BREAKING NEWS

दिल्ली: अनाज मंडी में एक मकान में लगी आग, 43 लोगों की मौत, 50 लोगों को सुरक्षित बाहर निकला गया ◾उन्नाव रेप पीड़िता के परिवार ने कहा- CM योगी के आने तक नहीं होगा अंतिम संस्कार, बहन ने की ये मांग◾दिल्ली: अनाज मंडी में लगी भीषण आग पर PM मोदी और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने जताया दुख◾RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले - गोसेवा करने वाले कैदियों की आपराधिक प्रवृत्ति में आई कमी◾देवेंद्र फडणवीस का दावा- अजित पवार ने सरकार बनाने के लिए मुझसे किया था संपर्क◾उन्नाव रेप पीड़िता का आज होगा अंतिम संस्कार, गांव में सुरक्षा के कड़े इंतजाम◾कहीं एनआरसी जैसा न हो सीएबी का हाल, आरएसएस बना रही रणनीति ◾झारखंड में रविवार को राजनाथ सिंह और स्मृति ईरानी की चुनाव सभाएं◾सोनिया ने रविवार को बुलाई संसदीय रणनीति समूह की बैठक, नागरिकता विधेयक पर होगी चर्चा ◾PM मोदी ने वैज्ञानिकों का कम लागत वाली प्रौद्योगिकियों के विकास का किया आह्वान ◾NIA ने आईएसआईएस 2 संदिग्धों के खिलाफ आरोप पत्र किया दायर◾उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने मरने से पहले कहा-'मुझे बचाओ, मैं मरना नहीं चाहतीं' ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता युवती का शव उसके गांव लाया गया ◾राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप◾मेरी मानसिक ताकत तोड़ना चाहती है केंद्र सरकार : चिदंबरम ◾भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई है : राहुल◾TOP 20 NEWS 7 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का नारा 'अबकी बार, तीन पार' होगा : केजरीवाल◾एनआरसी के खिलाफ कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेगी पार्टी : संजय सिंह◾राकांपा नेता उमाशंकर यादव बोले- नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दें CM योगी◾

देश

राज्यसभा में बोले शाह- जम्मू एवं कश्मीर में 5 अगस्त के बाद से नहीं हुई एक भी मौत

 shah rajya

संसद के शीतकालीन सत्र का आज तीसरा दिन है। सत्र के बीते दो दिन बहुत हंगामेदार रहे है। दोनों सदनों में जेएनयू, जम्मू-कश्मीर मुद्दे और दिल्ली प्रदूषण को लेकर खूब बवाल हुआ है। वहीं कांग्रेस और द्रमुक गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाए जाने का मुद्दा बड़ी ही जोरशोर से उठा रही है।

LIVE UPDATES : 

- अमित शाह ने कहा, 5 अगस्त के बाद से पुलिस फायरिंग में एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है। इस घर में लोग खून खराबे की भविष्यवाणी कर रहे थे लेकिन मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि पुलिस फायरिंग में किसी की मौत नहीं हुई है। पथराव की घटनाओं में गिरावट आई है।

- राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए अमित शाह ने कहा, सभी उर्दू / अंग्रेजी अखबार और टीवी चैनल काम कर रहे हैं, बैंकिंग सेवाएं पूरी तरह से कार्यात्मक हैं। सभी सरकारी कार्यालय और सभी न्यायालय खुले हैं। साथ ही ब्लॉक विकास परिषद के चुनाव हुए, 98.3% मतदान दर्ज किया गया।

- जम्मू-कश्मीर में किसी भी पुलिस स्टेशन क्षेत्र में कर्फ्यू की स्थिति नहीं है। इंटरनेट सुविधा वापस शुरू होने के सवाल के जवाब में शाह ने कहा कि हमने स्थानीय प्रशासन से स्थिति का जायजा लेने के लिए कहा है उसके बाद ही कोई कदम उठाया जाएगा।

- अमित शाह ने कहा, मैं गुलाम नबी आजाद साहब को चुनौती देता हूं कि इन तथ्यों का मुकाबला करें, जो आपने रिकॉर्ड पर इन आंकड़ों पर आपत्ति नहीं जताई? मैं इस मुद्दे पर एक घंटे के लिए भी चर्चा करने को तैयार हूं। राज्य में पेट्रोल, डीजल, केरोसिन, रसोई गैस और चावल की उपलब्धता पर्याप्त है। 22 लाख मीट्रिक टन सेब का उत्पादन होने की उम्मीद है। सभी लैंडलाइन खुले हैं। उन्होंने कहा की दवाओं की उपलब्धता पर्याप्त है, कोई समस्या नहीं है। मोबाइल मेडिसिन वैन भी शुरू हो गए हैं। प्रशासन ने स्वास्थ्य सेवाओं का ध्यान रखा है। 

- केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह राज्यसभा पहुंच चुके है।

- तापिर गाओ के अनुरोध पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा,मैं खुद से यह कह सकती हूं कि मैं वहां गई थी, अरुणाचल प्रदेश के सीएम के साथ बैठी और अरुणाचल प्रदेश के लोगों को मिलने वाले कई मुआवजे को मंजूरी दी।

- लोकसभा में अरुणाचल से बीजेपी संसद तापिर गाओ ने कहा, मैंने पूर्व रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और वर्तमान डीईएन राजनाथ सिंह से अनुरोध किया था कि अरुणाचल प्रदेश के लोगों को सेना द्वारा अधिग्रहित स्थानीय लोगों की भूमि का मुआवजा प्रदान किया जाए। लेकिन अब तक कोई मुआवजा नहीं दिया गया है।

- इसके जवाब में बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, कुछ भी राजनीतिक नहीं है, सुरक्षा वापस नहीं ली गई है। गृह मंत्रालय का एक बहुत ही निर्धारित पैटर्न है और एक प्रोटोकॉल है। यह एक राजनेता द्वारा नहीं किया जाता है, यह गृह मंत्रालय द्वारा किया जाता है और खतरे की धारणा के अनुसार सुरक्षा दी जाती है और वापस ले ली जाती है।

- कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने राज्यसभा में पार्टी के बड़े नेताओं सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को एसपीजी कवर वापस लेने का मुद्दा उठाते हुए कहा, "हम सरकार से आग्रह करते हैं कि हमारे नेताओं की सुरक्षा के मुद्दों को पक्षपातपूर्ण राजनीतिक विचारों से परे होना चाहिए"।