BREAKING NEWS

स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय राजधानी में देशभक्ति का जोश◾बिहार में कैबिनेट विस्तार आज, करीब 30 मंत्री होंगे शामिल ◾Bilkis Bano case : उम्रकैद की सजा पाए सभी 11 दोषी गुजरात सरकार की क्षमा नीति के तहत रिहा◾Independence Day 2022 : पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस की बधाई देने वाले वैश्विक नेताओं का किया आभार व्यक्त ◾Independence Day 2022 : सीमा पर तैनात भारत और पाकिस्तान के सैनिकों ने मिठाइयों का किया आदान प्रदान ◾Independence Day 2022 : विश्व नेताओं ने स्वतंत्रता के 75 वर्षों में भारत की उपलब्धियों की सराहना की◾Independence Day 2022 : लाल किले की प्राचीर से पीएम मोदी ने दिया 'जय अनुसंधान' का नारा,नवोन्मेष को मिलेगा बढ़ावा◾स्वतंत्रता दिवस पर गहलोत ने फहराया झंडा! CM ने कहा- देश के स्वर्णिम इतिहास से प्रेरणा ले युवा ◾क्रूर तालिबान का सत्ता में एक साल पूरा : कितना बदला अफगानिस्तान, गरीबी का बढ़ा दायरा ◾नगालैंड : स्वतंत्रता दिवस पर उग्रवादियों के मंसूबे नाकाम, मुठभेड़ में असम राइफल्स के दो जवान घायल◾शशि थरूर के टी जलील की विवादित टिप्पणी पर भड़के, कहा- देश से ‘तत्काल' माफी मांगनी चाहिए◾विपक्ष का मोदी पर तीखा वार, कहा- महिलाओं के प्रति अपनी पार्टी का रवैया देखें प्रधानमंत्री◾स्वतंत्रता दिवस की 76 वी वर्षगांठ पर सीएम ने किया 75 ‘आम आदमी क्लीनिक’ का उद्घाटन ◾Bihar: 76वें स्वतंत्रता दिवस पर बोले नीतीश- कई चुनौतियों के बावजूद बिहार प्रगति के पथ पर अग्रसर ◾मध्यप्रदेश : आपसी झगड़े के बीच बम का धमाका, एक की मौत , 15 घायल◾बेटा ही बना पिता व बहनों की जान का दुश्मन, संपत्ति विवाद के चलते की धारदार हथियार से हत्या ◾स्वतंत्रता दिवस पर मोदी की गूंज! पीएम ने कहा- हर घर तिरंगा’ अभियान को मिली प्रतिक्रिया...... पुनर्जागरण का संकेत◾उधोगपति मुकेश अंबानी के परिवार को जान से मारने की धमकी, जांच शुरू◾स्वतंत्रता दिवस पर बोले केजरीवाल- 130 करोड़ लोगों को मिलकर नए भारत की नीव रखनी है, मुफ्तखोरी को लेकर कही यह बात ◾Independence Day 2022 : देश में सहकारी प्रतिस्पर्धी संघवाद की जरूरत : पीएम मोदी ◾

बीजेपी स्थापना दिवस : PM मोदी बोले-भेदभाव और भ्रष्टाचार वोटबैंक की राजनीति के साइड इफैक्ट

देश की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बीजेपी का आज 42 वां स्थापना दिवस है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उच्च स्तर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। संबोधन में प्रधानमंत्री ने परिवारवाद को लेकर तीखा हमला बोला। प्रधानमंत्री मोदी से पहले बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

आज देश के पास नीतियां भी और नियत भी

वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से हुए संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, ‘‘हमारी सरकार राष्ट्रीय हितों को सर्वोपरि रखते हुए काम कर रही है। आज देश के पास नीतियां भी हैं, नियत भी है। आज देश के पास निर्णयशक्ति भी है और निश्चयशक्ति भी है।’’ उन्होंने कहा कि इसलिए आज देश जो लक्ष्य तय कर रहा है, उन्हें पूरा भी कर रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज पूरी दुनिया देख रही है कि कोरोना काल के मुश्किल दौर में भी भारत अपने 80 करोड़ गरीबों व वंचितों को मुफ्त राशन दे रहा है। उन्होंने कहा कि अपने नागरिकों का जीवन आसान बनाना बीजेपी सरकारों और डबल इंजन की सरकारों की प्राथमिकता रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘गरीबों को पक्के घर से लेकर शौचालय के निर्माण तक, आयुष्मान भारत योजना से लेकर उज्ज्वला योजना तक, हर घर नल से जल से लेकर हर गरीब को बैंक खाते तक, ऐसे कितने ही काम हुए हैं जिनकी चर्चा अगर मैं करना शुरू करो तो शायद कई घंटे निकल जाएं। सबका साथ, सबका विकास के मंत्र के साथ हम सबका विश्वास प्राप्त कर रहे हैं।’’

राज्यसभा में 100 सांसदों वाली, तीन दशकों में पहली पार्टी बनी BJP 

प्रधानमंत्री ने कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी और कच्छ से कोहिमा तक बीजेपी ‘‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’’ के संकल्प को निरंतर सशक्त कर रही है। पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी का स्थापना दिवस ऐसे समय पर आया है, जब पार्टी ने चार राज्यों में अपनी सत्ता बरकरार रखी और राज्यसभा में 100 सांसदों वाली, तीन दशकों में पहली पार्टी बनी। जब आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। तेजी से बदलती वैश्विक परिस्थितियां, जिसमें भारत के लिए लगातार नई संभावनाएं बन रही हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि देश में अभी दो तरह की राजनीति चल रही है। एक है परिवार भक्ति, दूसरी है देश भक्ति। देश में कुछ राजनीतिक दल हैं जो अपने परिवारवालों के लिए काम कर रहे हैं। बीजेपी ने ही परिवारवाद के खिलाफ बोलना शुरू किया और इसे चुनावी मुद्दा बनाया लोगों को समझ आ गया है कि परिवारवादी सरकारों लोकतंत्र की दुश्मन हैं और संविधान को कुछ नहीं समझती।

उन्होंने कहा कि दशकों तक कुछ दलों ने वोटबैंक की राजनीति की। कुछ लोगों को ही वादा करो। ज्यादातर लोगों को तरसाकर रखो। भेदभाव, भ्रष्टाचार सब वोटबैंक की राजनीति के साइड इफैक्ट थे। बीजेपी ने इस राजनीति को टक्कर दी है। देशवासियों को इसके नुकसान बताने में सफल रही है।

6 अप्रैल 1980 में स्थित्व में आई थी BJP

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बीजेपी मुख्यालय पर ध्वजारोहण किया और पार्टी के विचारक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उन्होंने पार्टी मुख्यालय में एक रक्तदान शिविर का भी उद्घाटन किया। बीजेपी की स्थापना 1980 में आज ही के दिन हुई थी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी द्वारा 1951 में स्थापित भारतीय जन संघ से इस नई पार्टी का जन्म हुआ। वर्ष 1977 में आपातकाल की घोषणा के बाद जनसंघ तथा कई अन्य दलों का विलय हुआ और जनता पार्टी का उदय हुआ। पार्टी ने 1977 के आम चुनाव में कांग्रेस से सत्ता छीनी थी और 1980 में जनता पार्टी को भंग कर भारतीय जनता पार्टी की नींव रखी गई थी।