BREAKING NEWS

यूपी चुनाव : सीएम योगी ने 'सैफई महोत्सव' को लेकर SP पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही यह बात ◾प्रमोशन में भगवान पर बयान देकर फंसी श्वेता, नरोत्तम मिश्रा ने दिए जांच के निर्देश, जानें क्या है पूरा मामला ◾दिल्ली : गैंगरेप के बाद महिला के साथ अभद्रता, काटे बाल, चेहरा काला कर इलाके में घुमाया◾UP चुनाव: प्रचार अभियान में कांग्रेस को क्यों होगी बुलेट प्रूफ जैकेट की जरूरत? मदद के लिए उन्नाव भेजी टीम ◾राहुल ने ट्विटर के CEO को लिखा पत्र, कहा- सरकार के दबाव में कार्य कर रही कंपनी, फॉलोअर्स किए कम ◾'टीपू सुल्तान स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स' को लेकर विवाद, राउत बोले-नया इतिहास मत लिखो◾उत्तराखंड चुनाव से पूर्व कांग्रेस को एक और बड़ा झटका! BJP में शामिल हुए पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ◾Today's Corona Update : नए मरीजों की संख्या से ज्यादा रिकवरी रेट, एक्टिव केस में भी दर्ज हुई गिरावट◾World Corona Update : नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण का कहर, वैश्विक स्तर पर 36.18 करोड़ हुआ आंकड़ा ◾पंजाब चुनाव : राहुल प्रचार अभियान का फूंकने बिगुल, 117 उम्मीदवारों संग स्वर्ण मंदिर में टेकेंगे मत्था ◾UP विधानसभा चुनाव : प्रचार के लिए आज मैदान में उतरेंगे BJP के दिग्गज, घर-घर देंगे दस्तक◾उत्तराखंड : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय थाम सकते हैं BJP का दामन◾UP चुनाव : CM योगी आदित्यनाथ बृहस्पतिवार को बिजनौर में करेंगे जनसंपर्क◾उप्र चुनाव के लिए कांग्रेस ने तीसरी सूची में 89 और उम्मीदवार घोषित किए, महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट◾गृह मंत्री अमित शाह ने की पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट नेताओं के साथ बैठक, ये है भाजपा का प्लान ◾उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर रेल मंत्री बोले : ‘अपनी संपत्ति’ को नष्ट न करें, शिकायतों का करेंगे समाधान ◾गोवा चुनाव 2022: BJP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, जानें किसे कहा से मिला टिकट◾बिहार: गया में नाराज छात्रों ने ट्रेन की बोगी में लगाई आग, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर किया पथराव◾गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान◾गणतंत्र दिवस परेड: राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, वायुसेना की शक्ति देख दर्शक हुए दंग ◾

मुगल साम्राज्य को कब्र में किया दफन , अब से बच्चे जानेंगे बोफोर्स का इतिहास

आज हम आपको बताने जा रहे है भारत में मुगल साम्राज्य के बारे में जिसका इतिहास अब कब्र में दफन कर दिया गया है जी हाँ , जैसा कि आप सभी जानते है कि भारत के ऊपर कई विदेशी ताकतों ने हमला किया। सबने भारत पर राज भी किया और यहाँ की संस्कृतियों के साथ जमकर खिलवाड़ भी किया। पर भारत पर सबसे ज्यादा राज मुगल साम्राज्य का रहा है। और यहाँ की संस्कृति को सबसे ज्यादा नुकसान भी मुगलों ने ही पहुँचाया है । लेकिन अब इनका इतिहास कब्र में दफ़न कर दिया गया है ।

Source

बता दे कि महाराष्ट्र शिक्षा बोर्ड ने इतिहास के पाठ्यक्रम में से मुगल साम्राज्य से जुड़े अध्यायों को हटाना शुरू कर दिया है। इस साल के लिए बोर्ड द्वारा संशोधित किताबों में स्कूल के 7वीं से 9वीं कक्षा तक के छात्रों के इतिहास के पाठ्यक्रम में मराठा साम्राज्य पर जोर दिया गया है जबकि मुगल साम्राज्य पाठ्यक्रम से नदारद है।

Source

खबरों के मुताबिक 7वीं कक्षा की किताब में से उन अध्यायों को हटाया गया है जैसा कि 7वीं कक्षा की किताब में अकबर को जानकारी दी गई है अकबर मुगल वंश का सबसे शक्तिशाली राजा था।

Source

आपको बता दें कि इसमें अकबर के शासन काल को तीन लाइनों में ही समाप्त कर दिया गया है । पुस्तक में अकबर के बारे में इतना ही लिखा गया है । अकबर मुग़ल वंश का सबसे शक्तिशाली राजा था।

Source

जब उसने भारत को एक केन्द्रीय सत्ता के अधीन लाने की कोशिश की तो उसे कड़े विरोध का सामना करना पड़ा था। महाराणा प्रताप, चाँद बीबी और रानी दुर्गावती ने उनके खिलाफ संघर्ष किया था। उन लोगों का संघर्ष उल्लेखनीय है।

Source

बता दें कि महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड द्वारा लाए गए नए पाठ्यक्रम नौंवीं कक्षा के इतिहास कि किताब में बोफोर्स घोटाला और 1975 में लगे इमरजेंसी का जिक्र किया गया है। सरकार का कहना है कि अब बच्चों को मॉडर्न इतिहास के बारे में बताना जरुरी है।

Source

वही इस पुस्तक में रूपये का भी उल्लेख नहीं किया गया है। बता दें कि सबसे पहले अफगान आक्रान्ताओं ने रूपये को जारी किया था जो अब तक चलन में है। महाराष्ट्र राज्य शिक्षा की पुस्तक में दिल्ली में शासन करने वाली पहली महिला रजिया सुल्तान, मुहम्मद बिन तुगलक के दिल्ली से दौलताबाद राजधानी शिफ्ट करने, विमुद्रीकरण और भारत से हुमायूँ को भागने पर मजबूर करने वाले शेर शाह सूरी के पैराग्राफ भी हटा दिए गए हैं।

आपको बात दें कि वही इतिहास विषय के कमिटी के सदस्य बापूसाहेब शिंदे ने बताया है कि पिछले साल नए पाठ्यक्रम को लेकर महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े के साथ रामभाऊ म्हालगी प्रबोधिनी में मीटिंग हुई थी। जिसमे उन्होंने कहा गया था कि बच्चों को मॉडर्न इतिहास के बारे में बताना जरुरी है,और आने वाले नयी पुस्तक में अब मुगलों के इतिहास को काम किया जाए।