BREAKING NEWS

हाफिज सईद की गिरफ्तारी का डोनाल्ड ट्रंप ने किया स्वागत, ट्वीट कर कही ये बात ◾पीएम मोदी सहित कई दिग्गज नेताओं ने कुलभूषण जाधव पर ICJ के फैसले का किया स्वागत◾कुलभूषण जाधव ICJ के फैसले पर सुषमा ने मोदी को कहा शुक्रिया◾ICJ में भारत की बड़ी जीत : 15-1 से कुलभूषण यादव के पक्ष में गया फैसला , फांसी पर रोक ◾ICJ : जाधव मामले में पाकिस्तान ने विएना संधि का उल्लंघन किया, अब लगा तगड़ा झटका◾प्रधानमंत्री मोदी ने 47 से 56 वर्ष आयु वर्ग के भाजपा सांसदों से की मुलाकात ◾उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद, प्रशासन सो रहा है : प्रियंका गांधी◾रामनाथ कोविंद ने नौ क्षेत्रीय भाषाओं में फैसले उपलब्ध कराने के प्रयासों की प्रशंसा की ◾बंगाल ने पोषण अभियान अपनाने से इंकार कर दिया : स्मृति ईरानी◾UP : सोनभद्र में जमीनी विवाद को लेकर हुई हिंसक झड़प में 9 की मौत, CM योगी ने जांच के दिए निर्देश ◾उत्तराखंड से बीजेपी विधायक प्रणव सिंह चैम्पियन 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित ◾व्हिप को निष्प्रभावी करने वाले SC के फैसले ने खराब न्यायिक मिसाल पेश की : कांग्रेस◾इंच-इंच जमीन से अवैध प्रवासियों को करेंगे बाहर : अमित शाह◾चीन-भारत सीमा पर दोनों देशों के सुरक्षा बलों द्वारा बरता जा रहा है संयम : राजनाथ◾पीछे हटने का सवाल नहीं, विधानसभा की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्सा : कर्नाटक के बागी विधायक◾मुंबई आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद लाहौर से गिरफ्तार◾सुप्रीम कोर्ट का फैसला असंतुष्ट विधायकों के लिए नैतिक जीत : येदियुरप्पा◾कर्नाटक संकट : विधानसभा अध्यक्ष बोले- संवैधानिक सिद्धांतों का करुंगा पालन◾कर्नाटक संकट : SC ने कहा-बागी विधायकों के इस्तीफों पर स्पीकर ही करेंगे फैसला◾जम्मू एवं कश्मीर : सोपोर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़◾

देश

बीजेपी ने बजट को बताया भरोसे के संकट को खत्म करने वाला, कांग्रेस ने आशाओं के विपरीत करार दिया

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश बजट को बीजेपी ने जहां देश की राजनीति में पैदा हुए भरोसे के संकट को कम करने वाला बताया, वहीं कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार का यह बजट लोगों की आशाओं और अकांक्षाओं के विपरीत रहा है। लोकसभा में बजट पर चर्चा में भाग लेते हुए बीजेपी के वीरेंद्र सिंह ने कहा कि आम बजट अतीत की गलतियों को सुधारने वाला और भविष्य की चुनौतियों का सामना करने वाला है। 

उन्होंने कहा कि स्वदेशी की अवधारणा पर आधारित बजट ने देश की राजनीति में पैदा हुए भरोसे के संकट को कम किया है। वीरेंद्र सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले पांच साल चलने वाली सरकार ने गांव में रहने वाले गरीबों के मन में भरोसा पैदा किया है। इससे पहले देश की राजनीति में भरोसे का संकट इसलिए पैदा हुआ था क्योंकि लोग कहते कुछ थे, करते कुछ थे और दिखता कुछ था। 


वीरेंद्र सिंह ने कहा कि देश की जनता को पहली बार भरोसा हुआ है कि यह सरकार जो कहती है, वह करती है। उन्होंने कहा कि संसदीय लोकतंत्र में विरोध के लिए विपक्ष का मजबूत होना जरूरी है लेकिन आज विपक्ष की विरोध की ताकत खत्म हो गयी है। विपक्ष को गांव और किसान के मुद्दों पर सरकार के साथ एकमत होना चाहिए। 

कांग्रेस सांसद परनीत कौर ने सरकार के पहले बजट को आशाओं के विपरीत बजट करार देते हुए कहा कि आजाद भारत में गठबंधन की सरकारों में देश की अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा और वित्त मंत्री सीतारमण द्वारा पेश बजट लोगों की उम्मीदों के प्रतिकूल रहा है। उन्होंने कहा कि देश में तीन बजट को परिवर्तनकारी माना जाता है। 

कर्नाटक के सियासी घटनाक्रम पर लोकसभा में हंगामा, राहुल ने लगाए 'वी वांट जस्टिस' के नारे

पहला ऐसा बजट 1991 में तत्कालीन वित्त मंत्री मनमोहन सिंह द्वारा पेश किया गया जिसने भारत की अर्थव्यस्था की दशा और दिशा बदल दी। कौर ने कहा कि इसके बाद 1997 में पी चिदंबरम ने ड्रीम बजट पेश किया और फिर 2004 में संप्रग सरकार का पहला बजट आया। इन दोनों बजट ने भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में बड़ी भूमिका निभाई। 

पटियाला से कांग्रेस सांसद ने कहा कि गठबंधन की सरकारों में भारत की अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा। उन्होंने कहा कि प्रचंड बहुमत होने के बावजूद मोदी सरकार का यह बजट लोगों की आशाओं और अकांक्षाओं के विपरीत रहा है। तेलंगाना राष्ट्र समिति के नामा नागेश्वर राव ने कहा कि तेलंगाना राज्य ने सबसे पहले ‘हर घर जल’ योजना की शुरूआत की थी। अब केंद्र सरकार भी ऐसी योजना लाई है। 

उन्होंने कहा कि बजट में दक्षिणी राज्यों के लिए उम्मीद के मुताबिक प्रावधान नहीं किए गए जबकि हमें वित्त मंत्री सीतारमण से अपने राज्य के लिए अधिक बजट की उम्मीद थी जो तमिलनाडु की बेटी और आंध्र प्रदेश की बहू हैं। बीजेपी के विनोद सोनकर ने कहा कि विपक्ष के लोग अनुसूचित जाति और जनजाति के बजट में कमी के आरोप लगा रहे हैं, जो गलत हैं। 

उन्होंने नौकरी में आउटसोर्सिंग के मुद्दे पर सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए राष्ट्रीय नीति बनाने की मांग की ताकि रोजगार के संबंध में युवाओं के सामने आ रहे संकट को खत्म किया जा सके। सोनकर ने आकांक्षी जिलों की तर्ज पर उद्योग विहीन जिले चिह्नित करने की भी मांग की। लोक जनशक्ति पार्टी के रामचंद्र पासवान ने कहा कि कोई वर्ग नहीं है जो बजट पर केंद्र सरकार की सराहना नहीं कर रहा हो। गरीब सोचते हैं कि यह सरकार उनके बारे में सोच रही है।

बीजेपी के नंद कुमार सिंह चौहान ने कहा कि यह बजट देश की ऊंचाई पर ले जाने वाला है और फिर से साबित हो गया है कि नरेंद्र मोदी सरकार गांव, गरीब और किसानों की सरकार है। बीजेपी की ही सुनीता दुग्गल ने कहा कि यह बजट देश को नयी दिशा देने वाला है और इसमें गरीबों को विशेष ध्यान रखा गया है।