BREAKING NEWS

मायावती ने की नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हो रही हिंसा की उच्चस्तरीय न्यायिक जांच की मांग◾पुलिस कार्रवाई के खिलाफ जामिया के छात्रों ने कपड़े उतारकर किया विरोध प्रदर्शन ◾जामिया विवाद पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, CJI बोले-हिंसा रुकेगी तब होगी मामले की सुनवाई◾जामिया के छात्रों को मिला VC नजमा अख्तर का साथ, बोलीं-अकेले छात्रों की लड़ाई नहीं, मैं हूं उनके साथ◾दिल्ली: जामिया में स्थिति तनावपूर्ण, घर का रुख कर रहे हैं छात्र-छात्राएं◾प्रियंका गांधी बोली- तानाशाह सरकार दबाना चाहती है छात्रों की आवाज, विश्वविद्यालयों में घुसकर छात्रों को पीटा◾Citizenship Amendment Law के विरोध में चल रहे हिंसक प्रदर्शनों के बीच सरिता विहार से कालिंदी कुंज के बीच यातायात बंद◾उन्नाव रेप केस: आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर को सजा होगी या नहीं, फैसला आज◾लालू की बहू ऐश्वर्या ने सास पर मारपीट का लगाया आरोप, बोलीं- राबड़ी देवी ने बाल नोंचे और पीटा◾जामिया में प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिए गए 50 छात्र रिहा : दिल्ली पुलिस ◾झारखंड विधानसभा चुनाव: चौथे चरण के लिए 15 सीटों पर मतदान जारी ◾कैब प्रदर्शनों के बाद सभी मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास द्वार खोले गए: DMRC◾जामिया हिंसा : कुछ नेताओं ने जांच की मांग की, तो कुछ ने प्रदर्शनकारियों को ‘‘अराजकतावादी’’ करार दिया ◾नागरिकता पर प्रदर्शन : जामिया, एएमयू में हिंसक प्रदर्शन, बंगाल में उबाल, असम में स्थिति में सुधार ◾दिल्ली में हिंसा को लेकर भाजपा और आप के बीच आरोप-प्रत्यारोप◾दक्षिणपूर्व दिल्ली के स्कूल सोमवार को बंद रहेंगे : सिसोदिया◾दिल्ली जामिया बवाल : चूक गया दिल्ली पुलिस का खुफिया तंत्र !◾उत्तर भारत में शीत लहर का प्रकोप जारी, उत्तराखंड में बर्फबारी से जुड़ी घटनाओं में तीन की मौत ◾AMU में छात्रों का हंगामा और पथराव: विश्वविद्यालय 5 जनवरी तक के लिए बंद ◾भाजपा सरकार ने पूर्वोत्तर और बंगाल के बाद दिल्ली को भी जलने के लिए छोड़ दिया है : कांग्रेस◾

देश

भोपाल गैंगरेप मामला : मेडिकल रिपोर्ट में लिखा- सहमति से हुआ सब , विवाद बढ़ने पर किया सुधार

 bhopal-rape-case

भोपाल में हुए गैंगरेप के बाद पुलिस और प्रशासन की लापरवाही के बाद अब मेडिकल रिपोर्ट में हुई लापरवाही ने सबको चौंका दिया है। इस रिपोर्ट में महिला डाक्टर ने लिखा है कि 'सबकुछ' सहमति से हुआ है।

आपको बता दे कि सुल्तानिया लेडी अस्पताल में गैंगरेप पीड़िता की मेडिकल जांच हुई थी। अस्पताल ने अपनी रिपोर्ट में लिखा था कि छात्रा ने आरोपियों के साथ आपसी सहमति से यौन संबंध बनाए थे। लेकिन जब मामला सुर्खियों में आ गया तब जाकर अस्पताल प्रशासन ने अपनी रिपोर्ट में सुधार किया।

अस्पताल के डॉ. करन पीपरे के मुताबिक रिपोर्ट एक नए डॉक्टर ने बनाई थी और उसने लिखने में गलती की थी। अब रिपोर्ट में सुधार कर इसे दोबारा जारी किया जा रहा है।

छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म मामले में मेडिकल रिपोर्ट पर अब सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस ने इस मामले में शिवराज सिंह चौहान पर फिर से निशाना साधा है। कांग्रेसी नेताओं का आरोप है कि सरकार आरोपियों को बचाने का प्रयास कर रही है और अब डॉक्टरों पर दबाव बना रही है।

बता दें कि इस चर्चित मामले में शिवराज सरकार की काफी बदनामी हुई थी। काफी मशक्कत के बाद ही पीड़ित छात्रा की एफआईआर दर्ज की गई और खुद पीड़िता को आरोपियों के पकड़ने के लिए सामने आना पड़ा।

मेडिकल रिपोर्ट में गड़बड़ी की बात सामने आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला को इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं और शाम तक कार्रवाई के लिए भी का है।

इस मामले में लापरवाही बरतने वाले बड़े पुलिस अधिकारियों पर पहले ही गाज गिर चुकी है। भोपाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक योगेश चौधरी और रेल एसपी अनीता मालवीय को भी हटा दिया गया है।