BREAKING NEWS

लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य और JNU स्टूडेंट के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को फिर बताया फेल, ट्विटर पर शेयर किया ग्राफ ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,436 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 80 हजार के पार◾लद्दाख तनाव : कल सुबह 9 बजे मालदो में होगी भारत और चीन के बीच ले. जनरल स्तरीय बातचीत ◾पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा : मुंह में गहरे घावों के कारण दो हफ्ते भूखी थी गर्भवती हथिनी, हुई दर्दनाक मौत◾केंद्रीय गृह मंत्रालय की मीडिया विंग में भारी फेरबदल, नितिन वाकणकर नये प्रवक्ता नियुक्त किये गए ◾भाजपा नेता और टिक टोक स्टार सोनाली फोगाट ने हिसार मंडी समिति के सचिव को पीटा , वीडियो वायरल ◾सैन्य बातचीत से पहले बोला चीन-भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध◾PM मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' के ऐलान को कपिल सिब्बल ने बताया 'जुमला'◾दिल्ली के पीतमपुरा में एक मेड से 20 लोगों को हुआ कोरोना, 750 से ज्यादा लोग हुए सेल्फ क्वारंटाइन◾कोरोना संकट पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, नई योजनाओं पर मार्च 2021 तक लगी रोक◾गुजरात में कांग्रेस को तीसरा झटका, एक और विधायक ने दिया इस्तीफा◾दिल्ली मेट्रो में हुई कोरोना की एंट्री, 20 कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि◾'विश्व पर्यावरण दिवस' पर PM मोदी का खास सन्देश, कहा- जैव विविधता को संरक्षित रखने का संकल्प दोहराएं◾उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में ट्रक और स्कॉर्पियो की भीषण टक्कर, 9 लोगों की मौत◾World Corona : दुनिया में पॉजिटिव मामलों की संख्या 66 लाख के पार, अब तक करीब 4 लाख लोगों की मौत ◾कोविड-19 : देश में 10 हजार के करीब नए मरीजों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 27 हजार के करीब ◾Coronavirus : अमेरिका में संक्रमितों का आंकड़ा 19 लाख के करीब, अब तक एक लाख से अधिक लोगों की मौत ◾अदालती आदेश का अनुपालन नहीं करने पर CM केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट में अवमानना याचिका दायर ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बच्चन, सहवाग ने पुलवामा हमले के विरोध में शूटिंग रोकी

पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में महानायक अमिताभ बच्चन की अगली फिल्म और क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, वीवीएस लक्ष्मण, हरभजन सिंह और सुरेश रैना के एक विज्ञापन की शूटिंग रविवार को यहां करीब दो घंटे रोक दी गई। कश्मीर में सीआरपीएफ के एक काफिले पर बृहस्पतिवार को हुए आतंकी हमले में 40 जवानों के शहीद हो जाने के मद्देनजर, 24 फिल्म संगठनों ने गोरेगांव स्थित फिल्मसिटी में विरोध प्रदर्शन किया। इन संगठनों में फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (एफडब्ल्यूआईसीई) और इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन डायरेक्टर्स एसोसिएशन (आईएफटीडीए) शामिल हैं।

सहवाग, सिंह, रैना और वीवीएस लक्ष्मण सहित अन्य लोग फिल्मसिटी में एक विज्ञापन फिल्म की शूटिंग कर रहे थे, लेकिन वे लोग सैनिकों के प्रति अपनी एकजुटता दिखाने के लिए शूटिंग रोक कर विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। सहवाग ने कहा, ‘‘हम जो भी कहें या करें वह सैनिकों और उनके योगदान के लिए शायद कम ही होगा। हम केवल उनका शुक्रिया अदा कर सकते हैं और उनकी मदद करने के लिए जो कुछ कर सकते हैं, हमें करना चाहिए।

हम बहुत दुखी हैं लेकिन भविष्य में हम सभी के लिए एक बेहतर समय की आशा करते हैं।’’ हरभजन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि शहीद हुए जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हरभजन ने कहा, ‘‘यह बड़ी ही मुश्किल घड़ी है लेकिन हमें एकजुट रहना होगा ताकि वे हमें तोड़ने में सक्षम न हो सकें। मैं उन सभी सैनिकों के प्रति आभारी हूं जो हर समय हमारी रक्षा करते हैं। क्रिकेट खिलाड़ी या अभिनेता नायक नहीं हैं। राष्ट्र के असली नायक हमारे सैनिक ही हैं।’’ विरोध प्रदर्शन में प्रमुख फिल्म संगठनों और बड़ी संख्या में छायाकार, मेकअप मेन, वेशभूषा साज सज्जा करने वालों, जूनियर कलाकारों, वीडियो एडिटर, फाइटर और डांसरों ने भाग लिया।

 विरोध प्रदर्शन में कास्टिंग डायरेक्टर एवं फिल्म निर्माता मुकेश छाबरा, अभिनेत्री निया शर्मा, ईशा कोपिकर और अन्य भी मौजूद थे। सूत्रों के मुताबिक, अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ की शूटिंग भी कुछ देर के लिए रोक दी गई। फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (एफडब्ल्यूआईसीई) के अध्यक्ष बीएन तिवारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि सभी फिल्म संगठनों ने हिंदी फिल्मों में काम करने वाले किसी भी पाकिस्तानी कलाकार का ‘‘पूरी तरह से बहिष्कार’’ करने का फैसला किया है।

आईएफटीडीए के अध्यक्ष अशोक पंडित ने भी यही बात कही और कहा कि फिल्म संगठनों ने नवजोत सिंह सिद्धू का बहिष्कार करने का फैसला किया है। गौरतलब है कि सिद्धू ने हमले की निंदा की थी लेकिन साथ में यह भी कहा था कि क्या कुछ लोगों की करतूत के लिए पूरे देश को दोषी ठहराया जा सकता है। सिद्धू के इस विवादित बयान को लेकर विभिन्न तबके के लोगों ने उनकी कड़ी आलोचना की है।