BREAKING NEWS

बिहार विधान परिषद उपचुनाव : शाहनवाज हुसैन, मुकेश सहनी निर्विरोध निर्वाचित घोषित◾सुखबीर ने नगर निकाय चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना ◾भारत से कोविड-19 टीके की खेप बांग्लादेश, नेपाल पहुंचीं◾कृषि मंत्री ने किसानों के साथ अगले दौर की वार्ता से पहले अमित शाह से मुलाकात की ◾संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार का प्रस्ताव किया खारिज, किसान अपनी मांगों पर अड़े◾मुख्यमंत्री केजरीवाल का आदेश, कहा- झुग्गी झोपड़ी में रहने वालों को जल्दी से जल्दी फ्लैट आवंटित किए जाएं ◾ममता की बढ़ी चिंता, मौलाना अब्बास सिद्दीकी ने बंगाल में बनाई नई राजनीतिक पार्टी, सभी सीटों पर लड़ सकती है चुनाव ◾सीरम इंस्टीट्यूट में भीषण आग से 5 मजदूरों की मौत, CM ठाकरे ने दिए जांच के आदेश◾चुनाव से पहले TMC को झटके पर झटका, रविंद्र नाथ भट्टाचार्य के बेटे BJP में होंगे शामिल◾रोज नए जुमले और जुल्म बंद कर सीधे-सीधे कृषि विरोधी कानून रद्द करे सरकार : राहुल गांधी ◾पुणे : दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीन निर्माता में से एक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में लगी आग◾अरुणाचल प्रदेश में गांव बनाने की रिपोर्ट पर चीन ने तोड़ी चुप्पी, कहा- ‘हमारे अपने क्षेत्र’ में निर्माण गतिविधियां सामान्य ◾चुनाव से पहले बंगाल में फिर उठा रोहिंग्या मुद्दा, दिलीप घोष ने की केंद्रीय बलों के तैनाती की मांग◾ट्रैक्टर रैली पर किसान और पुलिस की बैठक बेनतीजा, रिंग रोड पर परेड निकालने पर अड़े अन्नदाता ◾डेजर्ट नाइट-21 : भारत और फ्रांस के बीच युद्धाभ्यास, CDS बिपिन रावत आज भरेंगे राफेल में उड़ान◾किसानों का प्रदर्शन 57वें दिन जारी, आंदोलनकारी बोले- बैकफुट पर जा रही है सरकार, रद्द होना चाहिए कानून ◾कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री मोदी और सभी मुख्यमंत्रियों को लगेगा टीका◾दिल्ली में अगले दो दिन में बढ़ सकता है न्यूनतम तापमान, तेज हवा चलने से वायु गुणवत्ता में सुधार का अनुमान ◾देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 15223 नए केस, 19965 मरीज हुए ठीक◾TOP 5 NEWS 21 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इस बड़ी रणनीति के कारण पहुंचे अमित शाह राज्यसभा

2014 के लोकसभा में भाजपा को बहुमत से जीत दिलाने वाले अमित शाह को इस युग का चाणक्य भी कहा जाता है। यूपी के चुनाव में अमित शाह ने अपनी शानदार रणनीति के दम पर बीजेपी को 80 में 73 सीटें दिलवाई थी। अब यह बातें आ रही हैं कि अमित शाह राज्यसभा में जाएंगे। इस पर भी यह कहा जा रहा है कि अमित शाह और बीजेपी कुछ बड़ा सोच रहे हैं। बता दें कि अमित शाह का भाजपा अध्यक्ष के तौर पर यह अंतिम कार्यकाल है।

यही वजह है कि अमित शाह को केंद्र की राजनीति में बनाए रखने के लिए यह शतरंजी चाल चली ज चुकी है। आपको बता दें कि अमित शाह ने राज्यसभा के लिए अपना नॉमिनेशन कर दिया है। आंकड़ों से देखें तो अमित शाह को जीतने में किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। अमित शाह का इतना लंबा राजनीतिक कैरियर रहा है लेकिन अमित शाह राज्यसभा में पहली बार सांसद बनेंगे। कहा जा रहा है कि अमित शाह का राज्यसभा में जाने के लिए कुछ बड़े ही मायने हैं।

चलिए बताते हैं क्या हैं उनके राज्यसभा में जानेंगे मायने-

1) कहा जा रहा है कि नायडू के बाद कोई बड़ा चेहरा नहीं है

बता दें कि पूर्व केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार बनने के बाद से राज्यसभा में बड़े चेहरे की कमी हो रही है। अमित शाह राज्यसभा में आ जाएंगे तो अरुण जेटली के बाद वह बड़े चेहरे के तौर पर देखें जाएंगे। कहा जाता है कि अमित शाह काफी भरोसे मंद है पीएम मोदी के तो यह कहा जा रहा है कि मोदी और शाह का यह दांव बीजेपी के लिए काफी अच्छा साबित रहेगा।

2) राज्यसभा में भी चाणक्य नीति चलेगी

लोकसभा में तो एनडीए सरकार के पास पूर्ण बहुमत है लेकिन राज्यसभा में एनडीए थोड़ी कमजोर है। आज की राजनीति का अमित शाह को चाणक्य भी कहा जाता है। एक यही वजह है कि अमित शाह अगर राज्यसभा में आ गए तो वह एनडीए की स्थिति को और भी मजबूत बना देंगे। अमित शाह अपनी राजनीति से राज्यसभा में भी विपक्ष को आसानी से हरा पाएंगे।

3) सरकार में पद भी ऊंचा होगा

बता दें कि मोदी सरकार में काफी ऐसे बड़े मंत्रालय हैं जो खाली पड़े हैं। वित्त मंत्रालय और रक्षा मंत्रालय अरुण जेटली के पास है। जब से वेंकैया नायडू ने इस्तीफा दिया है तब से मोदी सरकार में एक बड़े नेता की कमी सी हो गर्ई है। वहीं यह कहा जा रहा है कि अमित शाह राज्यसभा मेंं आ जाते हैं तो उन्हें सरकार में भी एक बड़ा पद मिल सकता है।

4) पार्टी के साथ-साथ सरकार में भी दिखेगी मोदी-शाह की जोड़ी

भाजपा में जब से मोदी का युग आया है तब से ही सारे दिग्गज नेता एक साइड हो चुके हैं। अमित शाह और नरेंद्र मोदी के पास ही सारी पार्र्टी की भाग दौड़ है। अमित शाह राज्यसभा में एंट्री लेते हैं तो उनकी राज्यसभा से सरकार में भी एंट्री हो जाएगी फिर उसके बाद मोदी-शाह की जोड़ी पार्टी के साथ सरकार में भी के साथ काम कर सकेंगे। अमित शाह पीएम मोदी के काफी करीबी माने जाते हैं तो यह भी कहा जा रहा है कि उन्हें एक बड़ा पद मिल सकता है और यह भी बोला जा रहा है कि अमित शाह की सरकार में भी शाह की नंबर 2 की जगह ही मिलेगी।

5) अमित शाह 2019 के बाद अध्यक्ष नहीं रहेंगे

बता दें कि अमित शाह बीजेपी अध्यक्ष के तौर पर अपना यह दूसरा कार्यकाल कर रहे हैं। बीजेपी में नियम है कि कोर्ई व्यक्ति दो से अधिक बार पार्टी में अध्यक्ष नहीं बन सकता है। इसलिए अमित शाह पहले से ही इस तैयारी में हैं कि वह राष्ट्रीय राजनीति में किसी बड़े पद पर तैयार रहें और अपनी पकड़ बनाए रखें।