BREAKING NEWS

यदि सावरकर प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान नहीं होता : उद्धव ठाकरे ◾राहुल ने अब्दुल्ला की हिरासत की निंदा की, तत्काल रिहाई की मांग की ◾नये वाहन कानून को लेकर ज्यादातर राज्य सहमत : गडकरी ◾यशवंत सिन्हा को श्रीनगर हवाईअड्डे से बाहर निकलने की नहीं मिली इजाजत, दिल्ली लौटे ◾2014 से पहले लोगों को लगता था कि क्या बहुदलीय लोकतंत्र विफल हो गया : गृह मंत्री◾देखें VIDEO : सुखोई 30 MKI से किया गया हवा से हवा में मार करने वाली ‘अस्त्र’ मिसाइल का प्रायोगिक परीक्षण◾नौसेना में 28 सितंबर को शामिल होगी स्कॉर्पीन श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी ‘खंडेरी’ ◾भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प नहीं हुई बल्कि यह तनातनी थी : जयशंकर ◾फारूक अब्दुल्ला की नजरबंदी लोकतंत्र पर दूसरा हमला : NC ◾JNU छात्रसंघ चुनाव में चारों पदों पर संयुक्त वाम के उम्मीदवारों की जीत ◾राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति सहित कई नेताओं ने PM मोदी को जन्मदिन की दी बधाई◾अयोध्या विवाद : SC ने वकीलों से बहस पूरी करने में लगने वाले समय के बारे में मांगी जानकारी◾J&K : पाकिस्तानी रेंजरों ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन , भारतीयों जवानों ने दिया मुहतोड़ जवाब◾TOP 20 NEWS 17 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भारत को एक पड़ोसी देश से ‘अलग तरह की चुनौती, उसे सामान्य व्यवहार करना चाहिए : जयशंकर ◾जन्मदिन पर PM मोदी ने मां हीराबेन से की मुलाकात, साथ में खाया खाना◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- देश की सुरक्षा को लेकर कोई समझौता बर्दाश्त नहीं ◾आज देश सरदार पटेल के एक भारत-श्रेष्ठ भारत के सपने को साकार होते हुए देख रहा है : PM मोदी◾मायावती ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- गैर भरोसेमंद और धोखेबाज है◾शारदा चिट फंड घोटाला : कोलकाता HC ने राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई से किया इनकार◾

देश

अमित शाह के पास है रात्रिचर पक्षी की विशेष शक्तियां, अंधेरे में शवों को गिन सकते हैं : राकांपा

सरकार पर पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के शिविर पर वायुसेना के हमले का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर कटाक्ष किया और कहा कि वह इस कार्रवाई में मारे गये आतंकवादियों की संख्या गिन सकते हैं क्योंकि उनके पास ‘रात्रिचर पक्षी’ की विशेष शक्तियां हैं।

भारत ने 26 फरवरी को बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया था। हाल ही में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया था कि इस हवाई हमले में 250 से अधिक आतंकवादी मारे गये।

राकांपा महासचिव और मुख्य प्रवक्ता डी पी त्रिपाठी ने कहा कि हवाई हमले के बाद विपक्षी पार्टियां सरकार के पीछे दृढ़ता के साथ खड़ी थीं और आम समझ थी कि आतंकवाद निरोधक अभियान का राजनीतिकरण नहीं किया जाएगा।

सरकार को बालाकोट हवाई हमले के विवरण के साथ सामने आना चाहिए : शत्रुघ्न

त्रिपाठी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘लेकिन दुर्भाग्य से प्रधानमंत्री, उनकी सरकार और भाजपा नेतृत्व ने इस मुद्दे का राजनीतिकरण करना शुरू कर दिया। ऐसा कर उन्होंने हमारे सशस्त्र बलों के देशभक्तिपूर्ण संकल्प का अपमान और उसका मजाक उड़ाया।

त्रिपाठी ने कहा कि प्रधानमंत्री देशभर में अपनी रैलियों में सभी विपक्षी दलों के खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं और उनके विरूद्ध अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश सचिव विजय गोखले ने हवाई हमले में हताहत हुए आतंकवादियों के बारे में कुछ नहीं कहा था लेकिन शाह ने यह आंकड़ा 250 बताया।

उन्होंने कहा, ‘‘शायद, उनके पास अंधेरे में देखने के लिए एक रात्रिचर पक्ष की विशेष शक्तियां हैं। केंद्र सरकार के विभिन्न वर्गों के विरोधाभासी बयानों से बिल्कुल भ्रम झलकता है।’’