BREAKING NEWS

केरल विमान हादसा : राज्य सरकार ने मृतकों के परिजन के लिए दस लाख रुपये मुआवजे का किया ऐलान◾DGCA ने जुलाई 2019 में सुरक्षा संबंधी त्रुटियों को लेकर कोझिकोड हवाईअड्डे को दिया था नोटिस◾भारत और चीन के बीच मेजर जनरल लेवल की बैठक जारी, देपसांग से सैनिकों को हटाने के बारे में होगी चर्चा ◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर तेज, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 94 लाख के करीब◾कोरोना वायरस : पिछले 24 घंटे में 61 हजार 537 नए मामलों की पुष्टि, 933 लोगों ने गंवाई जान ◾केरल विमान हादसा : एअर इंडिया एक्सप्रेस का एलान- कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का किया गया प्रबंध ◾LAC के पास सेना और वायुसेना को उच्च स्तर की सतर्कता बरतने के दिए गए निर्देश◾चीनी अतिक्रमण का उल्लेख करने वाली रिपोर्ट से धूमिल हुई रक्षा मंत्री की छवि : कांग्रेस ◾केरल विमान हादसा : कोझिकोड एयरपोर्ट पर रनवे पर विमान फिसलने से अब तक 18 लोगों की मौत◾कोझीकोड में हुए विमान हादसे पर PM मोदी ने ट्वीट कर जताया दुख, कहा- हादसे से व्यथ‍ित हूं◾केरल के कोझीकोड एयरपोर्ट पर रनवे से फिसला विमान, दो हिस्सों में टूटा, पायलट और को-पायलट समेत 17 लोगों की मौत◾महाराष्ट्र में कोरोना से 300 लोगों की मौत, 10483 नए मामले की पुष्टि◾सुशांत केस: रिया चक्रवर्ती की याचिका में पक्षकार बनने के लिये केन्द्र ने न्यायालय में दी अर्जी◾असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही को लेकर SC में याचिका दायर ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,192 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.42 लाख के पार ◾केरल में भूस्खलन की घटना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जताया दुख, कांग्रेस कार्यकर्ताओं से राहत बचाव कार्य में मदद करने की अपील की◾सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ी, लखनऊ मेदांता अस्पताल में भर्ती◾देश में 24 घंटे के भीतर कोरोना से 49 हजार 769 मरीज हुए ठीक, मृत्यु दर घटकर 2.05 % हुई : स्वास्थ्य मंत्रालय◾यूपी में 24 घंटे में कोरोना से 63 लोगो की मौत, 4404 नए मामले◾मुझे नहीं, सुशांत मामले की जांच को किया गया था क्वारंटाइन : IPS विनय तिवारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

गूगल प्ले स्टोर, एपल ऐप स्टोर से हटी भारत सरकार द्वारा बैन चीन की 59 ऐप, कंपनियों ने रोया दुखड़ा

भारत सरकार ने इस सप्ताह चीन से संबंध रखने वाली जिन 59 ऐप पर रोक लगाई है, उन्हें गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर ने भारत में हटा दिया है। इससे देश में मोबाइल फोन उपयोगकर्ताओं की इन ऐप तक पहुंच बंद हो गयी है। भारत सरकार ने इस सप्ताह सोमवार को टिकटॉक, यूसी ब्राउजर, शेयरइट और वीचैट सहित चीन की 59 ऐप पर रोक लगाते हुये कहा कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिये नुकसानदेह हैं। इसके एक दिन बाद लोकप्रिय लघु वीडियो ऐप टिकटॉक को गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर से हटा दिया गया था, जबकि अन्य 58 चीनी ऐप को अब हटाया गया है। 

गूगल ने कहा कि उसने भारत में अपने प्ले स्टोर से इन ऐप को अस्थायी रूप से रोका है। गूगल के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम भारत सरकार के अंतरिम आदेशों की समीक्षा कर रहे हैं। इस बीच, हमने प्रभावित डेवलपर्स को सूचित किया है और इन ऐप तक पहुंच को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है, जो भारत में प्ले स्टोर पर अभी उपलब्ध हैं।’’ 

हालांकि, प्रवक्ता ने उन ऐप का ब्योरा नहीं दिया, जिन्हें गूगल ने ब्लॉक किया है। सूत्रों ने कहा कि इसी तरह की कार्रवाई एपल प्ले स्टोर ने भी की है। प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से चीन के जिन ऐप को हटाया गया है, उनमें यूसी ब्राउजर, शेयरइट, वीचैट, कैमस्कैनर और एमआई कम्युनिटी शामिल हैं। भारत में टिकटॉक ऐप का इस्तेमाल पूरी तरह बंद हो गया है। इस बीच टिकटॉक के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी की सरकार के प्रतिबंध के खिलाफ कानूनी कदम उठाने की कोई योजना नहीं है। 

रविशंकर प्रसाद बोले-अगर कोई बुरी नजर डालता है तो भारत मुंहतोड़ जवाब देगा

टिकटॉक के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारी ऐसी कोई योजना नहीं है। हम इस समस्या का समाधान निकालने के लिये सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिये तैयार हैं। हम भारत सरकार के नियमों और कानूनों का पालन करते हैं। डेटा की संप्रभुता, सुरक्षा और गोपनीयता सुनिश्चित करते हुए हमने हमेशा ही उपयोक्ताओं को सर्वोपरि रखा है।’’ 

सूत्रों के अनुसार जिन 59 ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया, उनमें से कई के डेवलपर्स ने स्वेच्छा से अपने एप्लिकेशन को गूगल प्ले स्टोर से हटा लिया था। इस बीच, प्रतिबंधित ऐप बिगो लाइव ने एक बयान में कहा कि उसने भारत में गूगल प्ले और एप स्टोर से अपने ऐप को अस्थायी रूप से हटा दिया है। कंपनी ने कहा कि वह स्थानीय कानूनों का पालन करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। 

एक अन्य प्रतिबंधित ऐप लाइकी ने अलग से बयान में कहा कि उसने अपने ऐप को गूगल प्ले और एपल ऐप स्टोर से अस्थायी तौर पर हटा लिया है। उसने कहा कि भारत में उसने अपनी सेवाओं को भी निलंबित कर दिया है। 

कंपनी ने कहा, ‘‘हम भारत सरकार के आदेश का सम्मान करते हैं और इस कारण हमने अपने ऐप को गूगल प्ले स्टोर तथा एपल ऐप स्टोर से फिलहाल हटा लिया है। हमने इस मामले में स्थिति अधिक स्पष्ट होने तक भारत में अपनी सेवाएं भी निलंबित कर दी है।’’ प्रतिबंध लगाये जाने के कुछ ही देर बाद टिकटॉक गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर पर दिखना बंद हो गया था। 

विदेशी कंपनियों के निवेश का स्वागत है पर भारत के कानूनों के हिसाब से करना होगा काम : विदेश मंत्रालय