BREAKING NEWS

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 48 और नामांकन दाखिल◾राउत को इंदिरा गांधी के बारे में टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी : पवार◾कश्मीर में शहीद सलारिया का सैन्य सम्मान से अंतिम संस्कार, दो महीने की बेटी ने दी मुखाग्नि ◾बुलेट ट्रेन परियोजना के लिये भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया के खिलाफ याचिकाओं पर न्यायालय करेगा सुनवाई ◾चुनाव में ‘कांग्रेस वाली दिल्ली’ के नारे के साथ प्रचार में उतरी कांग्रेस◾यूपी सीएम योगी ने हिमस्खलन में कुशीनगर के शहीद जवान की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया◾TOP 20 NEWS 17 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾निर्भया के गुनहगारों का नया डेथ वारंट जारी, 1 फरवरी को सुबह 6 बजे होगी फांसी◾दिल्ली चुनाव के लिए BJP ने जारी की 57 उम्मीदवारों की पहली सूची◾निर्भया केस : स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति का जताया आभार, केजरीवाल पर साधा निशाना◾CAA के विरोध प्रदर्शन में जामा मस्जिद पहुंचे चंद्रशेखर, समर्थकों के साथ मिलकर पढ़ी संविधान प्रस्तावना◾आरोपी की दया याचिका को पर राष्ट्रपति के फैसले का निर्भया के पिता ने किया स्वागत◾आजम खान के बेटे को सुप्रीम कोर्ट से झटका, हाईकोर्ट के फैसले पर रोक लगाने से इनकार◾शिवाजी या इंदिरा का नाम कभी भी सियासी फायदे के लिए नहीं लिया : शिवसेना◾कार्ति चिदंबरम को बड़ी राहत, SC ने विदेश यात्रा के लिए रजिस्ट्री में जमा 20 करोड़ रुपये वापस लेने की दी अनुमति◾निर्भया गैंगरेप : राष्ट्रपति ने खारिज की आरोपी मुकेश की दया याचिका◾DSP देवेंद्र सिंह की गिरफ्तारी को लेकर राहुल का मोदी सरकार पर वार, ट्वीट कर कही ये बात ◾ओवैसी ने CDS पर साधा निशाना, बोले- डी-रेडिकलाइजेशन पर गोरों की भाषा बोल रहे जनरल बिपिन रावत ◾गौरव चंदेल हत्याकांड : गाजियाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी, राहगीरों से बरामद किया मोबाइल◾राष्ट्रपति के पास भेजी गई आरोपी मुकेश की दया याचिका, निर्भया की मां ने लगाया राजनीति करने का आरोप◾

श्यामा प्रसाद मुखर्जी को लेकर हसनैन मसूदी के दावे पर भाजपा की कड़ी प्रतिक्रिया

अनुच्छेद 370 पर भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के रूख के बारे में नेशनल कांफ्रेंस के सांसद हसनैन मसूदी के दावे को लेकर मंगलवार को लोकसभा में भाजपा सदस्यों की कड़ी प्रतिक्रिया सामने आई। इस पर गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कड़ी आपत्ति की। 

रक्षा मंत्री ने कहा कि मसूदी अपनी बात सत्यापित करें या फिर माफी मांगें। इस विषय पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी की आपत्ति के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने नेशनल कांफ्रेंस सदस्य की टिप्पणी को कार्यवाही से निकालने को कहा। जोशी ने कहा कि मसूदी की टिप्पणी ऐतिहासिक तथ्यों के खिलाफ है और इसे कार्यवाही से निकाला जाना चाहिए। 

जम्मू-कश्मीर को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने और अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराओं को हटाने से जुड़े विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए मसूदी ने कहा कि सरकार ऐतिहासिक भूल कर रही है और आने वाले समय में इसके दुष्परिणाम होंगे। डॉ मुखर्जी पर नेशनल कांफ्रेंस सदस्य की टिप्पणी को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस के सदस्य को अपनी बात रखने का हक है, लेकिन वह ऐसा कुछ न बोलें जो पूरी तरह असत्य है। वह बताएं कि वह यह बात किस हवाले से कह रहे हैं। 

रक्षा मंत्री सिंह ने कहा कि मसूदी ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बारे में जो बातें की हैं उसको वह सत्यापित करें, अन्यथा सदन से माफी मांगें। बहरहाल, हसनैन मसूदी ने यह आरोप भी लगाया कि आज मुख्यधारा की पार्टियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। आज हम किस मोड़ पर आ गए ? उन्होंने कहा कि संविधान पर हमले के लिए इतिहास कभी माफ नहीं करेगा।