BREAKING NEWS

कोरोना वायरस से अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 121,000 के पार हुई, अबतक 2000 अधिक से लोगों की मौत ◾कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾

BJP ने PM मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन की सराहना की, विपक्षी पार्टी के नेताओं ने भी दिया समर्थन

भाजपा ने गुरुवार को कोरोना वायरस महामारी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन की सराहना करते हुए कहा कि मोदी ने दूरदर्शी नेता के तौर पर संबोधित किया और कई ‘प्रेरणादायक’ सुझाव दिए। कांग्रेस के कई नेताओं ने भी प्रधानमंत्री की अपील का समर्थन किया। 

भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा ने कहा कि पार्टी के करोड़ो कार्यकर्ता ‘जनता कर्फ्यू’ समेत मोदी के सुझावों को लागू करने में मदद करेंगे, जबकि केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रधानमंत्री की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने देश के दूरदर्शी नेता के तौर पर संबोधित किया । साथ ही नड्डा ने विश्वास जताया कि लोग उनकी अपीलों को मानेंगे। 

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि वह प्रधानमंत्री का समर्थन करने के लिए ‘ कर्तव्यबद्घ हैं। 

उन्होंने कहा, “ मैं प्रधानमंत्री का समर्थन करने के लिए कर्तव्यबद्घ हूं। वास्तव में, प्रधानमंत्री ने लोगों से नैतिक हथियार के साथ कोविड-19 के खिलाफ युद्ध छेड़ने को कहा है। हम रविवार और बाद के दिनों में ऐसा करेंगे।” 

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मोदी ने महामारी से लड़ने के लिए जो सुझाव दिए हैं, वे, ‘प्रेरणादायक और जरूरी’ हैं । शाह ने लोगों से उनका पालन करने को कहा। 

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि मोदी का संबोधन गंभीरता और एक तरह से सरकार की ‘लाचारी’, दोनों को रेखांकित करता है। 

उन्होंने ट्वीट किया, “ कोई दवाई नहीं होने की वजह से मौजूदा स्थिति को देखते हुए इसे समझा जा सकता है। निवारक उपायों के अलावा स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे के संबंध में आश्वासन मददगार होता।” 

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने मोदी के संबोधन की आलोचना करते हुए कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उन्होंने ‘अति विज्ञापित’ संबोधन में कोरोना वायरस महामारी से लड़ने में लोगों की मदद के लिए सरकारी तैयारियों और कदमों के बारे में कुछ नहीं कहा। 

येचुरी ने कहा कि इस 'जनता कर्फ्यू' के बावजूद, एनपीआर के लिए घर-घर जाकर जानकारी ली जाएगी, जिसके सरकार ने एनआरसी से जुड़े अपने हलफनामे में यह कहा है। आगे बढ़ें? इस पर प्रधानमंत्री क्यों थे? 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने सभी स्वयंसेवकों से जनता कर्फ्यू में अपना योगदान देने के लिए तैयार रहने को कहा है। 

आरएसएस के सरकार्यवाह सुरेश भय्याजी जोशी ने कहा, 'कोरोना वायरस की चुनौती का सामना करने के लिए प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम जो आह्वान किया है, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इन सभी प्रयासों का समर्थन करता है। संकल्प और संयम इस मंत्र को लेकर 22 मार्च के जनता कर्फ्यू सहित केंद्रीय एवं राज्य सरकारों के सभी प्रयासों की सफलता के लिए सभी स्वयंसेवक अपने परिवार की मानसिकता तैयार कर समाज जागरण में भूमिका सुनिश्चित कर इस चुनौती का सामना करने में अपना योगदान देंगे।'