BREAKING NEWS

विदेश सचिव श्रृंगला ने अफगानिस्तान मामलों के यूरोपीय संघ के विशेष दूत से मुलाकात की◾ममता के बयान पर वेणुगोपाल का पलटवार, बोले- यह महज एक सपना है..कि कांग्रेस के बिना BJP को हरा सकते है◾मुंबई हवाई अड्डे पर पहुंचने वाले घरेलू यात्रियों को RTPCR की निगेटिव रिपोर्ट लेकर आना अनिवार्य : BMC ◾PM मोदी के कुशल नेतृत्व के चलते भारत आज वैश्विक अर्थव्यवस्था में एक ‘‘ब्राइट स्पॉट’’ के रूप में उभर रहा है: BJP◾पंजाब इलेक्शन से पहले SAD को लगा झटका, मनजिंदर सिंह सिरसा ने थामा BJP का कमल◾केजरीवाल के पेट्रोल की कीमतों पर देर से लिए फैसले से दिल्ली वासियों को करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ : मनोज तिवारी◾कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों की सुरक्षा पर केंद्र ने झाड़ा पल्ला, कहा- इसकी जिम्मेदारी राज्य सरकारों की◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जागरूकता मिशन की शुरुआत करेंगे ‘गोल्डन ब्वाय’ नीरज चोपड़ा ◾'ओमिक्रोन' के चलते सरकार ने पीछे खींचे अपने कदम, 15 दिसंबर से शुरू नहीं होंगी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें◾सरकार ने राज्यसभा में बताया- देश में नक्सली हिंसा की घटनाओं में 70 फीसदी की आई कमी ◾किसानों की मौत के 'जीरो' रिकॉर्ड पर भड़की कांग्रेस, खड़गे बोले-यह किसानों का अपमान◾जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं में आई बड़ी गिरावट, सरकार ने राज्यसभा में बताया पिछले एक साल में इतने जवान हुए शहीद ◾UP चुनाव : BJP ने खेला धार्मिक कार्ड, केशव मौर्य का नारा 'अयोध्या-काशी.... जारी, अब मथुरा की तैयारी' ◾अखिलेश का BJP पर कटाक्ष, बोले- जिनके पास परिवार नहीं है, वे जनता का दर्द नहीं समझ सकते ◾दिल्ली में 8 रुपए सस्ता हुआ पेट्रोल, केजरीवाल सरकार ने VAT में कटौती का किया ऐलान◾SKM का दावा '700 से ज्यादा किसानों ने गंवाई जान', तोमर बोले- सरकार के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं...◾4 दिसंबर को होगी SKM की अहम बैठक, रणनीति को लेकर होगी बड़ी घोषणा, टिकैत बोले- आंदोलन रहेगा जारी ◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के नेताओं के विवादित बयान ◾निलंबन के खिलाफ महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विपक्ष का प्रदर्शन, राहुल समेत कई नेता हुए शामिल ◾EWS वर्ग की आय सीमा मापदंड पर केंद्र करेगी पुनर्विचार, SC की फटकार के बाद किया समिति का गठन ◾

राहुल का अर्थ ही है गैर जिम्मेदार, अगर उनके फोन में डाला गया पेगासस हथियार तो क्यों बैठे रहे चुप : BJP

पेगासस केस को लेकर केंद्र और विपक्ष के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ‘‘हमारी आवाज को संसद में दबाया जा रहा है। हमारा सिर्फ यह सवाल है कि क्या भारत सरकार ने पेगासस को खरीदा?...हां या ना। वहीं भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि राहुल ने कहा है कि उनके फोन में पेगासस नाम का हथियार डाल दिया गया है, तो इतने दिन तक चुप क्यों बैठे रहे।

राहुल-सोनिया-प्रियंका को सिर्फ अपने भविष्य की चिंता है

संबित पात्रा ने कहा कि राहुल बोल रहे हैं कि आज विपक्ष एकजुट है, हमने दो साल पहले ऐसा कर्नाटक में देखा था लेकिन उसका क्या हुआ। उन्होंने कहा कि यूपी में भी दो युवा साथ आए थे उसका क्या हुआ, विपक्षी नेता सिर्फ अपने परिवार और भविष्य को लेकर चिंतित हैं।  बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि राहुल-सोनिया-प्रियंका को सिर्फ अपने भविष्य की चिंता है, ऐसा ही अखिलेश यादव और लालू यादव के परिवार के साथ है।

राहुल गांधी और जिम्मेदारी साथ-साथ नहीं चल सकते

राहुल गांधी पर गैर-जिम्मदाराना व्यवहार का आरोप लगाते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि राहुल गांधी और जिम्मेदारी साथ-साथ नहीं चल सकते। उन्होंने कहा, ‘‘राहुल का अर्थ ही गैर जिम्मेदार होना है।’’ उन्होंने कहा कि अगर राहुल गांधी को लगता है कि फोन के माध्यम से उनकी जासूसी हो रही है तो उन्हें तुरंत इसकी शिकायत पुलिस थाने पर करनी चाहिए।विपक्षी एकजुटता के बारे में पात्रा ने कहा कि ‘‘तथाकथित विपक्ष’’ पहले भी एकजुट हो चुका है लेकिन इसका नतीजा देश देख चुका है।

अगर हथियार डाल दिया गया तो इतने दिन तक राहुल गांधी चुप क्यों बैठे रहे

बीजेपी नेता ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान विपक्ष चर्चा की बात कर रहा था, अब जब सदन चल रहा है तो संसद में हंगामा कर रहा है। प्रधानमंत्री ने चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई, उसका भी विपक्ष ने बायकॉट किया। संबित ने कहा कि राहुल गांधी ने कहा है कि उनके फोन में पेगासस नाम का हथियार डाल दिया गया है। अगर हथियार डाल दिया गया तो इतने दिन तक राहुल गांधी चुप क्यों बैठे रहे? इसपर उन्होंने FIR दर्ज़ की क्या? कोई हथियार नहीं है। जो चीज़ नहीं है उसका हथियार बनाकर इन्हें संसद को रोकना है।

केरल में इतने केस बढ़ रहे हैं, इसके पीछे क्या कारण है ये जानना भी बहुत जरूरी है

पात्रा ने आगे कहा कि आज केरल में आखिर हो क्या रहा है? आज केरल में कोरोना के 22,000 केस आये हैं, साथ ही अखबारों में छपा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि मानो ये दूसरी लहर नहीं बल्कि केरल में कोरोना की एक और लहर शुरू हो चुकी है। उन्होंने कहा कि विगत 4 हफ्तों में केरल में कोरोना के केस लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं, केरल में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 12.35% हो गया है। ये अपने आप में बहुत चिंता का विषय है। केरल में इतने केस बढ़ रहे हैं, इसके पीछे क्या कारण है ये जानना भी बहुत जरूरी है।

मगर तुष्टिकरण की राजनीति जीती और सुप्रीम कोर्ट की इन हिदायतों का पालन केरल की सरकार ने किया

उन्होंने कहा कि कावड़ यात्रा के समय उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश सरकार ने लोगों को जान बचाने के लिए महत्वपूर्ण फैसले लिए, सुप्रीम कोर्ट ने जो हिदायत दी उसका भी पालन किया गया। उन्होंने कहा कि बकरीद के समय 3 दिन की जो छूट केरल सरकार ने दी, उस पर सुप्रीम कोर्ट ने भी चिंता जताई और कहा कि कावड़ यात्रा के मामले में हमने जो फैसला दिया है, उन हिदायतों का पालन बकरीद के समय केरल सरकार को भी करना चाहिए। पात्रा ने कहा कि मगर तुष्टिकरण की राजनीति जीती और सुप्रीम कोर्ट की इन हिदायतों का पालन केरल की सरकार ने किया। जिसका नतीजा है आज 22,000 केस आना।

इन सभी की एक ही मंशा है अपने परिवार को बचाने की

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कल राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री  रघु शर्मा ने एक इंडोर स्टेडियम में अपना जन्मदिन मनाया, जिसमें सैंकड़ों लोग शामिल थे। स्कूल और कॉलेज राजस्थान में बंद हैं, लेकिन स्वास्थ्य मंत्री अपना जन्मदिन इस तरह मनाकर सैंकड़ों लोगों की जान को खतरे में डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज जो आप विपक्ष देख रहे हैं वो क्या चाहता है?

इन सभी की एक ही मंशा है अपने परिवार को बचाने की।

पेगासस जासूसी मामले को सबसे बड़ा मुद्दा बताना विपक्ष के ‘‘दिवालियेपन’’ का परिचायक 

संबित पात्रा ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा विश्व कोरोना महामारी का सामना कर रहा है और तीसरी लहर से निपटना सबसे बड़ी चुनौती बना हुआ है, कांग्रेस द्वारा कथित पेगासस जासूसी मामले को सबसे बड़ा मुद्दा बताना विपक्ष के ‘‘दिवालियेपन’’ का परिचायक है। उन्होंने कहा, ‘‘संसद में कोविड-19 (मुद्दे)पर चर्चा ना करना राष्ट्रविरोधी है। पूरे विश्व में जिस महामारी को लेकर सैकड़ों लोगों की जान चली गई,जिस महामारी को लेकर हर देश में आज परेशानी है, उस विषय पर अगर हमारे चुने हुए प्रतिनिधि चर्चा ना करें...बहस ना करें...तो वह देश के खिलाफ है।’’

पेगासस मुद्दा ‘‘मनगढ़ंत’’ है और यह कोई विषय ही नहीं है

पात्रा ने कहा कि जो भी इस विषय पर होने वाली चर्चा को रोकता है तो वह कहीं ना कहीं देश के ऊपर आघात करता है।उन्होंने कहा, ‘‘कोरोना पर संसद में चर्चा होनी चाहिए की नहीं होनी चाहिए? हर जिले में ऑक्सीजन संयंत्र लगे इसकी चिंता की जानी चाहिए कि नहीं?...लेकिन चर्चा नहीं होने दी जा रही है...कागज फाड़ा जा रहा है...यह धोखा है...देश के साथ और देश की जनता के साथ।’’ उन्होंने कहा कि पेगासस मुद्दा ‘‘मनगढ़ंत’’ है और यह कोई विषय ही नहीं है जिस पर इतना हंगामा मचाया जाए। उन्होंने कहा, ‘‘ऐसा करके विपक्ष देश को बरगला नहीं सकता है।’’

पेगसास केस पर विपक्ष हमलावर, राउत बोले- यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला, सरकार ने किया विश्वासघात