BREAKING NEWS

राहुल के 'रेप इन इंडिया' वाले बयान को लेकर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर जनता का ध्यान भटकाने का लगाया आरोप◾निर्भया के दोषियों पर फैसला 18 दिसंबर को : कोर्ट ◾गुवाहाटी में मोदी और शिंजो आबे के बीच होनी वाली शिखर वार्ता हुई स्थगित◾लोकसभा में बोले राजनाथ सिंह- राहुल गांधी को सांसद होने का नैतिक अधिकार नहीं◾'रेप इन इंडिया' वाले बयान पर बोले राहुल-कभी माफी नहीं मांगने वाला◾राहुल गांधी के 'रेप इन इंडिया' वाले बयान पर लोकसभा में हंगामा, महिला सांसदों ने की माफी की मांग ◾निर्भया गैंगरेप : पटियाला हाउस कोर्ट में टली सुनवाई, पीड़िता की मां ने आरोपी की पुनर्विचार याचिका का किया विरोध ◾आम चुनावों में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को मिला बहुमत, PM मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप ने दी बधाई◾तृणमूल सांसद महुआ मोइत्रा ने नागरिकता संशोधन कानून को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती ◾संसद हमले की 18वीं बरसी आज, पार्लियामेंट के बाहर PM मोदी समेत कई सांसदों ने दी श्रद्धांजलि◾नागरिकता संशोधन विधेयक: भारत की यात्रा रद्द कर सकते हैं जापान के PM शिंजो आबे◾पिछले तीन साल में उच्चतम स्तर पर महंगाई, लेकिन प्रधानमंत्री मौन : प्रियंका गांधी◾नागरिकता संशोधन विधेयक: डिब्रूगढ़ में कर्फ्यू में ढील, गुवाहाटी में प्रदर्शनकारी कर रहे हैं अनशन◾निर्भया गैंगरेप : चारों आरोपियों की जल्दी फांसी की मांग को लेकर पटियाला हाउस कोर्ट में आज होगी सुनवाई◾केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन का जन्मदिन आज, PM मोदी ने दी बधाई◾CAB : अमेरिका ने भारत से धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा करने का किया अनुरोध◾झारखंड विधानसभा चुनाव : झरिया में देवरानी-जेठानी के बीच दिलचस्प मुकाबला◾किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए सरकार ने बनाया रोडमैप : कृषि मंत्री ◾उत्तर भारत में बर्फबारी के बाद बढ़ी ठंड, दिल्ली में भी हुई बारिश ◾भाजपा नेता विनय कटियार को मिली जान से मारने की धमकी◾

देश

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने जम्मू कश्मीर के धर्मोपदेशकों से की मुलाकात

 bipin rawat1200

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने मंगलवार को जम्मू कश्मीर के रियासी और राजौरी इलाकों के विभिन्न धर्मों के उपदेशकों से बातचीत की और उन्हें क्षेत्र के विकास के लिए पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। पुजारियों, मौलवियों और ग्रंथियों के साथ बातचीत के दौरान रावत ने उनसे क्षेत्र में शांति बनाए रखने की ओर काम करने का आह्वान किया और उनकी जरूरतों को पूरा करने में सहयोग देने का वादा किया। 

जनरल रावत ने कहा कि धार्मिक गुरुओं को बताना चाहिए कि उन्हें अपने क्षेत्र के विकास के लिए किस चीज की आवश्यकता है ताकि इसे केंद्र के पास भेजा जा सके। सेना प्रमुख ने कहा कि अब जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश है तो उनके द्वारा सुझाये काम की निगरानी करना आसान होगा। 

उन्होंने बताया कि यह समूह दर्शाता है कि जम्मू कश्मीर में अलग-अलग धर्म के लोग कैसे सौहार्द्रता के साथ रहते हैं। इस समूह में 15 मौलवी, चार पंडित और दो ग्रंथी शामिल थे जिन्होंने रोजगार तथा पर्यटन को प्राथमिकता देने की मांग की। जनरल रावत ने कहा कि सशस्त्र सेनाओं में युवाओं की भर्ती के लिए क्षेत्र में रोजगार रैली आयोजित करने जैसे कदम उठाए जाएंगे। यह समूह ‘ऑपरेशन सद्भावना’ के तौर पर उत्तर भारत की यात्रा पर है।