BREAKING NEWS

Lockdown 5.0 का आज पहला दिन, एक क्लिक में पढ़िए किस राज्य में क्या मिलेगी छूट, क्या रहेगा बंद◾लॉकडाउन के बीच, आज से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन एसी ट्रेनें, पहले दिन 1.45 लाख से ज्यादा यात्री करेंगे सफर ◾तनाव के बीच लद्दाख सीमा पर चीन ने भारी सैन्य उपकरण - तोप किये तैनात, भारत ने भी बढ़ाई सेना ◾जासूसी के आरोप में पाक उच्चायोग के दो अफसर गिरफ्तार, 24 घंटे के अंदर देश छोड़ने का आदेश ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,487 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 67 हजार के पार ◾दिल्ली से नोएडा-गाजियाबाद जाने पर जारी रहेगी पाबंदी, बॉर्डर सील करने के आदेश लागू रहेंगे◾महाराष्ट्र सरकार का ‘मिशन बिगिन अगेन’, जानिये नए लॉकडाउन में कहां मिली राहत और क्या रहेगा बंद ◾Covid-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 1295 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 20 हजार के करीब ◾वीडियो कन्फ्रेंसिंग के जरिये मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी उद्योग जगत को देंगे वृद्धि की राह का मंत्र◾UP अनलॉक-1 : योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइन, खुलेंगें सैलून और पार्लर, साप्ताहिक बाजारों को भी अनुमति◾श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 80 मजदूरों की मौत पर बोलीं प्रियंका-शुरू से की गई उपेक्षा◾कपिल सिब्बल का प्रधानमंत्री पर वार, कहा-PM Cares Fund से प्रवासी मजदूरों को कितने रुपए दिए बताएं◾कोरोना संकट : दिल्ली सरकार ने राजस्व की कमी के कारण केंद्र से मांगी 5000 करोड़ रुपए की मदद ◾मन की बात में PM मोदी ने योग के महत्व का किया जिक्र, बोले- भारत की इस धरोहर को आशा से देख रहा है विश्व◾'मन की बात' में PM मोदी ने देशवासियों की सेवाशक्ति को कोरोना जंग में बताया सबसे बड़ी ताकत◾तमिलनाडु सरकार ने 30 जून तक बढ़ाया लॉकडाउन, सार्वजनिक परिवहन की आंशिक बहाली की दी अनुमति ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 82 हजार के पार, महामारी से 5164 लोगों ने गंवाई जान ◾विश्व में कोरोना मरीजों का बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के पार◾महाराष्ट्र में लॉकडाउन बढ़ाए जाने के बाद शरद पवार ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात ◾दिल्ली में कोविड-19 के 1163 नए मामले की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 18 हजार को पार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

चंद्रबाबू नायडू ने EC पर लगाया पक्षपात का आरोप, चुनाव आयोग ने किया खारिज

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने यहां शनिवार को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से मुलाकात की और एक ज्ञापन सौंपा जिसमें बृहस्पतिवार को राज्य में चुनाव के दौरान भारी संख्या में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ और अपर्याप्त सुरक्षा के कारण हिंसा की घटनाओं का आरोप लगाया।

चुनाव आयोग पर पक्षपात का आरोप लगाते हुये उन्होंने दावा किया कि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को मनमाने तरीके से हटाया गया और प्रशासन में नीतिगत पंगुता पैदा की गई गई। उन्होंने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की संभावना के कारण चुनाव प्रक्रियाओं के पवित्रताओं को बनाए रखने के लिए चुनाव आयोग से मतपत्रों से मतदान कराने की मांग की।

तेदेपा प्रमुख ने कहा, ‘‘एक संवैधानिक संस्था, भारत निर्वाचन आयोग जिस तरीके से संवैधानिक कर्तव्य की भावना पर खरा उतरने में बुरी तरह विफल रही वह ना केवल परेशान करने वाली बल्कि देश में लोकतंत्र के भविष्य के लिए भी एक खतरा है।’’

घुसपैठिये ‘वोटबैंक’, इसलिए नहीं निकालना चाहते सपा-बसपा और कांग्रेस : अमित शाह

नायडू ने आरोप लगाया कि बिना उचित कारण बताये चुनाव आयोग ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी, श्रीकाकुलम के जिला क्लेक्टर, कडपा एवं श्रीकाकुलम के पुलिस अधीक्षकों और डीजी (खुफिया) का तबादला कर दिया जिससे राज्य में अधिकारियों का मनोबल प्रभावित हुआ।

सूत्रों ने बताया कि चुनाव आयोग ने नायडू के सभी शिकायतों पर बिंदुवार प्रतिक्रिया दी है। नायडू को बताया गया है कि किसी भी रिटर्निंग अधिकारियों को नहीं हटाया गया और केवल एक जिला चुनाव अधिकारी बाहर किया गया। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि मुख्यमंत्री की सुरक्षा देखने वाले डीजी (खुफिया) का तबादला उनकी सुरक्षा के साथ समझौता था।

मुख्यमंत्री नायडू ने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों की मर्जी और पसंद के अनुसार काम किया जबकि उनकी पार्टी तेदेपा की शिकायतों को दरकिनार किया। उन्होंने दावा किया कि विपक्ष के प्रत्याशी ने पुलिस अधिकारी के खिलाफ एक धमकी भरा बयान दिया जिसके तुरंत बाद प्रकासम जिला पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया गया।

ज्ञापन में नायडू के हवाले से कहा गया है, ‘‘मुख्य सचिव को ना केवल अनौपचारिक रूप से हटा दिया गया बल्कि उनकी जगह पर राज्य सरकार से बिना विचार-विमर्श के नियुक्ति की गई जो लोकतांत्रिक शासन की स्थापित पंरपराओं और प्रक्रियाओं के खिलाफ है।’’

हालांकि, माना जा रहा है कि चुनाव आयोग ने नायडू से कहा है कि चुनाव आयोग के आदेशों का पालन करने में विफल रहने के कारण मुख्य सचिव को हटाया गया।