BREAKING NEWS

गुजरात में भी विफल मीम-भीम गठजोड़, सर्वे ने सभी को चौंकाया, भाजपा को सबसे आगे दिखाया ◾Tamil Nadu: सीएम स्टालिन ने कहा- उत्तर भारत के पेरियार हैं अंबेडकर◾UP News: सपा विधायक अतुल प्रधान ने किया सदन की कार्यवाही का फेसबुक पर सीधा प्रसारण, हुई कार्रवाई◾संसद में मचेगा घमासान! विपक्ष की महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी◾Uttarakhand: अदालत का अहम फैसला- पत्नी का गला घोंटकर मारने वाले पति को आजीवन कारावास दिया ◾Gold Rate Today Price: दिन के खत्म होते ही सोने में भारी चमक, 118 रूपये दर्ज की गई बढ़ोत्तरी◾UP News: विधानसभा का शीतकालीन सत्र अनिश्चितकाल के लिए स्थगित◾UP News: योगी आदित्यनाथ ने कहा- देश में सर्वश्रेष्ठ मानकों पर कार्य कर रहा है उप्र का होमगार्ड विभाग◾Border dispute: शरद पवार ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री को दिया अल्टीमेटम, क्या थमेगा विवाद? ◾TMC, JD(U), SAD की महिला आरक्षण विधेयक पर आमसहमति बनाने के लिये सर्वदलीय बैठक की मांग◾किसानों का बड़ा ऐलान: केंद्र सरकार के खिलाफ शुक्रवार को जंतर-मंतर पर करेंगे प्रदर्शन◾केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा- अवैध खनन रोकने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है ड्रोन◾ईदगाह मस्जिद में हनुमान चालीसा का पाठ करने जा रहे अखिल भारत हिंदू महासभा का नेता हुआ गिरफ्तार ◾गोखले को हिरासत में लेने पर बयानबाजी शुरू, अभिषेक बनर्जी बोले- डरी हुई है भाजपा◾आतंकियों के निशाने पर कश्मीरी हिन्दू, TRF ने हिटलिस्ट जारी कर दी धमकी ◾CBI को मिली बड़ी कामयाबी, उत्तर रेलवे के एक इंजीनियर को दबोचा, दो करोड़ रूपए किए बरामद◾गुजरात में भाजपा की होगी जीत! सीएम बोम्मई ने कहा- इसका सीधा सकारात्मक प्रभाव कर्नाटक में पडे़गा◾महाराष्ट्र के ट्रकों को बलगावी के पास रोककर की गई पत्थरबाजी, फडणवीस कर्नाटक के सीएम पर भड़के◾PM मोदी ने तेजस्वी यादव से की बात, राजद सुप्रीमो के स्वास्थ्य का जाना हाल ◾सावधान! अगर अब भी नहीं सुधरें तो 35 से कम उम्र में आ सकता है Heart Attack◾

राजनीति में आने वाले हर युवा के लिए प्रणब दा का जीवन प्रेरणादायी रहेगा : अमित शाह

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन को अपूर्णीय क्षति बताते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि उनका जीवन विवादों से परे रहकर राजनीति में काम करने का एक अनुपम उदाहरण है। भारत के सर्वाधिक सम्मानित राजनेताओं में एक पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का 84 साल की उम्र में सोमवार की शाम निधन हो गया।

गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार ट्विटर पर एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा, "भारत रत्न’’ प्रणब मुखर्जी ने लंबे समय तक भारतीय राजनीति में न सिर्फ योगदान दिया, बल्कि उसे समृद्ध भी किया। उन्होंने कहा, ‘‘प्रणब दा आज हमारे बीच नहीं हैं। सार्वजनिक जीवन में काम करने वालों के लिए उनका निधन एक अपूर्णीय क्षति है। जो राजनीति में आना चाहते हैं और यह सीखना चाहते है कि विवादों से परे रहकर कैसे काम किया जा सकता है तो उन्हें प्रणब मुखर्जी के जीवन का बारीकी से अभ्यास करना चाहिए।"

उन्होंने कहा कि चाहे पक्ष हो या विपक्ष बतौर सांसद उनके भाषणों ने देश को हमेशा एक नई दिशा दी। नीतियों के निर्धारण की कटु आलोचना करनी हो या स्वयं नीति निर्धारण करना हो, हर बात में मुखर्जी का कौशल दिखाई देता था। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जीवन में इतना लंबा योगदान करना उनकी अपने आप में एक बहुत बड़ी उपलब्धि थी। राजनीति में आने वाले हर युवा के लिए उनका जीवन प्रेरणादायी रहेगा। 

उन्होंने कहा, ‘‘जब सत्ता में थे तो विपक्ष के लोगों के साथ तालमेल बिठाने का काम करते रहे। जब विपक्ष में रहे तो रचनात्मक विपक्ष की भूमिका निभाने में वे कभी पीछे नहीं हटे।’’ केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मुखर्जी जब भारत के राष्ट्रपति बने तो उस पद की गरिमा को भी बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। राष्ट्रपति भवन को आम आदमी के लिए खोलना उनका बहुत बड़ा फैसला था। 

पूर्व राष्ट्रपति का सोमवार की शाम दिल्ली में सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में निधन हो गया। उन्हें गत 10 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। मुखर्जी 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे। 

उन्होंने इंदिरा गांधी, पी वी नरसिम्हा राव और मनमोहन सिंह जैसे प्रधान मंत्रियों के साथ काम किया। पश्चिम बंगाल में जन्में मुखर्जी को चलता फिरता ‘इनसाइक्लोपीडिया’ कहा जाता था और हर कोई उनकी याददाश्त क्षमता, तीक्ष्ण बुद्धि और मुद्दों की गहरी समझ का मुरीद था।