BREAKING NEWS

सुंदरवन जल्द ही नया जिला होगा : ममता बनर्जी◾भारत में टारगेट हत्याओं के पीछे पाकिस्तान-कनाडा स्थित आतंकवादी, NIA जांच में खुलासा◾ थम गया गुजरात चुनाव का प्रचार, खड़गे ने PM को बताया रावण, BJP ने कांग्रेस पर किया पलटवार ◾MP : महाकाल मंदिर में राहुल गांधी ने की पूजा-अर्चना ◾रामपुर में पहले नहीं होते थे चुनाव, थानों और बूथों पर रहता था सपा के गुंडों का कब्जा : बृजेश पाठक ◾J&K : आजाद बोले- धार्मिक राजनीति ने देश को पहुंचाया गहरा नुकसान, वोट डालने से पहले जांचे 'ट्रैक रिकॉर्ड'◾पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- विनिर्माण की दुनिया में लगातार आगे बढ़ रहा है भारत◾Assam: सीएम शर्मा ने कहा- डिब्रूगढ़ विवि ने रैगिंग की घटना छिपाने की कोशिश की या नहीं, जांच पुलिस करेगी◾'मोदी सरकार' पर निशाना साधते हुए राहुल बोले- नोटबंदी, GST ने लोगों और छोटे व्यापारियों की कमर तोड़ी◾Gujarat: गुजरात में मिली जहरीली शराब पर भड़के राहुल गांधी- राज्य में फैल हुआ 'मोदी मॉडल'◾ लड़की के साथ दरिंदगी, तीन लोगों ने मिलकर किया दुष्कर्म, पुलिस ने आरोपियों को दबोचा, जानें पूरा मामला ◾Goa: सीएम प्रमोद सांवत ने कहा- ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर इफ्फी के जूरी प्रमुख का बयान कश्मीरी हिंदुओं का अपमान◾Air India: एयर इंडिया-विस्तारा के विलय को मिली मंजूरी...सिंगापुर एयरलाइंस की होगी इतनी हिस्सेदारी◾सोशल मीडिया ने देश को आगे बढ़ाया... लेकिन फेक न्यूज का भी तेजी से हुआ चलन, बोले केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ◾BWF Rankings: बीडब्ल्यूएफ रैंकिंग में छठे स्थान पर पहुंचे लक्ष्य सेन, टॉप-20 में गायत्री-त्रिशा ◾MCD पर केजरीवाल का चुनावी एजेंडा, कहा- 'आप पार्टी' को वोट दें.....राजधानी को बनाएंगे स्वच्छ और सुंदर ◾Digital Rupee: RBI का बड़ा ऐलान- 1 दिसंबर को लॉन्च होगा डिजिटल रूपया ◾भाजपा के गुजरात मॉडल पर योगी मॉडल की छाप, छात्राओं को देंगे तमाम तोहफे◾Corruption case: देशमुख की जमानत याचिका पर अदालत ने सुनवाई को 2 दिसंबर तक किया स्थगित ◾10वीं छात्रा के साथ दुष्कर्म, पांच सहपाठियों ने लड़की को दबोचा, किया गैंगरेप, वीडियो बनाकर कर रहे थे blackmail ◾

अल्वा बोलीं- उपराष्ट्रपति चुने जाने पर मैं राजनीतिक दलों के बीच सेतु और मुद्दों पर आम सहमति बनाऊंगी

उपराष्ट्रपति पद के लिए छह अगस्त को होने वाले चुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा ने सभी सांसदों को पत्र लिखकर कहा है कि निर्वाचित होने पर वह विभिन्न राजनीतिक दलों के बीच सेतु बनाने, राष्ट्रीय मुद्दों पर आम सहमति बनाने और संसद के गौरव को बहाल करने के लिए काम करेंगी।

अल्वा ने लोकसभा और राज्यसभा के सभी सदस्यों को लिखे एक पत्र में कहा कि उपराष्ट्रपति चुनाव को इस बारे में एक जनमत संग्रह के तौर पर देखा जाना चाहिए कि संसद किस तरह से संचालित हो रही है और महत्वपूर्ण राष्ट्रीय मुद्दों पर आम सहमति बनाने की लोकतांत्रिक प्रक्रिया किस कदर नाकाम हो गई है।

लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य उपराष्ट्रपति चुनाव के निर्वाचक मंडल में शामिल हैं।अल्वा ने सांसदों से की गई अपील में कहा, ‘‘ उपराष्ट्रपति निर्वाचित होने पर मैं संविधान को कायम रखने और हमारे संसदीय लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए अथक प्रयास करने के प्रति खुद को प्रतिबद्ध करती हूं। राज्यसभा की सभापति के रूप में, मैं विभिन्न राजनीतिक दलों के बीच सेतु बनाने, राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर आम सहमति बनाने और संसद के गौरव को बहाल करने के लिए काम करूंगी।’’

अल्वा ने कहा कि उपराष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार के तौर पर उनके नामांकन के लिए बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों से समर्थन मिलना उनके द्वारा सार्वजनिक जीवन में बिताये गये 50 से अधिक वर्षों को मान्यता देता है। उक्त अवधि के दौरान वह संसद के दोनों सदनों की सदस्य, केंद्रीय मंत्री और राज्यपाल रही हैं तथा उन्होंने संयुक्त राष्ट्र एवं अन्य वैश्विक मंचों पर भारत की एक प्रतिनिधि तौर सेवा दी।उपराष्ट्रपति चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ को अपना उम्मीदवार बनाया है।

अल्वा ने सांसदों से अपनी अपील में कहा, ‘‘आज, संसद में एक तरह से गतिरोध है और सदस्यों के बीच संपर्क टूट गया है। व्यक्तिगत हमलों और दुर्व्यवहार के बिना महत्वपूर्ण राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर चर्चा करने में अविश्वास, गुस्सा और असमर्थता व्याप्त है। इससे संसद और उसके सदस्यों के प्रति लोगों के बीच सम्मान घटता है।’’उन्होंने कहा, ‘‘अब परिवर्तन का समय है। उपराष्ट्रपति पद का चुनाव पार्टी व्हिप के अधीन नहीं है और इसमें गुप्त मतदान होता है। इसका उद्देश्य सदस्यों को एक ऐसे उम्मीदवार के लिए बिना किसी भय के मतदान का अवसर देना जिनके बारे में उन्हें विश्वास है कि वह इस महत्वपूर्ण पद के साथ न्याय करेगा/करेगी। एक उम्मीदवार जो निष्पक्ष, निडर हो और संसद के उच्च सदन की कार्यवाही उसकी गरिमा के अनुरूप संचालित करे।’’कांग्रेस की वरिष्ठ नेता अल्वा ने कहा कि गत वर्षों में उन्होंने देश के लिए ईमानदारी और प्रतिबद्धता के साथ काम किया है। उन्होंने सांसदों से की गई अपनी अपील में कहा, ‘‘मेरा एकमात्र उद्देश्य बिना किसी भय के भारत के संविधान की रक्षा करना रहा है...मेरा मानना ​​है कि मैं वह उम्मीदवार हूं और मैं आपको यह पत्र, छह अगस्त को आपका समर्थन और आपका वोट मांगने के लिए लिख रही हूं।’’