BREAKING NEWS

किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾प्रियंका की गैरकानूनी गिरफ्तारी भाजपा सरकार की बढ़ती असुरक्षा का संकेत: राहुल गांधी ◾सरकार बचाने के लिए सत्ता का नहीं करूंगा दुरुपयोग : कुमारस्वामी◾कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष बोले- विश्वास मत पर मतदान में देरी नहीं कर रहा हूं◾सोनभद्र मामले में 3 सदस्यीय समिति का गठन, 10 दिनों के अंदर सौंपेगी रिपोर्ट : योगी ◾कुमारस्वामी शुक्रवार को देंगे अपना विदाई भाषण : येदियुरप्पा◾कर्नाटक : विश्वास मत पर रोक के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कुमारस्वामी◾बिहार : छपरा में मवेशी चोरी के आरोप में भीड़ ने की युवकों की पिटाई, 3 की मौत◾मोहम्मद मंसूर खान से पूछताछ कर रही है ईडी : SIT◾आयकर विभाग के एक्शन से भड़कीं मायावती, कहा- अपने गिरेबान में झांके भाजपा ◾कुलभूषण जाधव को राजनयिक पहुंच प्रदान करेगा पाकिस्तान◾IMA पोंजी घोटाला: संस्थापक मंसूर खान दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार◾कर्नाटक विधानसभा में नहीं हो सका विश्वास मत पर फैसला, सदन के अंदर BJP का धरना ◾

देश

अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के बने नेता

वरिष्ठ कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी मंगलवार को संप्रग अध्यक्ष और कांग्रेस संसदीय दल की प्रमुख सोनिया गांधी द्वारा लोकसभा में कांग्रेस के नेता के रूप में नामित किए गए। 

कांग्रेस के शीर्ष सूत्रों के अनुसार, पश्चिम बंगाल के बहरामपुर के सांसद चौधरी को निचले सदन में पार्टी के नेता के रूप में नामित करने वाला पत्र लोकसभा सचिवालय को भेजा गया है। 

चौधरी ने खुद लोकसभा में कांग्रेस के नेता के रूप में अपने नामांकन की पुष्टि की और कहा कि वह अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करेंगे। 

चौधरी ने कहा, 'हम अपने मुद्दों को प्राथमिकता के साथ उठाएंगे। सांसदों की संख्या कोई मायने नहीं रखती। मैं पार्टी द्वारा मुझे दी गई अपनी जिम्मेदारी को पूरा करूंगा।' 

पश्चिम बंगाल के दो कांग्रेस सांसदों में से एक और राज्य के पूर्व पार्टी प्रमुख ने कहा कि राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के साथ संबंध राज्य स्तर पर प्रतिस्पर्धात्मक हैं और जब यह राष्ट्रीय स्तर पर आता है तो स्थिति बदल जाती है। उन्होंने कहा कि इसे देखते हुए रणनीति बनाई जाएगी। 

बुधवार को सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्षों की बैठक के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निमंत्रण के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसका फैसला पार्टी करेगी। कांग्रेस ने मुख्य सचेतक का नाम अभी तक तैय नहीं किया गया है। 

सोनिया गांधी को एक जून को कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष के रूप में चुना गया था। बैठक में, पार्टी के नेताओं ने उन्हें लोकसभा में पार्टी के नेता और मुख्य सचेतक का नाम देने का अधिकार दिया था। 

इस बार भी कांग्रेस फिर से निचले सदन में विपक्ष के नेता के पद को नहीं पा सकेगी क्योंकि इसके लिए उनके पास दो सीटें कम है। 

542 में से 52 सीटें कांग्रेस ने जीतीं। नियमों के अनुसार, विपक्ष के नेता के पद पर दावा करने के लिए कांग्रेस को कुल सीटों का दसवां हिस्सा यानी 54 सीटें चाहिए थीं।