BREAKING NEWS

संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार का प्रस्ताव किया खारिज, किसान अपनी मांगों पर अड़े◾मुख्यमंत्री केजरीवाल का आदेश, कहा- झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को जल्दी से जल्दी फ्लैट आवंटित किए जाएं ◾ममता की बढ़ी चिंता, मौलाना अब्बास सिद्दीकी ने बंगाल में बनाई नई राजनीतिक पार्टी, सभी सीटों पर लड़ सकती है चुनाव ◾सीरम इंस्टीट्यूट में भीषण आग से 5 मजदूरों की मौत, CM ठाकरे ने दिए जांच के आदेश◾चुनाव से पहले TMC को झटके पर झटका, रविंद्र नाथ भट्टाचार्य के बेटे BJP में होंगे शामिल◾रोज नए जुमले और जुल्म बंद कर सीधे-सीधे कृषि विरोधी कानून रद्द करे सरकार : राहुल गांधी ◾पुणे : दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता में से एक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में लगी आग◾अरुणाचल प्रदेश में गांव बनाने की रिपोर्ट पर चीन ने तोड़ी चुप्पी, कहा- ‘हमारे अपने क्षेत्र’ में निर्माण गतिविधियां सामान्य ◾चुनाव से पहले बंगाल में फिर उठा रोहिंग्या मुद्दा, दिलीप घोष ने की केंद्रीय बलों के तैनाती की मांग◾ट्रैक्टर रैली पर किसान और पुलिस की बैठक बेनतीजा, रिंग रोड पर परेड निकालने पर अड़े अन्नदाता ◾डेजर्ट नाइट-21 : भारत और फ्रांस के बीच युद्धाभ्यास, CDS बिपिन रावत आज भरेंगे राफेल में उड़ान◾किसानों का प्रदर्शन 57वें दिन जारी, आंदोलनकारी बोले- बैकफुट पर जा रही है सरकार, रद्द होना चाहिए कानून ◾कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी और सभी मुख्यमंत्रियों को लगेगा टीका◾दिल्ली में अगले दो दिन में बढ़ सकता है न्यूनतम तापमान, तेज हवा चलने से वायु गुणवत्ता में सुधार का अनुमान ◾देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 15223 नए केस, 19965 मरीज हुए ठीक◾TOP 5 NEWS 21 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विश्व में आखिर कब थमेगा कोरोना का कहर, मरीजों का आंकड़ा 9.68 करोड़ हुआ ◾राहुल गांधी ने जो बाइडन को दी शुभकामनाएं, बोले- लोकतंत्र का नया अध्याय शुरू हो रहा है◾कांग्रेस ने मोदी पर साधा निशाना, कहा-‘काले कानूनों’ को खत्म क्यों नहीं करते प्रधानमंत्री◾जो बाइडन के शपथ लेने के बाद चीन ने ट्रंप को दिया झटका, प्रशासन के 30 अधिकारियों पर लगायी पाबंदी ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अमरनाथ बस ड्राइवर की हिम्मत से बची 50 लोगों की जान

जम्मू & कश्मीर के अनंतनाग जिले में अमरनाथ यात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले में सात यात्रियों की मौत समेत 19 से ज्यादा घायल हो गए थे । बस में सभी श्रद्धालु गुजरात के हिम्मतनगर के बताए गए हैं। मृतकों में 5 महिलाएं और 2 पुरुष श्रद्धालु शामिल हैं ।

आपको बता दे कि अगर ड्राइवर सलीम हिम्मत नहीं दिखाई होती तो आज ये और भी भयानक हो सकता था । जम्मू & कश्मीर के अनंतनाग जिले में बाबा बर्फानी के दर्शन करके वापिस आ रहे अमरनाथ यात्रियों की बस पर जब आतंकियों ने हमला बोला और अंधाधुंध फायरिंग करने लगे तब बस के ड्राइवर सलीम ने संयम का शानदार प्रदर्शन किया । जिसकी बदौलत 50 से यात्रियों की जान बच गई ।

ड्राइवर सलीम ने कहा कि उन्होंने बस की तरफ गोलियां चलने की आवाज सुनी। जिसके बाद उन्होंने बस को सुरक्षित जगह ले जाने का फैसला किया और इस बात का खास ध्यान दिया कि कम से कम गोलियां बस तक पहुंच पाए। सलीम का कहना है कि भगवान ने मुझे आगे बढ़ने की शक्ति दी। जिस कारण मैं सुरक्षित स्थान तक पहुंच पाया।

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने ड्राइवर सलीम की तारीफ की। मुख्यमंत्री ने सलीम को बहादुरी पुरस्कार के लिए नामित करने की भी बात भी कही। गुजरात के वलसाड में रहने वाले ड्राइवर सलीम के भाई जावेद ने बताया कि वह सात लोगों की जान नहीं बचा पाया । लेकिन ड्राइवर सलीम ने 50 लोगों को एक सुरक्षित स्थान तक पहुंचाया उस पर हमें गर्व है।

जम्मू & कश्मीर के अनंतनाग जिले में अमरनाथ यात्रियों की बस पर हुए आतंकी हमले के बाद बस में सवार यात्रियों के बयान के मुताबिक उनकी बस अनंतनाग से 2 km दूर पंचर हो गई थी। जिसे बनाने में देर हो गई। जैसे ही बस निकली आतंकियों ने हमला कर दिया।

बस के एक यात्री के मुताबिक वो लोग 5-6 की संख्या में थे और अंधाधुंध फायरिंग कर रहे थे। हमने ड्राइवर से कहा की बस को भगाता रहो। वहीं का ये भी कहना था कि बस निकलते ही अचानक फायरिंग शुरू हो गई और बस ड्राइवर सलीम ने हिम्मत दिखाते हुए बस नहीं रोकी। और आतंकी सैनिक कैंप तक बस पर फायरिंग करते रहे । ये तो भगवान शुक्र है कि इतने लोगों में से सात लोगों की मौत हो हुई अगर ड्राइवर ने बस नहीं भगाई होती सारे यात्री मारे जाते ।

पुलिस के मताबिक बस नियम विरुद्ध 7 बजे के बाद हाईवे पर गई। आपको बता दे कि 7 बजे बाद हाईवे पर यात्रा की अनुमति नहीं है। मिली जानकारी के मुताबिक यह बस रजिस्टर्ड नहीं थी। रोड ओपनिंग पार्टी, जिसके जरिए लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती थी वो 7:30 बजे वापस आ गई थी। बस पर हमला 8.20 बजे बैटनगो में हुआ जब वो तीर्थयात्रियों को दर्शन करा के बालटाल से मीर बाजार लौट रही थी।