विपक्ष ने किया हंगामा ◾ममता बनर्जी और डॉक्टरों की बैठक को कवर करने के लिए 2 क्षेत्रीय न्यूज चैनलों को मिली अनुमति◾बिहार : बच्चों की मौत मामले में हर्षवर्धन और मंगल पांडेय के खिलाफ मामला दर्ज◾वायनाड से निर्वाचित हुए राहुल गांधी ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ◾सलमान को झूठा शपथपत्र पेश करने के केस में राहत, कोर्ट ने राज्य सरकार की अर्जी खारिज की◾

देश

चक्रवात वायु के मद्देनजर 3 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजा गया - अमित शाह

गृहमंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि चक्रवात वायु से उत्पन्न खतरे को देखते हुये निचले इलाकों से करीब 3.10 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेज दिया गया है और राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की 52 टीमों को तैनात कर दिया गया है। 

शाह ने बताया कि तटरक्षक बल, नौसेना, सेना और वायु सेना की इकाइयों को तैयार रखा गया है और विमानों एवं हेलीकॉप्टरों की मदद से हवाई निगरानी की जा रही है। 

उन्होंने कहा कि इस तूफान के पोरबंदर तथा संघ शासित प्रदेश दीव के बीच कहीं पहुंचने की आशंका है और वह लोगों की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करते हैं। 

‘बेहद गंभीर’ की श्रेणी में रखे गए इस चक्रवात की संभावित आपदा के खतरे को देखते हुये दस जिलों को अलर्ट जारी किया गया है और इसके तट पर टकराने के 24 घंटे बाद भी ताकतवर बने रहने की आशंका जाहिर की गई है। 

आमतौर पर चक्रवात तट से टकराने के बाद कमजोर पड़ जाता है।