BREAKING NEWS

आज का राशिफल (31 जनवरी 2022)◾नब किशोर दास हत्याकांड: भाजपा ने CBI जांच व कांग्रेस ने मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की◾श्रमिक संगठनों ने साल के अंत तक देशव्यापी हड़ताल का लिया संकल्प, मोदी सरकार पर लगाए ये आरोप ◾स्वामी प्रसाद मौर्य के समर्थन में आए सपा मुखिया, बोले- CM योगी से रामचरितमानस की चौपाई के बारे में पूछूंगा◾स्वयंभू बाबा आसाराम को गुजरात की अदालत ने ठहराया दोषी, 2013 में दर्ज हुआ था बलात्कार का मामला◾हिमंत विश्व शर्मा का दावा- भाजपा त्रिपुरा में अगली सरकार अपने दम पर बनाएगी ◾शिवसेना (यूबीटी) का भाजपा पर तंज, कहा- केंद्र, महाराष्ट्र में हिंदुत्ववादी सरकार फिर भी ‘लव जिहाद’ के खिलाफ मार्च◾अडाणी समूह के इजराइल में प्रवेश के कार्यक्रम में शामिल होंगे प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू◾LG सक्सेना ने दिल्ली सरकार के अस्पतालों में 139 डॉक्टरों की पदोन्नति को मंजूरी दी◾चीन के खिलाफ मोदी सरकार की है DDLJ नीति, जयशंकर के बयान पर जयराम रमेश का पलटवार ◾राहुल गांधी ने कहा- प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह ने कभी नहीं देखी हिंसा, पैदल यात्रा करने की दी चुनौती ◾Bharat Jodo Yatra: महबूबा मुफ्ती ने की राहुल की तारीफ, बोलीं- उनमें दिखती है ‘उम्मीद की किरण’◾विश्व कप में खराब प्रदर्शन के बाद हड़कंप, भारतीय पुरूष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड ने दिया इस्तीफा◾राहुल गांधी ने एक बार फिर से खोला अपने टी-शर्ट का राज, लेकिन इस बार किस्सा कुछ अलग ◾Pakistan Blast: पाकिस्तान की मस्जिद में हुआ बम धमाका,नमाज पढ़ने के दौरान हमलावर ने खुद को उड़ाया◾Bharat jodo yatra :यात्रा के आखिरी पड़ाव पर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने बर्फबारी का उठाया लुफ्त ◾कच्चे तेल की कीमतों में लगातार गिरावट जारी, 'देश में पेट्रोल और डीजल के दाम में आज भी टिका रहा'◾केरल के सीएम पिनराई विजयन ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि की अर्पित, RSS पर देश में नफरत फैलाकर राजनीति करने के लगाए आरोप◾BBC डॉक्यूमेंट्री मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, किरेन रीजीजू बोले- लोग SC का कीमती वक्त करते हैं बर्बाद ◾सीएम केजरीवाल दिल्ली जल बोर्ड से ज्यादा बिल आने वाले लोगों के लिए लगाएंगे माफी योजना◾

किसी व्यक्ति की सहमति के बिना जबरन टीकाकरण नहीं कराया जा सकता : SC को केंद्र ने बताया

केंद्र ने उच्चतम न्यायालय से कहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी कोविड-19 टीकाकरण दिशानिर्देशों में किसी व्यक्ति की सहमति के बिना उसका जबरन टीकाकरण कराने की बात नहीं की गई है।

दिव्यांगजनों को टीकाकरण प्रमाणपत्र दिखाने से छूट देने के मामले पर केंद्र ने न्यायालय से कहा कि उसने ऐसी कोई मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी नहीं की है, जो किसी मकसद के लिए टीकाकरण प्रमाणपत्र साथ रखने को अनिवार्य बनाती हो।

किसी भी व्यक्ति की मर्जी के बिना उसका टीकाकरण नहीं किया जा सकता

केंद्र ने गैर सरकारी संगठन एवारा फाउंडेशन की एक याचिका के जवाब में दायर अपने हलफनामे में यह बात कही। याचिका में घर-घर जाकर प्राथमिकता के आधार पर दिव्यांगजनों का टीकाकरण किए जाने का अनुरोध किया गया है।हलफनामे में कहा गया है, ‘‘भारत सरकार तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देश संबंधित व्यक्ति की सहमति प्राप्त किए बिना जबरन टीकाकरण की बात नहीं कहते।’’केंद्र ने कहा कि किसी भी व्यक्ति की मर्जी के बिना उसका टीकाकरण नहीं किया जा सकता।

भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने पुरी शंकराचार्य से की मुलाकात