BREAKING NEWS

लद्दाख LAC विवाद : भारत और चीन वार्ता के जरिये मतभेदों को दूर करने पर हुए सहमत◾दिल्ली हिंसा: पिंजरा तोड़ ग्रुप की सदस्य और JNU स्टूडेंट के खिलाफ यूएपीए के तहत मामला दर्ज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को फिर बताया फेल, ट्विटर पर शेयर किया ग्राफ ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,436 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 80 हजार के पार◾लद्दाख तनाव : कल सुबह 9 बजे मालदो में होगी भारत और चीन के बीच ले. जनरल स्तरीय बातचीत ◾पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा : मुंह में गहरे घावों के कारण दो हफ्ते भूखी थी गर्भवती हथिनी, हुई दर्दनाक मौत◾केंद्रीय गृह मंत्रालय की मीडिया विंग में भारी फेरबदल, नितिन वाकणकर नये प्रवक्ता नियुक्त किये गए ◾भाजपा नेता और टिक टोक स्टार सोनाली फोगाट ने हिसार मंडी समिति के सचिव को पीटा , वीडियो वायरल ◾सैन्य बातचीत से पहले बोला चीन-भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध◾PM मोदी के 'आत्मनिर्भर भारत' के ऐलान को कपिल सिब्बल ने बताया 'जुमला'◾दिल्ली के पीतमपुरा में एक मेड से 20 लोगों को हुआ कोरोना, 750 से ज्यादा लोग हुए सेल्फ क्वारंटाइन◾कोरोना संकट पर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, नई योजनाओं पर मार्च 2021 तक लगी रोक◾गुजरात में कांग्रेस को तीसरा झटका, एक और विधायक ने दिया इस्तीफा◾दिल्ली मेट्रो में हुई कोरोना की एंट्री, 20 कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि◾'विश्व पर्यावरण दिवस' पर PM मोदी का खास सन्देश, कहा- जैव विविधता को संरक्षित रखने का संकल्प दोहराएं◾उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में ट्रक और स्कॉर्पियो की भीषण टक्कर, 9 लोगों की मौत◾World Corona : दुनिया में पॉजिटिव मामलों की संख्या 66 लाख के पार, अब तक करीब 4 लाख लोगों की मौत ◾कोविड-19 : देश में 10 हजार के करीब नए मरीजों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख 27 हजार के करीब ◾Coronavirus : अमेरिका में संक्रमितों का आंकड़ा 19 लाख के करीब, अब तक एक लाख से अधिक लोगों की मौत ◾अदालती आदेश का अनुपालन नहीं करने पर CM केजरीवाल के खिलाफ कोर्ट में अवमानना याचिका दायर ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बीजेपी ने बजट को बताया भरोसे के संकट को खत्म करने वाला, कांग्रेस ने आशाओं के विपरीत करार दिया

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश बजट को बीजेपी ने जहां देश की राजनीति में पैदा हुए भरोसे के संकट को कम करने वाला बताया, वहीं कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार का यह बजट लोगों की आशाओं और अकांक्षाओं के विपरीत रहा है। लोकसभा में बजट पर चर्चा में भाग लेते हुए बीजेपी के वीरेंद्र सिंह ने कहा कि आम बजट अतीत की गलतियों को सुधारने वाला और भविष्य की चुनौतियों का सामना करने वाला है। 

उन्होंने कहा कि स्वदेशी की अवधारणा पर आधारित बजट ने देश की राजनीति में पैदा हुए भरोसे के संकट को कम किया है। वीरेंद्र सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले पांच साल चलने वाली सरकार ने गांव में रहने वाले गरीबों के मन में भरोसा पैदा किया है। इससे पहले देश की राजनीति में भरोसे का संकट इसलिए पैदा हुआ था क्योंकि लोग कहते कुछ थे, करते कुछ थे और दिखता कुछ था। 

वीरेंद्र सिंह ने कहा कि देश की जनता को पहली बार भरोसा हुआ है कि यह सरकार जो कहती है, वह करती है। उन्होंने कहा कि संसदीय लोकतंत्र में विरोध के लिए विपक्ष का मजबूत होना जरूरी है लेकिन आज विपक्ष की विरोध की ताकत खत्म हो गयी है। विपक्ष को गांव और किसान के मुद्दों पर सरकार के साथ एकमत होना चाहिए। 

कांग्रेस सांसद परनीत कौर ने सरकार के पहले बजट को आशाओं के विपरीत बजट करार देते हुए कहा कि आजाद भारत में गठबंधन की सरकारों में देश की अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा और वित्त मंत्री सीतारमण द्वारा पेश बजट लोगों की उम्मीदों के प्रतिकूल रहा है। उन्होंने कहा कि देश में तीन बजट को परिवर्तनकारी माना जाता है। 

कर्नाटक के सियासी घटनाक्रम पर लोकसभा में हंगामा, राहुल ने लगाए 'वी वांट जस्टिस' के नारे

पहला ऐसा बजट 1991 में तत्कालीन वित्त मंत्री मनमोहन सिंह द्वारा पेश किया गया जिसने भारत की अर्थव्यस्था की दशा और दिशा बदल दी। कौर ने कहा कि इसके बाद 1997 में पी चिदंबरम ने ड्रीम बजट पेश किया और फिर 2004 में संप्रग सरकार का पहला बजट आया। इन दोनों बजट ने भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में बड़ी भूमिका निभाई। 

पटियाला से कांग्रेस सांसद ने कहा कि गठबंधन की सरकारों में भारत की अर्थव्यवस्था का सुनहरा दौर रहा। उन्होंने कहा कि प्रचंड बहुमत होने के बावजूद मोदी सरकार का यह बजट लोगों की आशाओं और अकांक्षाओं के विपरीत रहा है। तेलंगाना राष्ट्र समिति के नामा नागेश्वर राव ने कहा कि तेलंगाना राज्य ने सबसे पहले ‘हर घर जल’ योजना की शुरूआत की थी। अब केंद्र सरकार भी ऐसी योजना लाई है। 

उन्होंने कहा कि बजट में दक्षिणी राज्यों के लिए उम्मीद के मुताबिक प्रावधान नहीं किए गए जबकि हमें वित्त मंत्री सीतारमण से अपने राज्य के लिए अधिक बजट की उम्मीद थी जो तमिलनाडु की बेटी और आंध्र प्रदेश की बहू हैं। बीजेपी के विनोद सोनकर ने कहा कि विपक्ष के लोग अनुसूचित जाति और जनजाति के बजट में कमी के आरोप लगा रहे हैं, जो गलत हैं। 

उन्होंने नौकरी में आउटसोर्सिंग के मुद्दे पर सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुए राष्ट्रीय नीति बनाने की मांग की ताकि रोजगार के संबंध में युवाओं के सामने आ रहे संकट को खत्म किया जा सके। सोनकर ने आकांक्षी जिलों की तर्ज पर उद्योग विहीन जिले चिह्नित करने की भी मांग की। लोक जनशक्ति पार्टी के रामचंद्र पासवान ने कहा कि कोई वर्ग नहीं है जो बजट पर केंद्र सरकार की सराहना नहीं कर रहा हो। गरीब सोचते हैं कि यह सरकार उनके बारे में सोच रही है।

बीजेपी के नंद कुमार सिंह चौहान ने कहा कि यह बजट देश की ऊंचाई पर ले जाने वाला है और फिर से साबित हो गया है कि नरेंद्र मोदी सरकार गांव, गरीब और किसानों की सरकार है। बीजेपी की ही सुनीता दुग्गल ने कहा कि यह बजट देश को नयी दिशा देने वाला है और इसमें गरीबों को विशेष ध्यान रखा गया है।