BREAKING NEWS

बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को किया बरी, नियोजित नहीं थी योजना ◾हाथरस गैंगरेप : PM मोदी ने CM योगी से की बात, UP सरकार ने जांच के लिए SIT का किया गठन◾बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में कोर्ट के फैसले से पहले लखनऊ में हाई अलर्ट◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों का आरोप, पुलिस ने जबरन रात में कराया अंतिम संस्कार ◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटे में 80 हजार नए केस की पुष्टि, 1179 लोगों ने गंवाई जान ◾हाथरस गैंगरेप पर बोले राहुल- भारत की एक बेटी का रेप-कत्ल कर तथ्य दबाए जाते हैं ◾हाथरस मामले को लेकर प्रियंका ने CM योगी का मांगा इस्तीफा, कहा- आपके शासन में है अन्याय का बोलबाला◾US : डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा-अब हम कोरोना वैक्सीन से केवल कुछ सप्ताह ही दूर हैं◾लम्बे इंतज़ार के बाद आने वाला है सीबीआई का फैसला, 49 अभियुक्तों में से हो चुकी है 17 की मौत ◾आज का राशिफल (30 सितम्बर 2020)◾हाथरसः ग्रामीणों के भारी विरोध के बीच गैंगरेप पीड़िता का किया गया अंतिम संस्कार◾इजराइल ने भारत-इजराइल मित्रता के प्रमुख सूत्रधार दिवंगत शिमोन पेरेज को श्रद्धांजलि देने के लिए PM मोदी को दिया धन्यवाद◾SRH vs DC ( IPL 2020 ) : सनराइजर्स हैदराबाद ने दिल्ली कैपिटल्स को 15 रनों से हराया ◾ संजय सिंह ने CM योगी पर साधा निशाना , कहा - बलात्कारियों को संरक्षण दे रही है UP सरकार◾महाराष्ट्र में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 14,976 नए केस, 430 की मौत ◾उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव ◾IPL-13: जॉनी बेयरस्टो का शानदार अर्धशतक, हैदराबाद ने दिल्ली के सामने रखा 163 रनों का लक्ष्य ◾दिल्ली में कोरोना से 24 घंटे में 48 लोगों की मौत , 3227 नए मामले भी सामने आए ◾सच्चाई से परे और बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है एमनेस्टी इंटरनेशनल का बयान : गृह मंत्रालय◾ भारत ने अवैध तरीके से लद्दाख को बनाया केंद्र शासित प्रदेश, हम नहीं देते मान्यता : चीन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सीबीआई ने पटनीटॉप मास्टर प्लान के उल्लंघन की जांच आरंभ की, पूर्व मंत्री की भूमिका पर संदेह

सीबीआई ने जम्मू कश्मीर में पटनीटॉप क्षेत्र में होटल मालिकों द्वारा मास्टर प्लान के कथित उल्लंघन की जांच शुरू कर दी है। एजेंसी ने 30 अधिकारियों की एक विशेष टीम वहां भेजी है जो क्षेत्र में वन भूमि पर अतिक्रमण की जांच करेगी और इस संबंध में एक पूर्व मंत्री की भूमिका संदेह के घेरे में है। 

अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि जम्मू कश्मीर उच्च न्यायालय के 31 दिसंबर 2019 के आदेश पर प्रारंभिक जांच दर्ज की गयी थी। अदालत ने एजेंसी को आठ सप्ताह के अंदर जांच पूरी करने और रिपोर्ट पेश का निर्देश दिया था। 

सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा कि यह आदेश पटनीटॉप के होटल एवं रेस्तरां एसोसिएशन के अध्यक्ष की जनहित याचिका पर पारित किया गया है। याचिका में आरोप लगाया गया था कि पटनीटॉप क्षेत्र के मास्टर प्लान का उल्लंघन किया गया है और 70 प्रतिशत होटलों और रेस्तराओं का निर्माण बिना अनुमति के हुआ है। 

एक अधिकारी ने बताया कि जनहित याचिका में आरोप लगाया गया है कि 59 होटल और रिसॉर्ट मास्टर प्लान का उल्लंघन कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि जांच पूरी करने और रिपोर्ट पेश करने के लिए उच्च न्यायालय द्वारा दी गई आठ सप्ताह की समय सीमा को पूरा करने के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने करीब 30 अधिकारियों की एक विशेष टीम भेजी है। 

टीम अभी पटनीटॉप, उधमपुर और जम्मू में कैंप कर रही है। उन्होंने कहा कि सीबीआई टीम ने अब तक विभिन्न प्राधिकारों से उन होटलों में से 50 के दस्तावेज जुटा लिए हैं। 

मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति राजेश बिंदल की खंडपीठ ने अपने आदेश में एजेंसी को निर्देश दिया था कि वह इस मामले के सभी पहलुओं पर गौर करे और आठ सप्ताह के भीतर रिपोर्ट पेश करे। 

पीठ पटनीटॉप के क्रिस्टल होटल के मालिक हरचरण सिंह द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसमें मांग की गयी है कि पहाड़ी रिसॉर्ट के हरित क्षेत्र में बनाए गए अवैध या अनधिकृत भवनों को ध्वस्त किया जाए। 

पीठ ने कहा कि रिपोर्ट से पता चलता है कि इनमें से कई गेस्ट हाउस और होटल ऐसी भूमि का दुरुपयोग कर रहे हैं जो कृषि भूमि है और उस पर जम्मू कश्मीर कृषि सुधार अधिनियम, 1976 लागू होता है। 

रिपोर्ट के अनुसार मरियम बेगम होटल हरित भूमि का दुरुपयोग कर रहा है और उसने व्यावसायिक उपयोग के लिए एक इमारत का निर्माण किया है। 

पीठ ने कहा कि होटल फॉरेस्ट व्यू द्वारा किये गए 4547 वर्ग फुट के निर्माण को तत्कालीन आवास और शहरी विकास मंत्री ने अवैध रूप से मंजूरी दी थी। इस होटल पर कृषि सुधार अधिनियम, 1976 के प्रावधानों के उल्लंघन करने का भी आरोप है और उसने कृषि भूमि को व्यावसायिक उपयोग में बदल दिया है।