BREAKING NEWS

‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर बुधवार सुबह निर्णय लेंगे कांग्रेस और सहयोगी दल ◾अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के बने नेता◾स्पीकर के चुनाव में बिड़ला का समर्थन करेगा UPA, ''एक राष्ट्र, एक चुनाव'' पर अभी निर्णय नहीं ◾बजट से पहले मोदी के साथ महत्वपूर्ण विभागों के सचिवों की बैठक ◾J&K : पुलवामा में पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमला, 5 घायल, 2 की हालत गंभीर◾PM मोदी ने 19 जून को बुलाई सर्वदलीय बैठक, 'एक राष्ट्र एक चुनाव' पर करेंगे चर्चा◾मेरठ : गमगीन माहौल में हुआ शहीद मेजर का अंतिम संस्कार, अंतिम दर्शन को उमड़ा जनसैलाब ◾WORLD CUP 2019, ENG VS AFG : इंग्लैंड ने अफगानिस्तान के खिलाफ रिकार्डों की झड़ी लगाई ◾विपक्ष ने महाराष्ट्र के वित्त मंत्री के ट्विटर हैंडल पर बजट लीक को लेकर की सरकार आलोचना की◾Top 20 News - 18 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾बिहार के CM नीतीश ने एईएस पीड़ित बच्चों को लेकर दिए आवश्यक निर्देश ◾लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए NDA उम्मीदवार ओम बिड़ला को मिला BJD का समर्थन ◾मेरठ पहुंचा शहीद मेजर का पार्थिव शरीर, झलक पाने को उमड़ी भारी भीड़ ◾2005 अयोध्या आतंकी हमले में 4 आरोपियों को उम्रकैद, एक बरी◾सोनिया गांधी, हेमा मालिनी और मेनका गांधी ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ ◾रक्षा मंत्री राजनाथ ने मेजर केतन को दी श्रद्धांजलि ◾बीजेपी सांसद ओम बिड़ला ने लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए पर्चा भरा◾पश्चिम बंगाल : हड़ताल खत्म कर काम पर लौटे डॉक्टर , अस्पताल में सामान्य सेवाएं बहाल ◾व्हील चेयर पर लोकसभा में पहुंचे मुलायम, निर्धारित क्रम से पहले ली शपथ ◾सजाद भट उर्फ अफजल गुरु अनंतनाग मुठभेड़ में ढेर, पुलवामा हमले के लिए दी थी कार◾

देश

BJP के पास अगले साल तक राज्यसभा में हो जाएगा बहुमत , जानिए ! Modi का ये फॉर्मूला


फिलहाल राजग के पास राज्यसभा में 102 सदस्य हैं, जबकि कांग्रेस नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन संप्रग के पास 66 और दोनों गठबंनों से बाहर की पार्टियों के पास 66 सदस्य हैं। लोकसभा चुनाव में भारी सफलता के बाद भाजपा नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के पास अगले साल के अंततक राज्य में बहुमत हो जाएगा और उसके बाद मोदी सरकार के लिए अपने विधायी एजेंडे को आगे बढ़ाने में आसानी हो जाएगी। 

राजग के खेमे में अगले साल नवंबर तक लगभग 18 सीटें और जुड़ जाएंगी। राजग को कुछ नामित, निर्दलीय और असंबद्ध सदस्यों का भी समर्थन मिल सकता है। 

राज्यसभा में आधी संख्या 123 है, और ऊपरी सदन के सदस्यों का चुनाव राज्य विधानसभा के सदस्य करते हैं। 



अगले साल नवंबर में उत्तर प्रदेश में खाली होने वाली राज्यसभा की 10 में से अधिकांश सीटें भाजपा जीतेगी। इनमें से 9 सीटें विपक्षी दलों के पास हैं। इनमें से 6 समाजवादी पार्टी (सपा) के पास, 2 बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और 1 कांग्रेस के पास है। 

उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के 309 सदस्य हैं। सपा के 48, बसपा के 19 और कांग्रेस के 7 सदस्य हैं।  अगले साल तक भाजपा को असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश में सीटें मिलेंगी। भाजपा राजस्थान, बिहार, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में सीटें गंवाएगी। 

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के परिणामों का भी राजग की सीट संख्या पर असर होगा। हालांकि असम की दो सीटों के चुनाव की घोषणा हो चुकी है, जबकि तीन अन्य सीटें राज्य में अगले साल तक खाली हो जाएंगी। भाजपा और उसके सहयोगी दलों के पास राज्य विधानसभा में दो-तिहाई बहुमत है। 

ऊपरी सदन की लगभग एक-तिहाई सीटें इस साल जून और अगले साल नवंबर में खाली हो जाएंगी। दो सीटें अगले महीने असम में खाली हो जाएंगी और छह सीटें इस साल जुलाई में तमिलनाडु में खाली हो जाएंगी। उसके बाद अगले साल अप्रैल में 55 सीटें खाली होंगी, पांच जून में, एक जुलाई में और 11 नवंबर में खाली होंगी। 

भाजपा नेतृत्व वाली सरकार का प्रयास अपने विधायी एजेंडे को आगे बढ़ाने का होगा, जो पिछले पांच सालों के दौरान विपक्ष के विरोध के कारण आगे नहीं बढ़ पा रही थीं। सरकार तीन तलाक विधेयक को पास नहीं करा सकी, जबकि यह विधेयक लोकसभा में पारित हो चुका है। नागरिकता संशोधन विधेयक भी पास नहीं हो पाया है। 

बीजू जनता दल और तेलंगाना राष्ट्र समिति दोनों ने हालांकि भाजपा और कांग्रेस से समान रूप से दूरी बना रखी है, लेकिन दोनों दलों ने पिछले साल राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए हरिवंश का समर्थन किया था।