BREAKING NEWS

Independence Day : देशभक्ति के जोश में डूबी दिल्ली, तिरंगे से जगमगाती प्रतिष्ठित इमारतें◾सावधान ! चीनी मांझे का खतरा बरकरार : कुछ लोगों की जा चुकी है जान , कई लोग घायल◾हर घर तिरंगा अभियान : मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय पर फहराया तिरंगा ◾CM योगी ने वीर जवानों की सराहना की , कहा - देश के लिए बलिदान देने की जरूरत पड़ी, तो जवानों ने कभी संकोच नहीं किया◾NGT चीफ और जयराम रमेश ने उपराष्ट्रपति धनखड़ से की मुलाकात ◾विपक्ष के 11 दलों ने ईवीएम, धनबल और मीडिया के ‘दुरुपयोग’ के खिलाफ लड़ने का किया संकल्प◾ पाक : बारूदी सुरंग हमले में एक जवान की मौत, दो घायल◾ केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोलीं- लोगों से अपने घरों पर तिरंगा फहराने का आग्रह करने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं मोदी ◾J-K News: जम्मू कश्मीर में आतंकियों का कहर! श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में CRPF का एक जवान घायल◾जयराम ठाकुर ने कहा- पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग से केंद्र को अवगत कराऊंगा◾ उपराज्यपाल सिन्हा का दावा - आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोकेगी सरकार◾Delhi: सिसोदिया ने कहा- स्कूलों के छात्र उद्यमिता......... कम उम्र में स्टार्ट-अप स्थापित कर रहे◾16 को होगा महागठबंधन सरकार का शपथ ग्रहण समारोह, कांग्रेस की भागीदारी तय ◾तिरंगा अभियान पर मोदी की मां ने बढ़ चढ़कर लिया भाग, पीएम की मां ने बाटे तिरंगे◾आत्मनिर्भर चाय वाली मोना पटेल की चर्चा देश में होगी और वह ब्रांड बनेगी:चिराग पासवान◾हिमाचल में सामूहिक धर्मांतरण जिहाद-रोधी विधेयक ध्वनिमत से पारित ◾हिमाचल में सामूहिक धर्मांतरण जिहाद-रोधी विधेयक ध्वनिमत से पारित ◾गुजरात : तिरंगा यात्रा के दौरान गाय के हमले में घायल हुए नितिन पटेल ◾सोनिया गांधी के कोरोना होने पर स्टालिन का छलका दर्द, बोले- आशा करता हूं वह जल्द ही सक्रिय दिखाई देगी◾चर्चा में वानखेड़े - नवाब के आरोप को जाति आयोग ने किया खारिज, दी 'क्लीन चिट'◾

खुद व्यवस्था करने के नाम पर छात्रों को विषय बदलने की अनुमति नहीं देगा सीबीएसई

केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने अपने तहत आने वाले स्कूलों से कहा है कि छात्रों या उनके अभिभावकों का दसवीं और बारहवीं कक्षा में विषय बदलने का कोई आग्रह इस आधार पर स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए कि वे पढ़ाई की व्यवस्था खुद कर लेंगे। 

बोर्ड ने 10वीं और 12वीं कक्षाओं में विषय बदलने के आवेदनों से निपटने के लिए स्कूलों की मानक संचालन प्रक्रियाएं (एसओपी) तैयार की हैं। सीबीएसई के अनुसार, 10वीं और 12वीं कक्षाएं दो वर्षीय पाठ्यक्रम हैं। स्कूलों से आशा है कि वे छात्रों को नौवीं और ग्यारहवीं कक्षाओं में ऐसे विषय चुनने की सलाह दें जिसे वे अगली कक्षा में भी जारी रख सकें और जो स्कूल में उपलब्ध हों। 

बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "जब छात्र 10वीं और 12वीं कक्षा में आते हैं तो विभिन्न आधारों पर विषय बदलना चाहते हैं। संशोधित नियमों के तहत, विषय बदलने का कोई भी आग्रह केवल तब स्वीकार किया जाएगा जब यह शैक्षणिक सत्र में 15 जुलाई से पहले किया गया हो। प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए, बोर्ड ने इस उद्देश्य से एसओपी तैयार की हैं।" 

अधिकारी ने कहा, "किसी भी तरह से, सीबीएसई द्वारा विषय बदलने के लिए ऐसा कोई आग्रह स्वीकार नहीं किया जाएगा जिसमें कहा जाए कि माता-पिता अध्ययन के लिए अपनी व्यवस्था खुद कर लेंगे। अब, लगभग सभी विषयों का आंतरिक आकलन होता है और स्कूलों को छात्रों के आंतरिक आकलन में प्रदर्शन की जानकारी देनी होगी।"