भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता एवं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रॉबर्ट वाड्रा के कांग्रेस के चुनाव प्रचार अभियान में भाग लेने की घोषणा पर चुटकी लेते हुए रविवार को कहा कि उन्हें समझना चाहिए कि इससे कांग्रेस को अधिक लाभ होगा या भाजपा को।

जेटली ने पार्टी के प्रचार अभियान की शुरुआत के मौके पर संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा, ‘‘मैं नहीं जानता कि यह कांग्रेस पार्टी के प्रचार के लिए फायदेमंद होगा या भाजपा के प्रचार अभियान के लिए।’’ इससे पहले दिन में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति रॉबर्ट वाड्रा ने कहा था कि वह लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस पार्टी के लिए प्रचार करेंगे।

Robert Vadra

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ के विशेष कार्य अधिकारी के यहां आयकर के छापे को कांग्रेस द्वारा राजनीतिक प्रतिशोध की कार्रवाई बताये जाने पर जेटली ने कहा कि आदर्श आचार संहिता के लागू होने के बाद चुनावों में अनैतिक आचरण रोकने के लिए आयकर विभाग चुनाव आयोग के साथ मिलकर काम करता है और उसके अधिकारी सरकार को रिपोर्ट नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा कि मगर यह बात सच है कि जहां-जहां भी कांग्रेस की सरकार है, वहां खूब भ्रष्टाचार होता है। सरकार के भ्रष्टाचार के काले धन को चुनावों में राजनीतिक ढंग से सफेद किया जाता है। भाजपा इसीलिए चुनावी बॉण्ड या चेक पर जोर देती है। उन्होंने कहा कि जो लोग इस कार्रवाई को लेकर आरोप लगा रहे हैं, उन्हें शर्म आनी चाहिए।