BREAKING NEWS

FATF ने पाक को ‘ग्रे सूची’ में कायम रखा, कार्रवाई की चेतावनी दी ◾दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल को कोर्ट ने सुनाई 6 महीने की सजा, मिली जमानत◾महेंद्रगढ़ रैली में राहुल का प्रधानमंत्री पर वार, बोले-मोदी को नहीं है अर्थव्यवस्था की कोई समझ◾मोदी को डर, 'घेराबंदी' हटने पर कश्मीर में होगा खूनखराबा : इमरान खान◾हिसार में बोले PM मोदी-कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा चुनाव में पहले ही मान ली है हार◾लखनऊ में हिंदू महासभा के पूर्व नेता की कमलेश तिवारी की गोली मारकर हत्या◾महाराष्ट्र : शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना, पूछा-70 साल के शासन में जनजातीय समुदाय के लिए क्या किया?◾INX मीडिया मामले में CBI ने पी चिदंबरम के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया◾गोहाना रैली में PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते ही बढ़ जाता है पेट दर्द◾जयाप्रदा का आजम खान पर तंज, बोलीं- उन्हें औरत के आंसुओं की सजा मिल रही है◾दिल्ली की वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में, सप्ताहांत तक भारी गिरावट की उम्मीद ◾PMC बैंक: सुप्रीम कोर्ट का सुनवाई से इनकार, कहा- खटखटा सकते हैं हाई कोर्ट का दरवाजा◾CJI गोगोई ने केंद्र से की जस्टिस बोबडे को अगला प्रधान न्यायाधीश बनाने की सिफारिश◾हरियाणा विधानसभा चुनाव : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का महेंद्रगढ़ दौरा रद्द, राहुल करेंगे रैली को संबोधित◾IMF की ताजा रिपोर्ट पर बोली वित्त मंत्री- भारत सबसे तेजी से विकसित होती अर्थव्यवस्थाओं में शामिल◾भाजपा की तरह कांग्रेस का भी बना हाईटेक कार्यालय, 2020 में होगी शिफ्टिंग ◾मध्य प्रदेश की सियासत में 'हेमा के गाल और चील-कौवे' की एंट्री◾सीतारमण का मनमोहन को जवाब- किसी खास अवधि में कब और क्या गलत हुआ इसे याद करना जरूरी◾कांग्रेस-राकांपा को महाराष्ट्र की जनता सबक देगी : नरेंद्र मोदी◾सोनिया गांधी बोली- कर्नाटक विधानसभा उपचुनाव से पहले नेता सामूहिक नेतृत्व में काम करें◾

देश

2014 से पहले लोगों को लगता था कि क्या बहुदलीय लोकतंत्र विफल हो गया : गृह मंत्री

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि 2014 से पहले भ्रष्टाचार और असुरक्षित सीमाओं की वजह से जनता सोचने लगी थी कि क्या भारत की बहुदलीय लोकतांत्रिक व्यवस्था विफल हो गयी है। 

शाह ने कहा कि कांग्रेस के शासन में देश की हालत ऐसी थी कि आम आदमी सोच नहीं पा रहा था कि देश किस दिशा में जा रहा है और क्या नेतृत्व वाकई देश को इस उथल-पुथल से निकाल पाएगा। 

उन्होंने अखिल भारतीय प्रबंधन संघ (एआईएमए) के एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘आजादी के करीब 70 साल बाद जनता के मन में एक सवाल था कि क्या देश के महापुरुषों का सपना वाकई साकार हुआ है। क्या देश के नागरिकों की आकांक्षाओं को पूरा करने में बहुदलीय लोकतांत्रिक प्रणाली विफल हो गयी है।’’ 

शाह ने कहा, ‘‘अगर आपको याद हो तो 2013 में हर जगह गहरी निराशा का माहौल था। हर मंत्री खुद को प्रधानमंत्री समझने लगा था, वहीं प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री नहीं समझता था।’’ 

शाह ने कहा कि 2014 में मिले ऐतिहासिक जनादेश के साथ 30 साल से चल रहा गठबंधन सरकारों का युग समाप्त हो गया और पहली बार कोई गैर-कांग्रेसी सरकार पूर्ण बहुमत के साथ काबिज हुई। 

गृह मंत्री ने कहा, ‘‘2014 से 2019 तक जनता ने एक निर्णायक सरकार देखी। सामान्य तौर पर 30 साल में पांच बड़े फैसले लिये गये। लेकिन मोदी सरकार के पहले पांच साल में 50 बड़े फैसले लिये गये। जीएसटी, नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, वन रैंक वन पेंशन और अब अनुच्छेद 370 तथा अनुच्छेद 35 ए पर फैसले। ये साहसिक निर्णय रहे।’’