BREAKING NEWS

बिहार में लू का कहर जारी, औरंगाबाद और गया समेत 3 जिले में 56 लोगों की मौत◾महाराष्ट्र कैबिनेट में कांग्रेस के पूर्व नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने राज्यमंत्री के तौर पर ली शपथ◾मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से 84 बच्चों की मौत, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने की मरीजों मुलाकात ◾अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे ने पार्टी सांसदों के साथ किए रामलला के दर्शन◾दिल्ली में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश की संभावना◾अमरिंदर सिंह ने जल वितरण व्यवस्था में सुधार के लिए PM मोदी का मांगा सहयोग ◾अयोध्या पहुंचे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, 18 सांसदों के साथ करेंगे रामलला के दर्शन◾आज फिर घटे डीजल और पेट्रोल के दाम, जाने अपने राज्य का भाव !◾ICC World Cup 2019 : भारत-पाक मैच को लेकर सट्टा बाजार 100 करोड़ के पार ◾नीति आयोग की बैठक में केजरीवाल ने उठाया दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का मुद्दा ◾ममता की अपील के बावजूद डॉक्टरों की हड़ताल जारी◾अखाड़ा परिषद ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने की फिर से की मांग◾राज्यसभा की 6 सीटों के लिये 5 जुलाई को होगा उपचुनाव ◾Modi सरकार कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधार के लिए गठित करेगी उच्च स्तरीय कार्यबल◾सिख श्रद्धालुओं का पाक दौरा : रेलवे ने कहा, अटारी में पाकिस्तानी ट्रेन के लिये इजाजत नहीं ◾ममता ने फिर की बंगाल के डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने की अपील ◾भाजपा ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- योगी से शासन की सीख लें◾TOP 20 News -15 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम से अब तक 83 बच्चें की मौत ◾ममता, चंद्रशेखर राव और अमरिंदर सिंह नहीं लेंगे नीति आयोग की बैठक में हिस्सा ◾

देश

भाजपा बंगाल में सांप्रदायिक जहर फैलाकर जीती : ममता


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने शनिवार को भाजपा पर राज्य में 'सांप्रदायिक जहर' फैलाकर चुनाव जीतने और निर्वाचन आयोग पर भगवा पार्टी के हित में काम करने का आरोप लगाया। 

उन्होंने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा, 'मैं जरूर कहूंगी, युद्ध और प्यार में कुछ भी नाजायज नहीं है। भाजपा ने जो किया, वह अपना हित साधने के लिए किया। इसलिए मैं सराहना करती हूं कि उन्होंने सांप्रदायिक जहर फैलाकर जीत हासिल की।'

पार्टी की आपात बैठक के बाद ममता ने कहा, 'विजेता हमेशा विजेता होते हैं। वे अपनी राजनीति में सफल रहे। हम अपनी राजनीति में सफल नहीं रहे।.. आखिरकार, लोकतंत्र में लोग इन परिणामों पर विश्वास कर लेंगे।'

बैठक चुनाव परिणामों में भाजपा के स्तब्ध कर देने वाले प्रदर्शन के दो दिन बाद बुलाई गई। भाजपा को राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 18 पर जीत हासिल हुई है, जबकि पांच साल पहले इसे मात्र दो सीटें मिली थीं। 

सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को पिछले चुनाव में 34 सीटें मिली थीं, जबकि इस बार मात्र 22 सीटों से संतोष करना पड़ा। 

ममता ने निर्वाचन आयोग पर बिफरते हुए कहा, 'इसने पूरी तरह उनके (भाजपा) हित में काम किया। हमारी किसी शिकायत को न्याय नहीं मिला।' उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग ने लगभग पांच महीने पहले जनवरी में प्रशासन संभाला। 

ममता ने कहा, 'पांच महीने से हमें काम नहीं करने दिया गया। मैंने उन सभी अफसरों से कहा जो अब आयोग के अधीन हैं। मुझे नहीं लगता कि यह परिदृश्य भारत में कहीं भी बना होगा, मगर बंगाल में सचमुच ऐसा हुआ। यहां इमरजेंसी जैसे हालात पैदा किए गए। बंगाल को निशाना बनाया गया।'
 
उन्होंने कहा, 'इस चुनाव में ये सब सिर्फ मेरे कारण किया गया। लोगों की दुआ से, सबकुछ के बावजूद हमारे वोट चार फीसदी बढ़े। सीटें घटीं, लेकिन मत प्रतिशत बढ़ा।'