BREAKING NEWS

लखनऊ में बोले अमित शाह- जिसे विरोध करना हो करे, मगर सीएए वापस नहीं होने वाला◾पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत ◾चिदंबरम का सरकार पर कटाक्ष, बोले- अब हमें गीता गोपीनाथ पर मंत्रियों के हमले के लिए तैयार हो जाना चाहिए◾साईं बाबा के जन्मस्थान का विवाद बेवजह, CM ठाकरे को दोष नहीं दे सकते : शिवसेना ◾प्रधानमंत्री मोदी और नेपाली प्रधानमंत्री ने जोगबनी-विराटनगर निगरानी चौक का किया उद्घाटन◾जम्मू-कश्मीर जा रहे मंत्रियों को मणिशंकर अय्यर ने बताया 'डरपोक', बोले- 36 में से सिर्फ 5 जा रहे हैं घाटी◾दिल्ली चुनाव: केजरीवाल बोले- 'मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार खत्म करना, दिल्ली को आगे ले जाना'◾लखनऊ में आज अमित शाह करेंगे रैली, CAA विरोधियों को देंगे जवाब ◾दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए JDU ने स्टार प्रचारकों की सूची की जारी, प्रशांत किशोर और पवन वर्मा का नाम गायब◾AAP ने भाजपा उम्मीदवारों की दूसरी सूची पर कसा तंज, कहा- चुनाव से पहले ही मानी हार◾सूरत के रघुवीर मार्केट में लगी भीषण आग, कई दुकानें जलकर खाक◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची की जारी, केजरीवाल को टक्कर देंगे सुनील यादव◾कोहरे ने 25 ट्रेनों की रफ्तार पर लगाई ब्रेक, दिल्ली आने वाली ये ट्रेनें 1 से 6 घंटे तक लेट◾अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनाव : मनजिंदर सिंह सिरसा◾दविंदर सिंह का डीजीपी पदक और प्रशस्ति पत्र जब्त ◾CAA को लेकर कपिल सिब्बल बोले- इसे लेकर मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं ◾राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- पत्रकारिता ‘कठिन दौर’ से गुजर रही है, फर्जी खबरें नये खतरे के तौर पर सामने आई हैं◾कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾भाजपा के नये अध्यक्ष बने नड्डा, नरेंद्र मोदी समेत इन नेताओं ने दी शुभकामनाएं ◾

\" पकोका \" को विरोधियों के विरुद्ध राजनैतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल करेगी कैप्टन सरकार : भगवंत मान

लुधियाना-अमृतसर  : पंजाब में तेजी से बढ़ रहे संगठित अपराध, गैंगस्टारों, कटटरपंथियों से निपटने के लिए कैप्टन सरकार ने महाराष्ट्र सरकार की तर्ज पर पंजाब में भी ‘ पकोका ’ इसी महीने की आखिर तक लागू करने का निर्णय किया तो आम आदमी पार्टी समेत विपक्षी सियासी दलों ने कड़ी विरोधता दर्ज करवानी शुरू कर दी। पंजाब कंट्रोल आफ आर्गेनाइज क्राइम एक्ट, पकोका कानून लाने के प्रस्ताव पर आम आदमी पार्टी ने गंभीर सवाल उठाते हुए सवाल दागे है। ‘आप पार्टी के प्रधान और मैंबर पार्लियामेंट भगवंत मान, सह -प्रधान और विधायक अमन अरोड़ा, मैंबर पार्लियामेंट प्रो. साधू सिंह, विपक्ष की उप नेता बीबी सरबजीत कौर माणूके, विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर, रुपिन्दर कौर रूबी, कुलतार सिंह संधवां, नाजर सिंह मानशाहिया, हरपाल सिंह चीमा, जय कृष्ण शन सिंह रोड़ी, प्रिंसीपल बुद्धराम, अमनरजीत सिंह संधोआ, जगदेव सिंह कमालू, मीत हेयर, पिरमल सिंह धौला, कुलवंत सिंह पंडोरी, मास्टर बलदेव सिंह और मनजीत सिंह बलासपुर ने पूछा है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह किस मकसद और कौन से तत्वों के लिए पकोका जैसा कानून पंजाब की जनता पर थोप रहे हैं, सूबे के लोग यह जानना चाहते हैं।

क्योंकि आम आदमी पार्टी समेत पंजाब के आम-जन को यह संदेह है कि पकोका का जमकर दुरुपयोग होगा और सत्ताधारी पक्ष इस कानून को अपने विरोधियों के खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल करेगी। अमन अरोड़ा ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह और कांग्रेसी नेताओं को याद करवाया कि जब पिछली बादल सरकार ने पकोका का प्रस्ताव लाया था, तब ‘आप के साथ-साथ कांग्रेस ने भी यही संदेह जाहिर करते हुए अकाली-भाजपा सरकार के समकालिन पकोका प्रस्ताव का विरोध किया था।

अमन अरोड़ा ने कैप्टन सरकार पर व्यंग्य कसते हुए कहा कि यदि पकोका लाया भी जाता है तो क्या इस को जुर्म और आज हो रहे कत्लआम के विरुद्ध लागू किया जायेगा, क्योंकि पंजाब की अमन शान्ति और आपसी सद्भावना को चोट मारने वाले कातिलों में अभी तक एक भी पकड़ा नहीं गया और न ही हाई -प्रोफाइल हत्याओं की साजिश रचने वाली विरोधी ताकतों की पहचान हुई है। पंजाब और देश की सभी खुफिया और जांच एजेंसियां नाकाम साबित हुई हैं। जब हत्यारे पकड़े नहीं जा रहे, फिर पकोका किस पर लागू किया जायेगा? अरोड़ा ने एक ओर तंज कसते हुए कहा कि क्या पकोका जेलों में बंद उन गैंगस्टरों के लिए लाया जा रहा जो गृह मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की नाक तले जेल में ही जन्म दिन का जश्न मनाते हैं, हाथों में महंगे मोबाइल फोन पकडक़र नाचते गाते हैं।

‘आप नेता ने कहा कि मुख्य मंत्री के साथ-साथ गृह मंत्री के तौर पर भी कैप्टन अमरिन्दर सिंह नाकाम नेता साबित हो चुके हैं। पकोका लाने की बजाए कैप्टन अमरिन्दर सिंह को गृह मंत्री का पद छोड़ कर किसी अन्य समर्थ शख्स को सौंप देना चाहिए, जिस को पंजाब का फिक्र हो और वह पंजाब के लोगों में फैली दहश्त की भावना से मुक्त करवाने के लिए दृड़ इरादा रखता हो।

अमन अरोड़ा ने कहा कि असली हकीकत यह है कि आज अमन-कानून व्यवस्था के तौर पर पंजाब बेहद खतरनाक दौर से गुजर रहा है। अपराधी बेखौफ हैं और पुलिस तंत्र बेबस है। अब तो अपराधी तत्व भरे बाजार में किसी हत्या को अंजाम देते समय अपना मुंह छीपाना भी जरूरी नहीं समझते। हर रोज की अखबारें हत्याएं, बलात्कार, फिरौतियां, डकैतियां, माफिया और धोखाधडिय़ों के साथ भरी होती हैं, यह सब पंजाब के जंगल राज की मुंह बोलतीं तस्वीरें हैं।

अमन अरोड़ा ने कहा कि पंजाब में फैली अराजकता को रोकने के लिए किसी भी नये कानून की अपेक्षा कानून को सूबे में निचले स्तर तक लागू करने वाली पंजाब पुलिस का सियासीकरन बंद किया जाये और पुलिस को बिना किसी राजनैतिक दखल या दबाव के कानून अनुसार मैरिट पर काम करने की छुट दी जाये। अमन अरोड़ा ने कहा कि पिछली बादल सरकार की तरह कैप्टन सरकार भी पंजाब में अमन-कानून की स्थिति बहाल करने में नाकाम साबित हुई है और बादलों की तरह अपनी नाकामी से ध्यान भटकाने के लिए पकोका का राग अलापने लगी है।

- सुनीलराय कामरेड