BREAKING NEWS

US राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के लिए रवाना, कल सुबह 11.40 बजे पहुंचेंगे अहमदाबाद◾राष्ट्रपति ट्रम्प को आगरा के मेयर भेंट करेंगे 1 फुट लंबी चांदी की चाबी ◾ट्रंप को भेंट की जाएगी 90 वर्षीय दर्जी की सिली हुई खादी की कमीज◾‘नमस्ते ट्रंप’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने से पहले साबरमती आश्रम जाएंगे राष्ट्रपति ट्रम्प ◾तंबाकू सेवन की उम्र बढ़ाने पर विचार कर रही है केंद्र सरकार ◾TOP 20 NEWS 23 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मौजपुर में CAA को लेकर दो गुटों में झड़प, जमकर हुई पत्थरबाजी, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले◾दिल्ली : सरिता विहार और जसोला में शाहीन बाग प्रदर्शन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग◾पहले शाहीन बाग, फिर जाफराबाद और अब चांद बाग में CAA के खिलाफ धरने पर बैठे प्रदर्शनकारी ◾ट्रम्प की भारत यात्रा पहले से मोदी ने किया ट्वीट, लिखा- अमेरिकी राष्ट्रपति का स्वागत करने के लिए उत्साहित है भारत◾सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसलों ने देश के कानूनी और संवैधानिक ढांचे को किया मजबूत : राष्ट्रपति कोविंद ◾Coronavirus के प्रकोप से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 2400 पार ◾शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर वार्ताकार ने SC में दायर किया हलफनामा, धरने को बताया शांतिपूर्ण◾मन की बात में बोले PM मोदी- देश की बेटियां नकारात्मक बंधनों को तोड़ बढ़ रही हैं आगे◾बिहार में बेरोजगारी हटाओ यात्रा के खिलाफ लगे पोस्टर, लिखा-हाइटैक बस तैयार, अतिपिछड़ा शिकार◾भारत दौरे से पहले दिखा राष्ट्रपति ट्रंप का बाहुबली अवतार, शेयर किया Video◾CAA के विरोध में दिल्ली के जाफराबाद में प्रदर्शन जारी, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात ◾जाफराबाद में CAA के खिलाफ प्रदर्शन को लेकर कपिल मिश्रा का ट्वीट, लिखा-मोदी जी ने सही कहा था◾US में निवेश कर रहे भारतीय निवेशकों से मुलाकात करेंगे Trump◾कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने पाक राष्ट्रपति आरिफ अल्वी से की मुलाकात◾

छुट्टियों के बाद सुप्रीम कोर्ट खुला, दे सकती है कई बड़े फैसले

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट में पिछले 45 दिनों से गर्मी की छुट्टियां थीं और 1 जुलाई से कामकाज फिर से शुरू हो रहा है। जुलाई का यह महीना विभिन्न महत्वपूर्ण फैसलों के लिए अहम है। जल्दी ही कोर्ट सरकार की महत्वाकांक्षी योजना आधार की वैधानिकता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के उपराज्यपाल के बीच चल रही अधिकारों की जंग मुकदमें में तय करेगा कि दिल्ली का बॉस कौन है।

कोर्ट ने छुट्टियों के पहले दोनों मामलों पर सुनवाई पूरी कर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। दोनों ही मामलों की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधानपीठ ने की है। कोर्ट ने आधार कानून की वैधानिकता पर गत 10 मई को सुनवाई पूरी करके फैसला सुरक्षित रखा था। सेवानिवृत जज पुत्तासामी और कई अन्य लोगों ने आधार कानून की वैधानिकता को चुनौती देते हुए एकत्र किये जाने वाले बायोमेट्रिक डाटा से निजता के अधिकार का हनन होने की दलील दी है। आधार की सुनवाई के दौरान ही कोर्ट मे निजता के अधिकार के मौलिक अधिकार होने का मुद्दा उठा था जिसके बाद कोर्ट ने आधार की सुनवाई बीच में रोक कर निजता के मौलिक अधिकार पर नौै जजों की संविधान पीठ ने सुनवाई की और निजता को मौलिक अधिकार घोषित किया। इसके बाद पांच न्यायाधीशों ने आधार की वैधानिकता पर सुनवाई शुरु की थी।

आधार को चुनौती देने वालों का कहना था कि एकत्र किये जा रहे डाटा की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं हैं। जबकि दूसरी ओर केन्द्र सरकार, यूएआईडी, गुजरात और महाराष्ट्र सरकार सहित कई संस्थाओं ने आधार कानून को सही ठहराते हुए याचिकाओं को खारिज करने की अपील की है। सरकार ने पीपीटी प्रेजेन्टेशन के जरिये ये भी साबित करने की कोशिश की थी कि एकत्र किया गया डेटा सुरक्षित है। डेटा सुरक्षित रखने के कानून पर विचार के लिए विशेषज्ञ कमेटी बनाए जाने की भी बात कही गई थी।