BREAKING NEWS

MI vs RR ( IPL 2020 ) : राजस्थान रॉयल्स ने मुंबई इंडियंस को 8 विकेट से हराया ◾अगर जीेसटी फेल है, तो पुरानी कर प्रणाली लागू करें : ठाकरे◾PM मोदी ने त्योहारों की खरीदारी में स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता देने का किया आहृवान◾सरहदों की सुरक्षा कर रहे सैनिकों के सम्मान में एक दीया जरूर जलाएं : PM मोदी ◾देशभर में सादगी से मनाया गया दशहरा, 'कोविड' का पुतला दहन किया गया ◾चीन के साथ तनाव खत्म करना चाहता है भारत लेकिन एक इंच भी जमीन नहीं लेने देंगे : राजनाथ ◾आज का राशिफल ( 25 अक्टूबर 2020 )◾बिहार : शिवहर से चुनावी उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की गोली मारकर हत्या◾KXIP vs SRH ( IPL 2020 ) : किंग्स इलेवन पंजाब ने सनराइजर्स हैदराबाद को 12 रनों से हराया ◾बिहार चुनाव : केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोली- कमल का बटन दबाने से घर आएंगी लक्ष्मी◾महबूबा ने किया तिरंगे का अपमान तो बोले रविशंकर प्रसाद- अनुच्छेद 370 बहाल नहीं होगा◾KKR vs DC : वरुण की फिरकी में फंसी दिल्ली, 59 रनों से जीतकर टॉप-4 में बरकरार कोलकाता ◾महबूबा मुफ्ती के घर गुपकार बैठक, फारूक बोले- हम भाजपा विरोधी हैं, देशविरोधी नहीं◾भाजपा पर कांग्रेस का पलटवार - राहुल, प्रियंका के हाथरस दौरे पर सवाल उठाकर पीड़िता का किया अपमान◾बिहार में बोले जेपी नड्डा- महागठबंधन विकास विरोधी, राजद के स्वभाव में ही अराजकता◾फारूक अब्दुल्ला ने 700 साल पुराने दुर्गा नाग मंदिर में शांति के लिए की प्रार्थना, दिया ये बयान◾नीतीश का तेजस्वी पर तंज - जंगलराज कायम करने वालों का नौकरी और विकास की बात करना मजाक ◾ जीडीपी में गिरावट को लेकर राहुल का PM मोदी पर हमला, कहा- वो देश को सच्चाई से भागना सिखा रहे है ◾बिहार में भ्रष्टाचार की सरकार, इस बार युवा को दें मौका : तेजस्वी यादव ◾महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कोरोना पॉजिटिव , ट्वीट कर के दी जानकारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

संविधान बदलने के बयान पर अनंत कुमार हेगड़े को मांगनी पड़ी माफी

पिछले दिनों केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े के संविधान व धर्मनिरपेक्षता के बारे में दिए गए बयान पर लगातार बढ़ते विरोध के कारण लोकसभा में माफी मांगनी पड़ी। मामले को बिगड़ता देख हेगड़े को अपने दिए बयान पर सफाई देनी पड़ी कि संविधान में उनकी पूरी आस्था है। उन्होंने कहा, "मेरे बयान को लेकर जो सदन में गतिरोध चल रहा है, मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं कि मेरे लिए संविधान सर्वोपरि है।

संसद मेरे लिए सर्वोपरि है, कभी किसी भी हालत में संसद के खिलाफ नहीं बोल सकता। मैं संसद का सम्मान करता हूं." लोकसभा में हेगड़े ने बृहस्पतिवार को यह कहकर सदस्यों से माफी मांगी कि अगर उनके बयान से किसी की भावना को ठेस पहुंची है तो इसके लिए वह माफी मांगते हैं। लेकिन सदन में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडगे समेत अन्य दलों के कुछ नेताओं ने इस पर आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा कि हेगड़े ने जो बयान दिया था, उसे देखते हुए इतना कह देना काफी नहीं है।

इस पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कहा कि कभी-कभी जीवन में ऐसा होता है कि आपको अपनी कही बात तो ठीक लगती है लेकिन दूसरों को इससे ठेस पहुंच सकती है। माफी मांगने से कोई छोटा नहीं होता है। इतना तो आप कह ही सकते हैं कि अगर सदन में इससे किसी को ठेस पहुंची है, तो माफी मांगते हैं।

अनंत कुमार हेगड़े ने कहा कि अगर इस बात से, जिसे गुमराह करके पेश किया गया है, जो बात मैंने कही नहीं, उससे किसी की भावना को ठेस पहुंची है, तो मुझे माफी मांगने में कोई संकोच नहीं है। वही अनंत कुमार हेगड़े के इस बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी आलोचना की।

राहुल ने कांग्रेस के 133वें स्थापना दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा, "कांग्रेस ने हमेशा सच का साथ दिया है, आज के समय में बाबा साहेब अंबेडकर का दिया हुआ संविधान खतरे में है, उस संविधान पर हमला हो रहा है। ये देखना दुखद है। लेकिन हमारा कर्तव्य है कि हम संविधान की रक्षा करें।"

बुधवार को राज्यसभा में भी विपक्ष ने उनके बयान को लेकर जमकर हंगामा किया, और कार्यवाही को स्थगित करने पर मजबूर किया। इस मुद्दे पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि सत्र खत्म होने में कुछ ही दिन शेष हैं, इसलिए विवाद को भूल सरकार-विपक्ष को एक ही पेज पर आना चाहिए।

हेगड़े के माफी मांगने के बाद सदन की कार्यवाही सुचारु रूप से चली। उल्लेखनीय है कि हेगड़े के संविधान एवं धर्मनिरपेक्षता संबंधी विवादास्पद बयान पर उन्हें बर्खास्त करने की कांग्रेस समेत विपक्षी दलों की मांग को लेकर लोकसभा में बुधवार को भारी हंगामा हुआ था और सदन की कार्यवाही में बाधा आई थी। विपक्ष के हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही को 4 बार स्थगित करना पड़ा था।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ