BREAKING NEWS

केजरीवाल ने LG से बात की, शांति बहाल करने के लिए हरसंभव कदम उठाने का किया अनुरोध◾ग्रेटर नोएडा में बिरयानी विक्रेता की पिटाई, सभी आरोपी गिरफ्तार ◾नागरिकता कानून का विरोध : दिल्ली में आगजनी, हिंसा : पुलिसकर्मी जख्मी, बसों में आग लगाई◾केजरीवाल ने नागरिकता अधिनियम पर शांति की अपील की ◾TOP 20 NEWS 15 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾गुवाहाटी में पुलिस गोलीबारी में घायल हुए 2 और लोगों की हुई मौत, अब तक 4 की गई जान◾नागपुर में बोले फडणवीस- सावरकर पर टिप्पणी के लिए माफी मांगें राहुल गांधी◾कांग्रेस ने नागरिकता कानून को लेकर बवाल खड़ा किया : PM मोदी◾महाराष्ट्र: प्रदर्शन के बाद PMC के जमाकर्ता हिरासत में, CM उद्घव ने मदद का दिलाया भरोसा◾नागरिकता कानून वापस लेने के लिए याचिका दायर करेगी BJP की सहयोगी असम गण परिषद◾वीर सावरकर पर बयान देकर मुश्किल में फंसे राहुल, पोते रंजीत ने की कार्रवाई की मांग◾सावरकर वाले बयान पर कांग्रेस पर हमलावर हुई मायावती, कहा- अब भी शिवसेना के साथ क्यों, यह आपका दोहरा चरित्र नहीं?◾नेपाल के सिंधुपलचौक में यात्रियों से भरी बस दुर्घटनाग्रस्त, 14 लोगों की दर्दनाक मौत◾भारतीय मुसलमान घुसपैठिए और शरणार्थी नहीं, डरना नहीं चाहिए : रिजवी◾निर्भया के दोषियों को फांसी देना चाहती हैं इंटरनेशनल शूटर वर्तिका, अमित शाह को खून से लिखा खत ◾पश्चिम बंगाल में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन, कई स्थानों पर सड़कें अवरुद्ध◾नागरिकता संशोधन बिल में बदलाव को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने दिए संकेत◾अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल हुईं बेहोश, LNJP अस्पताल में भर्ती◾CAB के खिलाफ प्रदर्शनों के बाद आज गुवाहाटी और डिब्रूगढ़ के कुछ हिस्सों में कर्फ्यू में ढील◾झारखंड विधानसभा चुनाव: देवघर में प्रत्याशियों की आस्था दांव पर◾

देश

AIIMS ने जारी किया जेटली का हेल्थ बुलेटिन, हालत स्थिर लेकिन ICU में भर्ती

 arun jaitley admitted aiims

काफी समय से बीमार चल रहे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को एम्स में भर्ती कराया गया है। सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद उन्हें मेडिकल जांच के लिए शुक्रवार सुबह 10 बजे एम्स में भर्ती कराया गया। अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी। 

आपको बता दे कि अरुण जेटली का ट्रीटमेंट एंडोक्रिनोलोजिस्ट नेफ्रोलॉजिस्ट और कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टरों की देखरेख में चल रहा है। कार्डियोलॉजी के हेड ऑफ डिपार्टमेंट डॉक्टर वीके बहल की निगरानी में अरुण जेटली का इलाज चल रहा है। इसी साल मई में उपचार के लिए जेटली को एम्स में भर्ती कराया गया था। 

जेटली ने अपने स्वास्थ्य कारणों से 2019 लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा।  अप्रैल 2018 से ही उन्होंने कार्यालय आना बंद कर दिया था और 23 अगस्त, 2018 को वित्त मंत्रालय में लौटे। 

UPDATE  : -


- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के अलावा राज्यवर्धन सिंह राठौर और जेपी नड्डा भी एम्स पहुंचे 


-  एम्स ने जारी किया जेटली का हेल्थ बुलेटिन।



- एम्स में भर्ती अरुण जेटली की हालत स्थिर ।

- अरुण जेटली का हाल जानने के लिए निर्मला सीतारमण एम्स पहुंची ।


- जेटली का हाल जानने के बाद PM मोदी एम्स से निकले । 

- PM मोदी ने एम्स में अरुण जेटली का हाल जाना।

- जेटली का हाल जानने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी एम्स पहुंच चुके है।

- अरुण जेटली का हाल जानने के लिए गृह मंत्री अमित शाह और लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला भी एम्स पहुंचे चुके हैं। 

- स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन अरुण जेटली का हाल जानने के लिए एम्स पहुंचे।

बता दे कि इसी सप्ताह बीजेपी पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को खो चुकी है। अब अरुण जेटली के अस्पताल में भर्ती हुए हैं। हालांकि जेटली को चाहने वाले यही दुआ कर रहे हैं कि वे स्वस्थ्य होकर लौटेंगे। जेटली बीजेपी के बड़े नेता होने के साथ ही देश के जाने-माने वकील भी हैं। 

जेटली बीमारी की वजह से इस बार मोदी मंत्रिमंडल में नहीं हुए शामिल !

पेशे से वकील जेटली ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नीत पहली मोदी सरकार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अरुण जेटली ने पिछली मोदी सरकार में वित्त मंत्रालय के साथ-साथ कुछ समय के लिए रक्षा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाली थी। इन्हीं वित्तमंत्री रहते हुए मोदी सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी लागू करने जैसे कड़े फैसले ले पाई। 

बीमारी की वजह से इस बार वह मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं हुए। बीमारी के बावजूद वह मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रमों पर करीबी नजर रखते रहे हैं। अक्सर वह प्रमुख मुद्दों पर ब्लॉग लिखकर या फिर ट्वीट कर अपनी राय जाहिर करते हैं। 

अरुण जेटली लंबे वक्त से चल रहे हैं बीमार !

बता दे की अरुण जेटली लंबे वक्त से बीमार चल रहे हैं। उन्हें किडनी से जुड़ी गंभीर बीमारी है। मई साल  2018 में उनका किडनी ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन करवा था। साथ ही जेटली कैंसर का भी सामना कर रहे हैं। बता दे कि पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली  के बाएं पैर में कैंसर (सॉफ्ट टिश्यू) है। वह इसकी सर्जरी के लिए जनवरी 2019 में अमेरिका भी गए थे। 

सितंबर 2014 में डायबिटीज मैनेज के लिए उनकी गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी भी हो चुकी है। जबकि साल 2005 में उनका दिल से जुड़ा ऑपरेशन भी हुआ था। 

पीएम मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार के पिछले कार्यकाल में वह वित्त मंत्री थे। पर 2019 में जब बीजेपी-मोदी को शानदार बहुमत मिला तो जेटली ने साफ किया कि वह अपने स्वास्थ्य के मद्देनजर नई सरकार में किसी प्रकार की जिम्मेदारी नहीं चाहते।

राज्यसभा सांसद हैं अरुण जेटली

साल 2000 से अरुण जेटली  राज्यसभा के सांसद हैं। पिछले साल मार्च में उन्हें उत्तर प्रदेश से फिर से राज्यसभा का सांसद चुना गया है। वह करीब 100 दिन तक वित्त मंत्रालय से बाहर रहे। इस दौरान रेल, कोयला मंत्री पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया। 23 अगस्त 2018 को वह वित्त मंत्री के रूप में वापस काम पर लौटे।