सरकार पर पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के शिविर पर वायुसेना के हमले का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर कटाक्ष किया और कहा कि वह इस कार्रवाई में मारे गये आतंकवादियों की संख्या गिन सकते हैं क्योंकि उनके पास ‘रात्रिचर पक्षी’ की विशेष शक्तियां हैं।

भारत ने 26 फरवरी को बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया था। हाल ही में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया था कि इस हवाई हमले में 250 से अधिक आतंकवादी मारे गये।

राकांपा महासचिव और मुख्य प्रवक्ता डी पी त्रिपाठी ने कहा कि हवाई हमले के बाद विपक्षी पार्टियां सरकार के पीछे दृढ़ता के साथ खड़ी थीं और आम समझ थी कि आतंकवाद निरोधक अभियान का राजनीतिकरण नहीं किया जाएगा।

सरकार को बालाकोट हवाई हमले के विवरण के साथ सामने आना चाहिए : शत्रुघ्न

त्रिपाठी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘लेकिन दुर्भाग्य से प्रधानमंत्री, उनकी सरकार और भाजपा नेतृत्व ने इस मुद्दे का राजनीतिकरण करना शुरू कर दिया। ऐसा कर उन्होंने हमारे सशस्त्र बलों के देशभक्तिपूर्ण संकल्प का अपमान और उसका मजाक उड़ाया।

त्रिपाठी ने कहा कि प्रधानमंत्री देशभर में अपनी रैलियों में सभी विपक्षी दलों के खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं और उनके विरूद्ध अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश सचिव विजय गोखले ने हवाई हमले में हताहत हुए आतंकवादियों के बारे में कुछ नहीं कहा था लेकिन शाह ने यह आंकड़ा 250 बताया।

उन्होंने कहा, ‘‘शायद, उनके पास अंधेरे में देखने के लिए एक रात्रिचर पक्ष की विशेष शक्तियां हैं। केंद्र सरकार के विभिन्न वर्गों के विरोधाभासी बयानों से बिल्कुल भ्रम झलकता है।’’