BREAKING NEWS

राजस्थान : विधायक दल की बैठक के बाद कांग्रेस ने कहा- सभी विधायकों ने भाजपा का षड्यंत्र विफल करने का लिया संकल्प ◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, संक्रमितों का आंकड़ा 5.60 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 11,813 नए केस◾आंध्र प्रदेश में कोरोना का प्रकोप जारी, 24 घंटों में 82 लोगों की मौत, 9996 नए मामले◾राजस्थान: विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत बोले- कांग्रेस खुद लाएगी विश्वास प्रस्ताव ◾कोविड-19 : राहुल का PM मोदी पर वार, कहा- कोरोना की यह ‘संभली हुई स्थिति’ है तो ‘बिगड़ी स्थिति’ किसे कहेंगे ◾कोविड-19 : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में मृत्यु दर घटकर 1.96 % हुई, कुल 27 प्रतिशत लोग ही संक्रमित◾राजस्थान : CM आवास पर शुरू हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक, गहलोत से मिले पायलट◾राजस्थान की गहलोत सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी BJP◾उत्तर प्रदेश में कोरोना के 4 हजार 603 नए मामले की पुष्टि, 50 लोगों की मौत◾रक्षा उत्पादन में घरेलू उद्योगों को पांच वर्षों में चार लाख करोड़ रूपये के दिए जायेंगे आर्डर: राजनाथ◾फेसलेस जांच और अपील से करदाताओं की शिकायतों का बोझ कम होगा, निष्पक्षता बढ़ेगी : सीतारमण ◾PM मोदी ने लांच किया 'ट्रांसपेरेंट टैक्सेशन ऑनरिंग द ऑनेस्ट', देशवासियों से की आगे बढ़कर कर भुगतान की अपील ◾श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास कोरोना वायरस से संक्रमित◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 66,999 नए केस, मृतकों का आंकड़ा 47 हजार पार◾प्राइवेट ट्रेन चलाने के लिए इन 23 कंपनियों ने दिखाई दिलचस्पी, जानें क्या है रेलवे की डिमांड ◾कोविड 19 - दुनियाभर में वायरस संक्रमण से मौतें 7.47 लाख और मामले 2 करोड़ से अधिक◾प्रवर्तन निदेशालय ने सुशांत सिंह राजपूत के बॉडीगॉर्ड को भेजा समन, पूछताछ के लिए बुलाया ◾दिल्ली - एनसीआर में रातभर हुई मूसलाधार बारिश से जगह - जगह जलभराव, आज दिन भर का अलर्ट◾कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी के निधन पर प्रियंका ने जताया दुख, राहुल बोले : पार्टी ने ‘बब्बर शेर’ खो दिया◾कोरोना वायरस के कारण फीका-फीका रहा ब्रज में कृष्ण जन्मोत्सव, भक्तों ने ऑनलाइन किये दर्शन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

‘रेप इन इंडिया’ टिप्पणी को लेकर भाजपा . कांग्रेस के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर

‘रेप इन इंडिया’ वाली राहुल गांधी की टिप्पणी को लेकर भाजपा ने शुक्रवार को संसद के अंदर और बाहर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर जोरदार प्रहार किया और उनसे माफी मांगने की मांग की। 

हालांकि, राहुल ने ऐसा करने से इनकार कर दिया और पूर्ववर्ती संप्रग सरकार के तहत दिल्ली को ‘रेप कैपिटल’ कहने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को माफी मांगने को कहा। राहुल ने झारखंड की एक चुनावी सभा में यह टिप्पणी की थी। 

भाजपा ने राज्यसभा और लोकसभा में इस मुद्दे को लेकर कार्यवाही बाधित की। निचले सदन में पार्टी की महिला सांसदों के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया। वे राहुल पर प्रहार करने के लिए अध्यक्ष के आसन के नजदीक खड़ी हो गईं, जिसके चलते सदन का कामकाज प्रभावित हुआ और अध्यक्ष ओम बिरला को शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन कार्यवाही दो बार स्थगित करने के लिए मजबूर होना पड़ा। 

भाजपा के हमलों के बीच राहुल ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘जहां तक माफी की बात है तो मैं कभी इनसे माफी मांगने वाला नहीं हूं।’’ 

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि उनके फोन में नरेंद्र मोदी की एक वीडियो क्लिप है जिसमें वह (मोदी) दिल्ली को ‘रेप कैपिटल’ कहते नजर आ रहे हैं, जिसे वह पूरे देश को देखने के लिए ट्विटर पर पोस्ट कर रहे हैं और मोदी से माफी मांगने की मांग करते हैं। 

बाद में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने चुनाव आयोग को एक याचिका देकर राहुल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की अपील की। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री मोदी से अपना बदला लेने के लिए बलात्कार की घटनाओं का इस्तेमाल ‘राजनीतिक औजार’ के रूप में किया। 

उन्होंने इससे पहले लोकसभा में भाजपा की अन्य महिला सांसदों का नेतृत्व करते हुए राहुल पर प्रहार किया। 

भाजपा के जोरदार हमले का जवाब देते हुए कांग्रेस ने आरोप लगाया कि नागरिकता (संशोधन) कानून से लोगों को ध्यान भटकाने के लिए ही यह मुद्दा उठाया जा रहा है। 

कांग्रेस नेता ने झारखंड में दिए अपने भाषण का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘ मैं स्पष्ट कर दूं कि मैंने क्या बोला। नरेंद्र मोदी ने कहा था कि ‘मेक इन इंडिया’ होगा। हमने सोचा कि अखबारों में ‘मेक इन इंडिया’ दिखाई देगा, लेकिन आज जब हम अखबार खोलते हैं तो हमें सब जगह ‘रेप इन इंडिया’ दिखाई देता है। भाजपा शासित एक भी राज्य नहीं है जहां दिनभर महिलाओं पर अत्याचार नहीं होते।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘उन्नाव में भाजपा के एक विधायक ने एक महिला से बलात्कार किया और पीड़िता की कार की दुर्घटना भी करा दी लेकिन नरेंद्र मोदी ने ना तो एक शब्द बोला ना ही कोई कार्रवाई की।’’ 

राहुल ने आरोप लगाया, ‘‘नरेन्द्र मोदी जी हिंसा का प्रयोग करते है, हिंसा फैलाते हैं और आज पूरे देश में हिंसा है। महिलाओं पर हिंसा हो रही है। उत्तर पूर्व राज्यों में हिंसा हो रही है। कश्मीर में हिंसा हो रही है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘मुख्य मुद्दा आज यह है कि भाजपा ने और मोदी तथा गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्वोत्तर को जलाया है तथा बलात्कार संबंधी उनकी (राहुल की) टिप्पणी का मुद्दा उठा कर ध्यान भटकाने की यह एक तरकीब है।’’ 

राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘मोदी को माफी मांगनी चाहिए। पूर्वोत्तर को जलाने के लिए.... और भारत की अर्थव्यवस्था को तबाह करने के लिए। मैं एक क्लिप अटैच कर रहा हूं।’’ 

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी को यह जवाब भी देना चाहिए कि उन्होंने हिन्दुस्तान की ‘‘अर्थव्यवस्था को क्यों नष्ट कर दिया? युवाओं के रोजगार क्यों छीन लिए?’’ 

राहुल ने कहा कि भारत की सबसे बड़ी मजबूती उसकी अर्थव्यवस्था है और दावा किया कि रघुराम राजन (आरबीआई के पूर्व गवर्नर) ने एक मुलाकात के दौरान उनसे कहा था कि अमेरिका या यूरोप में आगे चलकर कोई भी व्यक्ति भारत या भारतीय अर्थव्यवस्था के बारे में बातें नहीं करेगा। 

‘रेप इन इंडिया’ संबंधी राहुल की टिप्पणी को लेकर केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा के अन्य नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की। 

सिंह ने कहा कि उनके जैसे नेता को संसद में होने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। 

स्मृति ईरानी ने गांधी पर आरोप लगाया कि वह झारखंड में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बलात्कार का इस्तेमाल एक ‘‘राजनीतिक अस्त्र’’ के तौर पर कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग के अधिकारियों ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया है कि वे कानूनी प्रक्रिया का पालन कर न्याय करेंगे। उन्होंने आयोग को एक ज्ञापन भी सौंपा। 

लोकसभा में हंगामे के बीच द्रमुक की सांसद कनीमोई ने राहुल का बचाव किया। 

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि राहुल ने घोर आपत्तिजनक बयान दिया है। इसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। 

उन्होंने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सुले और द्रमुक की कनिमोई से सवाल किया कि राहुल गांधी के बयान के बारे में उनकी क्या राय है? 

कनिमोई ने कहा कि जिस बयान का हवाला दिया गया है वो सदन से बाहर का है। राहुल गांधी ने जो कहा है उसका मतलब है कि देश में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। 

इस पर आपत्ति जताते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि महिलाओं के मामले में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सोचना चाहिए, लेकिन द्रमुक नेता ने ऐसा नहीं किया। 

जोशी ने उनके जवाब को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। 

इस बीच, कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक भाषण का संक्षिप्त वीडियो शेयर करते हुए ट्वीट किया कि मोदी को माफी मांगनी चाहिए। 

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि राहुल गांधी ने ‘‘बहुत ही सामान्य सा बयान’’ दिया है और उसके लिए उनके माफी मांगने का कोई सवाल ही नहीं उठता। 

जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल समेत कुछ अन्य मंत्रियों और भाजपा सांसदों संजय जायसवाल तथा लॉकेट चटर्जी समेत अन्य पार्टी सदस्यों ने भी राहुल गांधी से माफी की मांग की। 

भाजपा सदस्यों ने ‘राहुल गांधी माफी मांगो’ के नारे लगाए। निर्मला सीतारमण और नितिन गडकरी सहित अन्य केंद्रीय मंत्रियों ने भी राहुल की आलोचना की।