BREAKING NEWS

असम-मेघालय सीमा विवाद को लेकर अमित शाह से आज मिलेंगे मेघालय CM संगमा और असम सीएम हिमंत◾देश में अब तक कोविड रोधी टीके की 159.54 करोड़ से ज्यादा दी गई खुराक , स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी ◾जल्द ही बाजार में भी मिल सकेंगी Covishield और Covaxin , सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला◾चीनी सेना ने सीमा से भारतीय युवक का किया अपहरण , MP तापिर गाओ ने मोदी सरकार से लगाई मदद की गुहार◾ विदेश मंत्री एस जयशंकर ने फिनलैंड के विदेश मंत्री के साथ अफगानिस्तान समेत कई मुद्दों पर की चर्चा◾PM मोदी और मारीशस के पीएम पी जगन्नाथ 20 जनवरी को परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾कोविड-19 : राजधानी में 24 घंटो में कोरोना के 13,785 नए मामले सामने आये, 35 लोगो की हुई मौत◾CDS जनरल बिपिन रावत के छोटे भाई कर्नल विजय रावत हुए भाजपा में शामिल, उत्तराखंड से लड़ सकते हैं चुनाव ◾पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी आम आदमी नहीं बल्कि बेईमान आदमी हैं : केजरीवाल◾बदली राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे विधानसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहिए : उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री ◾पंजाब : सीएम चन्नी ने BJP और केंद्र सरकार पर लगाया आरोप, कहा-ईडी की छापेमारी मुझे फंसाने का एक षड्यंत्र ◾प्रधानमंत्री को पता था कि योगी कामचोरी वाले मुख्यमंत्री है इसलिए उन्हें पैदल चलने की सजा दी थी : अखिलेश यादव ◾PM मोदी ने 15 से 18 वर्ष आयु के 50 प्रतिशत से अधिक युवाओं को टीके की पहली खुराक लगाए जाने की सराहना की◾यूपी : जे पी नड्डा का बड़ा ऐलान, 'अपना दल' और निषाद पार्टी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी भाजपा◾हरक सिंह की वापसी पर कांग्रेस में बढ़ी अंदरूनी कलह, बागी को ठहराया 'लोकतंत्र का हत्यारा', पूछे ये सवाल ◾समाजवादी पार्टी के नेताओं को भी पता है कि उनकी बेटियां एवं बहुएं भाजपा में सुरक्षित हैं : केन्द्रीय मंत्री ठाकुर ◾त्रिवेंद्र रावत ने चुनाव लड़ने से किया इंकार, नड्डा को लिखा पत्र, कहा- BJP की वापसी पर करना चाहता हूं फोकस ◾मुलायम परिवार में BJP की बड़ी सेंधमारी, अपर्णा यादव के बाद प्रमोद गुप्ता थामेंगे कमल, SP पर लगाए ये आरोप ◾PM मोदी, योगी और शाह समेत पार्टी के कई बड़े नेता BJP के स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल, जानें पूरी लिस्ट ◾महाराष्ट्र: मुंबई में कोविड की स्थिति नियंत्रित, BMC ने हाईकोर्ट को कहा- घबराने की कोई बात नहीं◾

अमरेंद्र, सुखबीर, सांपला, सिद्धू कूदे चुनाव मैदान में, प्रताप बाजवा के गायब होने से कांग्रेस की खडी हुई मुश्किलें

गुरदासपुर  : पंजाब के सीमावर्ती जिले गुरदासपुर की विनोद खन्ना के अचानक निधन के उपरांत खाली हुई संसदीय सीट के लिए 11 अक्तूबर को होने जा रहे उपचुनाव के लिए सियासी आगुओं द्वारा नामांकन पत्र दाखिल किए जाने के उपरांत हलचल शुरू हो चुकी है। सियासी उठक-पटक के उपरांत सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी की तरफ से आज पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने आखिरी दिन में अपना नामांकन पत्र जिला चुनाव अधिकारी गुरलवलीन सिंह सिद्धू के पास दाखिल किया जबकि उनसे पहले अकाली-भाजपा के संयुक्त प्रत्याशी के तौर पर स्वर्ण सलारिया निवासी गांव चौगांवा ने भ्भी पर्चा दाखिल किया।

जानकारी के मुताबिक इस संसदीय सीट में ऐसा पहली बार होगा। जब इस क्षेत्र में किसी भी मुख्य पार्टी से कोई भी सिख चेहरा चुनाव नहीं लड़ रहा। सुनील जाखड़ का अकाली -भाजपा प्रत्याशी स्वर्ण सलारिया और आप के सुरेश खजूरिया से तिकोना मुकाबला होगा। इस सीट पर 16 बार लोकसभा चुनाव हो चुके है, जिसमें 9 बार हिंदू उम्मीदवार और 7 बार सिख उम्मीदवार जीतते रहे है, हालांकि हिंदू वोटरों का अनुपात भी सिख वोटरों से अधिक है। जानकारी के मुताबिक इस हलके में जहां 43 फीसदी और 47.3 फीसदी हिंदू वोटर है।

आज दोपहर सुनील जाखड़ द्वारा पर्चा दाखिल करते समय पंजाब के मुखयमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह, कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू, शिक्षा मंत्री अरूणा चौधरी, फतेहचंद बाजवा और पंजाब कांग्रेस प्रभारी आशा कुमारी के अतिरिक्त कई वरिष्ठ कांग्रेसी आगु उपस्थित थे जबकि स्वर्ण सलारिया के नामांकन दाखिल करने के वक्त पूर्व उपमुख्यमंत्री व शिरोमणि अकाली दल अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल समेत पंजाब भाजपा प्रधान विजय सांपला भी मौजूद थे। इनसे पहले शिरोमणि अकाली दल अमृतसर की तरफ से उम्मीदवार कुलवंत सिंह मंजेल ने भी अपना पत्र दाखिल किया। इस अवसर पर उनसे साथ पार्टी प्रधान सिमरनजीत सिंह मान व अन्य सिख समर्थक उपस्थित थे। जिक्रयोग है कि आम आदमी पार्टी ने भी अपनी तरफ से सेवामुक्त मेजर जरनल 64 वर्षीय सुरेश कुमार खजूरिया को मैदान में उतारा है। आज नामांकन पत्र दाखिल किए जाने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने स्पष्ट किया कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय मुददों को आधार बनाकर उपचुनाव में उतर रही है।

उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने जो जिम्मेदारी उन्हें सौंपी है, वह उसपर खरा उतरेंगे। उनके मुताबिक यह चुनाव परिणाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए खतरे की घंटी साबित होंगे और देश के 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों को नई दिशा देंगे। सुनील जाखड़ ने अकाली दल पर भी हमला करते हुए कहा कि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल कांग्रेस के 6 महीनों के कार्याकाल के उन कामों का हल चाहते है जिन कामों को वह स्वयं पंजाब की सत्ता में 10 साल रहने के बावजूद नही कर सकें। उन्होंने कहा कि सुखबीर सिंह बादल भी उनके किसानों का कर्ज माफ कर सकते थे परंतु उन्होंने ऐसा करने की बजाए हरि के पतन में पानी वाली बस को चलाना जरूरी समझा।

उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी अकाली-भाजपा संयुक्त प्रत्याशी स्वर्ण सलारिया पर तीखे शब्द बोलते हुए कहा कि सलारिया बीती विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के पास गुरदासपुर सीट की टिकट मांगने आएं थे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार सिर्फ पैसे बनाने की खातिर जीतना चाहती है। लोगों की सहायता करना उनका मकसद नहीं।

उधर दूसरी तरफ साल 2014 में लोकसभा चुनावों के दौरान भाजपा के ही कुछ लोग अदाकार और सियासत से जुड़े नेता विनोद खन्ना की बजाए स्वर्ण सलारिया को टिकट देने के पक्ष में थे। काफी रस्साकशी उपरांत स्वर्ण सलारिया इस बार भाजपा का टिकट रामदेव की कृपा से हासिल करने में सफल रहे है। जानकारी के मुताबिक सलारिया की संघ से लेकर शिरोमणि अकाली दल और भाजपा गुटों में काफी मजबूत पकड़ है। इस क्षेत्र में उन्होंने काफी काम भी किए है और अकाली नेताओं के साथ उनकी अच्छी पटती भी है। आज देहरादून से अमतृसर एयरपोर्ट पर उतरते ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने स्वर्ण सलारिया के स्वागत के दौरान नारे लगाते हुए उन्हें मैंबर पार्लीेमेंट करार दे दिया। सलारिया ने पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का धन्यवाद करते हुए कहा कि जो भरोसा उनपर पार्टी ने किया है, वह खरा उतरेंगे। उन्होंने दावा किया कि भाजपा जो कहती है वह करती है। उनका यह भी कहना था कि उनका मुकाबला किसी भी सियासी शख्स से नही बल्कि स्वयं से है। बहरहाल सभी उम्मीदवार अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे है लेकिन आखिर मुकाबला सख्त होने की संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता।

- सुनीलराय कामरेड