BREAKING NEWS

संसद से पारित तीनों कृषि संबंधी विधेयकों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरी◾IPL 2020 RR vs KXIP : राजस्थान ने जीता टॉस, पंजाब को दिया बल्लेबाजी का न्योता◾फिल्मकार अनुराग कश्यप की गिरफ्तारी में देरी होने पर पायल घोष ने उठाए सवाल ◾बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय जेडीयू में हुए शामिल, कहा- नहीं समझता राजनीति◾विधानसभा चुनाव के लिए बिहार में तैनात होंगे 30,000 जवान, गृह मंत्रालय ने दिए निर्देश◾मतदाताओं को लुभाने की कवायद में जुटे राजनीतिक दल, तेजस्वी ने 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का किया वादा◾पूर्व सैन्य अधिकारी होने के बावजूद एक दक्ष नेता के तौर पर जसवंत ने हमेशा दिखाई राजनीतिक ताकत◾चीन को जवाब देने के लिए भारत पूरी तरह तैयार, लद्दाख में तैनात किए T-90 और T-72 टैंक◾मन की बात : PM मोदी बोले-देश का कृषि क्षेत्र, हमारे किसान, गांव आत्मनिर्भर भारत का आधार◾जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं, मैं उसको NDA नहीं मानता : संजय राउत◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के करीब, पिछले 24 घंटे में 1124 लोगों की मौत◾राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज- काश, कोविड एक्सेस स्ट्रैटेजी ही मन की बात होती◾क्या ड्रग चैट्स का होगा खुलासा, एनसीबी ने दीपिका, सारा और श्रद्धा के फोन किए जब्त ◾पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने शोक व्यक्त किया◾पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती कोरोना से संक्रमित, खुद को किया क्वारनटीन◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामलों का आंकड़ा 3 करोड़ 26 लाख और 9 लाख 90 हजार से अधिक की मौत◾एनआईए ने पश्चिम बंगाल से अल-कायदा के 10वें आतंकवादी समीम अंसारी को किया गिरफ्तार ◾आज का राशिफल (27 सितम्बर 2020)◾महागठबंधन में फूट : कांग्रेस बोली - मिले सम्मानजनक सीट नहीं तो 243 सीटों पर लड़ेंगे◾कृषि विधेयकों के मुद्दे पर अकाली दल ने NDA से तोड़ा 22 साल पुराना गठबंधन◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बैंक अपनी ‘ताकत और कमजोरी’ तौल कर ही कारोबार के विस्तार की सोचें : सीतारमण

चेन्नई : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि बैंकों को अपने कारोबार का विस्तार करने की योजना बनाते समय अपनी ताकत और कमजोरी का समुचित आकलन कर लेना चाहिए। वह यहां तमिलनाडु में स्थापित सिटी यूनियन बैंक के 116वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित कर रही थीं। सीतारमण ने कहा, ‘‘बैंक जैसे संस्थाओं को अपनी केंद्रीय शक्ति को समझना चाहिए और आम लोगों के लाभ के लिए मूल्यवर्धी सेवाएं जैसे कि फोन बैंकिंग और चैट बॉट जैसी सेवाएं शुरू करनी चाहिए। उन्हें अनावश्यक रूप से काम का विस्तार नहीं करना चाहिए।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘कारोबार के पैमाने का विस्तार (बैंक जैसी संस्थाओं के लिए) एक बीमारी जैसा है। एक चलन सा हो गया है कि हर किसी को कारोबार का पैमाना बढ़ाना चाहिए और कल को वह बढ़कर तिगुना हो जाना चाहिए। आज मैं (बैंक) तीन राज्यों में काम करता हूं तो कल हमें छह राज्यों में होना चाहिए। मैं (बैंक) तो पूरे देश में कदम बढ़ाना चाहता हूं। लेकिन बैंकों को यह अंदाज होना चाहिए कि इससे मेरी बुनियाद मजबूत होगी या मैं इससे कमजोर होउंगा।’’ उन्होंने कहा कि बैंक के विस्तार करने के सामर्थ्य को कसौटी पर रखने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक जैसी नियामकीय संस्थाओं की भूमिका भी होती है। 

उल्लेखनीय है कि बैंकों को नयी शाखा खोलने के लिए नियामक से मंजूरी लेनी होती है। उन्होंने कहा कि आजकल देश में ‘बैंक’ शब्द के नाम पर संदेह पैदा होने लगे हैं। ऐसे वातावरण में सिटी यूनियन बैंक पिछले 115 सालों से मजबूती के साथ अपना काम कर रहा है। सीतारमण ने कहा कि बैंकों को यह ध्यान में रखना चाहिए कि उनके कर्मचारी की एक छोटी सी गलती भी भी उनके काम पर सवाल खड़ा कर सकती है, यदि एक सहकारी बैंक में भ्रष्टाचार का कोई आरोप है तो सवाल उठाने लगता है कि क्या बैंक में लोगों का पैसा सुरक्षित है? सिटी यूनियन बैंक की स्थापना 1904 में तमिलनाडु के कुंभकोणम में हुई थी।