BREAKING NEWS

मोदी ने जेटली को दी श्रद्धांजलि, सत्ता में आने के बाद गरीबों का कल्याण किया : प्रधानमंत्री मोदी◾जेटली के आवास पर तीन घंटे से अधिक समय तक रुके रहे अमित शाह ◾भाजपा को हर कठिनाई से उबारने वाले शख्स थे अरुण जेटली◾राहुल और अन्य विपक्षी नेता श्रीनगर हवाईअड्डे पर रोके गये, सभी को भेजा वापिस ◾अरूण जेटली का पार्थिव शरीर उनके आवास पर लाया गया, भाजपा और विपक्षी नेताओं ने दी श्रद्धांजलि ◾वरिष्ठ नेता अरुण जेटली के निधन पर प्रधानमंत्री ने कहा : मैंने मूल्यवान मित्र खो दिया ◾क्रिेकेटरों ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरूण जेटली के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली का निधन : राजनीतिक खेमे में दुख की लहर◾प्रधानमंत्री मोदी द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के लिए UAE पहुंचे ◾बिहार के विवादास्पद विधायक अनंत सिंह ने दिल्ली की अदालत में आत्मसमर्पण किया ◾सत्य और न्याय की स्थापना के लिए हुआ श्रीकृष्ण का अवतार : योगी◾अर्थव्यवस्था की रफ्तार बढ़ाने के लिए कई उपायों की घोषणा, एफपीआई पर ऊंचा कर अधिभार वापस ◾आईएनएक्स मीडिया मामला : चिदम्बरम ने उच्चतम न्यायालय में नयी अर्जी लगायी ◾विपक्ष के 9 नेताओं के साथ राहुल गांधी कल करेंगे कश्मीर का दौरा ◾TOP 20 NEWS 23 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अर्थव्यवस्था की बिगड़ी हालत पर निर्मला सीतारमण बोली- भारत की आर्थिक स्थिति बेहतर◾सरकार के आर्थिक सलाहकारों ने भी माना कि संकट में है अर्थव्यवस्था : राहुल गांधी◾पेरिस में PM मोदी का संबोधन, बोले-हिंदुस्तान में अब टेंपरेरी के लिए व्यवस्था नहीं◾ईडी मामले में चिदंबरम को मिली राहत, 26 अगस्त तक नहीं होगी गिरफ्तारी◾एफएटीएफ के एशिया प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को काली सूची में डाला◾

देश

भाजपा को उसी का अहंकार खा रहा है : राष्ट्रीय उपाध्यक्ष

पटना : राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि भाजपा को उसका अहंकार भी खा रहा है। रांची के जेल और अस्पताल में झारखंड सरकार ने लालू जी के साथ जैसा व्यवहार किया उसको सब लोगों ने देखा। अभी इलाज के लिए लालू जी दिल्ली गए। लेकिन अनुरोध के बावजूद झारखंड सरकार ने हवाई जहाज़ से दिल्ली जाने की इजाजत उन्हें नहीं दी।

श्री तिवारी ने बताया कि इस प्रकरण ने मुझे 1990 का स्मरण करा दिया। तब लालू जी मुख्यमंत्री थे। सोमनाथ से अयोध्या के लिए रामरथ पर सवार होकर आडवाणी जी निकल चुके थे। उस रथ यात्रा ने देश भर में सांप्रदायिक उन्माद पैदा कर दिया था। जगह-जगह दंगा भड़क गया था। रथयात्रा को बिहार से ही होकर अयोध्या जाना था।

सब जानते थे कि आडवाणी जी के अयोध्या पहुंचने की इजाज़त देने का मतलब है कि वहां नरसंहार की इजाज़त देना। लालू जी ने तय कर लिया था आडवाणी को अयोध्या नहीं पहुंचने देंगे। समस्तीपुर में आडवाणी जी की गिरफ़्तारी हुई। उनके साथ अशोक सिंघल भी गिरफ़्तार हुए।

गिरफ्तारी के बाद आडवाणी जी को मसानजोर स्थित सरकार की डाकबंगला में हेलीकाप्टर से पहुंचाया। रसोइयाए डाक्टर और अन्य सेवादार वहां नियुक्त किए गए। लगभग रोज़ाना फोन पर लालू जी आडवाणी जी का हाल-चाल लेते रहे। इसके कुछ ही दिन बाद आडवाणी जी की पत्नी, बेटी आदि परिवार के सदस्य उनसे मिलने के लिए पटना आए और सड़क के रास्ते मसानजोर जा रहे थे।

लालू जी को जैसे जानकारी मिली उन्होने बिहार सरकार के हेलीकाप्टर से उनलोगों को मसानजोर भेजवाया। उन्होंनेन बताया कि आज झारखंड में आडवाणी जी के चेलों की सरकार है। लेकिन बीमार लालू को उनलोगों ने बेहतर इलाज के लिए हवाईजहाज़ से दिल्ली नहीं जाने दिया। सारे झंझावातों के बावजूद लालू यादव का मजबूती के साथ राजनीति और समाज में टीके रहने का एक रहस्य उनका मानवीय व्यवहार भी है। उनके विरोधियों को और विशेष रूप से नीतीश कुमार को इस मामले में लालू जी से सीख लेनी चाहिए।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।