BREAKING NEWS

दिल्ली : गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली में तैनात हुए 27 हजार से अधिक जवान, कमिश्नर ने दी जानकारी ◾हिंदुओं को जलसे की इजाजत दी तो..विवादित बोल पर बवाल, सिद्धू के सलाहकार मुस्तफा ने धर्म विशेष के खिलाफ उगला जहर ◾बेरोजगारी पर राहुल ने किया केंद्र का घेराव, कहा- सरकार कर रही पूंजीपतियों का विकास, सिर्फ ‘हमारे दो’... ◾PLC ने 22 उम्मीदवारों की पहली सूची की जारी, इस शहर से चुनाव लड़ेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह◾अपर्णा यादव ने बांधे BJP की तारीफों के पुल, कहा- राष्ट्र को बचाने के लिए पार्टी की सत्ता में वापसी बहुत जरूरी ◾BJP में शामिल हुई अदिति सिंह ने प्रियंका को दी चुनाव लड़ने की चुनौती, कहा- रायबरेली अब कांग्रेस का गढ़ नहीं ◾SP ने जारी की पहली स्टार प्रचारकों की लिस्ट, मुलायम और अखिलेश समेत मौर्य का भी नाम, जानें पूरी सूची ◾अरविंद केजरीवाल का केंद्र पर बड़ा आरोप, बोले- सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार कर सकती है ED◾चीनी PLA ने अरुणाचल से 'लापता' लड़के का लगाया पता, भारतीय सेना को किया सूचित, जानें क्या कहा?◾UP: केशव प्रसाद मौर्य ने विरोधियों पर बोला हमला, कहा- 10 मार्च को सपा, बसपा और कांग्रेस का होगा सूपड़ा साफ◾‘अमर जवान ज्योति’ को युद्ध स्मारक ले जाने के फैसले का अखिलेश ने किया विरोध, देशवासियों से की ये अपील ◾मायावती ने कांग्रेस को बताया ‘वोटकटवा’, बोलीं- पार्टी इतनी खस्ताहाल कि प्रियंका ने बदला CM बनने का इरादा ◾कांग्रेस कैंडिडेट सुप्रिया ऐरन और उनके पति ने छोड़ा पार्टी का हाथ, बरेली कैंट से SP के टिकट पर लड़ेंगी चुनाव ◾UP चुनाव: SP का बढ़ा कद, भारत का सबसे लंबा व्यक्ति हुआ पार्टी में शामिल, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज ◾न्यूजीलैंड: ओमिक्रोन के मामले आने के बाद नए कोविड प्रतिबंध लगाने का फैसला, PM ने कैंसिल कर दी अपनी शादी ◾पंजाब: किसान संगठनों ने गैंगस्टर से कार्यकर्ता बने लाखा सिधाना को दिया टिकट, लाल किला हिंसा में आरोपी ◾शिवसेना के संस्थापक बाबासाहेब की 96वीं जयंती पर पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि, कहा- ठाकरे को सदा याद रखा जाएगा◾World Corona: कोविड संक्रमण का आंकड़ा 34.85 करोड़ के पार पहुंचा, 55.9 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾Today Corona Update: कोविड के नए मामलों में लगातार दूसरे दिन मामूली राहत, 24 घंटे में मिले 3.33 लाख केस◾नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर राष्ट्रपति और PM मोदी ने ट्वीट कर दी श्रंद्धाजलि◾

LAC पर अभी पूरी तरह पीछे नहीं हटी है चीन की सेना, भारत ने गतिरोध जल्द खत्म करने पर दिया जोर

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि क्षेत्र में सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है तथा सैनिकों के जल्द पीछे हटने से ही सीमावर्ती इलाकों में पूर्ण रूप से शांति बहाली एवं द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति सुनिश्चित की जा सकती है । विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने डिजिटल माध्यम से आयोजित साप्ताहिक प्रेस वार्ता में यह बात कही ।

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं इस बात पर जोर देता हूं कि सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है । दोनों पक्षों के बीच इस बात पर अंतरिम सहमति बनी कि वे जमीनी स्तर पर स्थिरता बनाये रखेंगे और किसी नयी घटना से बचेंगे । ’’ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा,‘‘ हमें उम्मीद है कि कोई भी पक्ष ऐसा कोई कदम नहीं उठायेगा, जो इस समझ के अनुरूप नहीं हो ।’’

उन्होंने कहा कि पूर्वी लद्दाख के इन क्षेत्रों से सैनिकों के जल्द पीछे हटने से ही सीमावर्ती इलाकों में पूर्ण रूप से शांति बहाली एवं द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति सुनिश्चित की जा सकती है ।उनसे पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध से जुड़ी ताजा स्थिति के बारे में पूछा गया था । गौरतलब है कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पूर्वी लद्दाख गतिरोध के संदर्भ में हाल ही में कहा था कि भारत और चीन के संबंध ऐसे चौराहे पर है जिसकी दिशा इस बात पर निर्भर करती है कि क्या पड़ोसी देश सीमा पर शांति बनाये रखने के लिये विभिन्न समझौतों को पालन करता है।

वहीं, विदेश मंत्री जयशंकर ने इस वर्ष शुरू की गयी सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया के बारे में 30 अप्रैल को अपने चीनी समकक्ष के साथ चर्चा की थी । इस बारे में मंत्रालय ने कहा था कि सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया अभी पूरी नहीं हुई है और इसे जल्द पूरा किया जाना चाहिए । भारत और चीन की सेनाओं के बीच पैंगोंग सो इलाके में पिछले वर्ष हिंसक संघर्ष के बाद सीमा गतिरोध उत्पन्न हो गया था। 

इसके बाद दोनों पक्षों ने हजारों सैनिकों एवं भारी हथियारों की तैनाती की थी। सैन्य एवं राजनयिक स्तर की वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने इस वर्ष फरवरी में पैंगोंग सो के उत्तरी और दक्षिणी किनारे से सैनिकों एवं हथियारों को पीछे हटा लिया था। हालांकि, समझा जाता है कि कुछ स्थानों पर सैनिकों के पीछे हटने को लेकर अभी भी गतिरोध बरकरार है ।