BREAKING NEWS

किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र, शंभू बॉर्डर पर भीड़ ने उखाड़ फेंके बैरिकेड, पुलिस पर पथराव◾26/11 हमले की 12वीं बरसी, आज के ही दिन 10 आतंकियों ने मुंबई में खेला था खूनी खेल◾देश में बीते 24 घंटो के दौरान 44,489 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों का आंकड़ा 92 लाख 66 हजार से अधिक ◾लालू यादव से संबंधित सुशील मोदी के ट्वीट को ट्विटर ने किया डिलीट ◾TOP 5 NEWS 26 NOVEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾ चक्रवाती तूफान ‘निवार’ पुडुचेरी के तट के पास से गुजरा, कमजोर होकर भीषण चक्रवात में हुआ तब्दील ◾विश्वभर में कोरोना महामारी का प्रकोप जारी, मरीजों का आंकड़ा 6 करोड़ के पार ◾कैलाश विजयवर्गीय बोले- भाजपा के मंच पर ‘सिराज और जय श्री राम’ साथ में होते है ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च को विफल करने के लिए हरियाणा ने पंजाब के साथ लगी सीमा सील की ◾आज का राशिफल ( 26 नवंबर 2020 )◾‘निवार’ चक्रवात के समुद्र तट पर दस्तक देने की प्रक्रिया शुरू हुई : मौसम विभाग◾पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए PM मोदी ने कहा : देश ने अपनी क्षमताओं का इस्तेमाल नहीं किया ◾सौरव गांगुली समेत भारतीय खेलप्रेमियों ने दी माराडोना को श्रृद्धांजलि ◾राहुल ने डिएगो के निधन पर जताया शोक, कहा - 'जादूगर' माराडोना ने हमें दिखाया कि फुटबॉल क्यों खूबसूरत खेल है◾फुटबॉल के एक युग का अंत, नहीं रहे डिएगो माराडोना ◾यूपी की राह पर शिवराज सरकार - ‘लव जिहाद’ के दोषी को होगी 10 साल की सजा, लाएंगे विधेयक◾यूपी में योगी सरकार ने एस्मा लागू किया, अगले 6 माह तक नहीं होगी हड़ताल ◾लखनऊ विश्वविद्यालय : सामर्थ्य के इस्तेमाल का बेहतर उदाहरण है रायबरेली का रेल कोच फैक्ट्री- PM मोदी◾असंतुष्ट नेताओं से ममता बनर्जी की अपील : पार्टी को गलत मत समझिए, हम गलतियों को सुधारेंगे◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

समान उत्तराधिकार एवं विरासत कानून को लेकर BJP नेता ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

समान उत्तराधिकार एवं विरासत कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी नेता द्वारा एक जनहित याचिका दाखिल की गई है। बीजेपी नेता अश्विनी कुमार उपाध्याय द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि महिलाओं के लिए न्याय, समानता और गरिमा सुनिश्चित करने के वास्ते उत्तराधिकार एवं विरासत कानूनों का लिंग और धर्म के लिहाज से तटस्थ होना जरूरी है।

याचिका में आरोप लगाया गया कि केंद्र सरकार ने इस संदर्भ में अब तक कोई कदम नहीं उठाया है। अधिवक्ता अश्विनी कुमार दुबे के जरिए दायर याचिका में विधि आयोग को यह निर्देश देने का अनुरोध किया गया है कि वह उत्तराधिकार और विरासत के संबंध में विकसित देशों के कानूनों और अंतरराष्ट्रीय संधियों का अध्ययन करे तथा तीन महीने के अंदर सभी नागरिकों के लिए ‘उत्तराधिकार एवं विरासत के समान आधार’ पर एक रिपोर्ट तैयार करे।

राज्यसभा में कृषि बिल पास होने से नाराज विपक्ष उपसभापति के खिलाफ लाया अविश्वास प्रस्ताव

याचिका में कहा गया है, “नागरिकों पर पड़ने वाली चोट काफी व्यापक है क्योंकि उत्तराधिकार और विरासत से संबंधित लिंग आधारित और धर्म आधारित व्यक्तिगत कानून न सिर्फ अनुच्छेद 14-15 के तहत प्रदत्त लैंगिक न्याय और लैंगिंग समानता की संवैधानिक प्रकृति के खिलाफ हैं, बल्कि महिलाओं की गरिमा के भी खिलाफ हैं जो संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत प्रदत्त जीवन एवं स्वतंत्रता के अधिकार का महत्वपूर्ण तत्व है।”