BREAKING NEWS

Yasin Malik News: टेरर फंडिंग मामले में यासीन मलिक को हुई उम्रकैद की सजा! 10 लाख का लगाया गया जुर्माना◾यासिन मलिक को उम्रकैद की सजा मिलने के बाद घाटी में मचा कोहराम! हिंसा की वजह से बंद हुआ इंटरनेट ◾ओडिशा में दुर्घटना को लेकर मोदी बोले- इस घटना से काफी दुखी हूं, जल्द स्वस्थ होने की करता हूं कामना◾वहीर पारा को जमानत मिलने पर महबूबा मुफ्ती बोलीं- मैं आशा करती हूं वह जल्द ही बाहर आ जाएंगे◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 26 मई को महिला जनप्रतिनिधि सम्मेलन-2022 का उद्घाटन करेंगे◾UP विधानसभा में भिड़े केशव मौर्य और अखिलेश यादव.. जमकर हुई तू-तू मैं-मैं! CM योगी को करना पड़ा हस्तक्षेप◾सपा का हाथ थामने पर जितिन प्रसाद ने कपिल सिब्बल पर किया कटाक्ष, कहा- कैसा है 'प्रसाद'?◾Chinese visa scam: कार्ति चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें! धन शोधन के मामले में ED ने दर्ज किया मामला ◾ज्ञानवापी मामले को लेकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी सुनवाई, दायर हुई नई याचिका पर हुआ बड़ा फैसला! ◾यासीन मलिक की सजा पर कुछ देर में फैसला, NIA ने सजा-ए-मौत का किया अनुरोध◾Sri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया ने नया वित्त मंत्री नियुक्त किया, पीएम रानिल विक्रमसिंघे को सोपी यह कमान ◾पाकिस्तान में बन रहे गृह युद्ध के हालात... इमरान खान पर लटक रही गिरफ्तारी की तलवार, जानें पूरा मामला ◾SP के टिकट पर राज्यसभा जाएंगे कपिल सिब्बल.. नामांकन दाखिल! डैमेज कंट्रोल में जुटे अखिलेश? ◾पेरारिवलन से MK स्टालिन की मुलाकात पर बोले राउत-ये हमारी संस्कृति और नैतिकता नहीं◾यूक्रेन के मारियुपोल में इमारत के भूतल में मिले 200 शव, डोनबास में जारी है पुतिन की सेना के ताबड़तोड़ हमले ◾हिंदू पक्ष ने Worship Act 1991 को बताया असंवैधानिक...., SC में नई याचिका हुई दायर, जानें क्या कहा ◾J&K : बारामूला मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने ढेर किए 3 पाकिस्तानी आतंकी, पुलिस का 1 जवान शहीद ◾बिहार में फिर कहर बनकर टूटी जहरीली शराब, गया और औरंगाबाद में अब तक 11 की मौत◾राज्यसभा के लिए SP ने फाइनल किए नाम, सिब्बल के जरिए एक तीर से दो निशाने साधेंगे अखिलेश?◾केंद्रीय मंत्री के ट्विटर से गायब हुए मुख्यमंत्री... नीतीश संग जारी मतभेद पर RCP ने कही यह बात, जानें मामला ◾

चीन शेष क्षेत्रों में लंबित मुद्दों के समाधान के लिए जरूरी कदम उठाये, सीमा पर शांति कायम हो सके : भारत

भारत ने रविवार को चीन के साथ सैन्य वार्ता में पूर्वी लद्दाख में टकराव के बाकी बिंदुओं से सैनिकों की जल्द वापसी पर जोर दिया। वार्ता करीब साढ़े आठ घंटे तक चली। चीन के अड़यिल रूख के कारण पूर्वी लद्दाख में पिछले करीब डेढ वर्षों से चले आ रहे गतिरोध को दूर करने के लिए रविवार को दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच हुई तेरहवें दौर की वार्ता में लंबित मुद्दों का समाधान नहीं हो सका।

चीन जरूरी कदम उठाये जिससे कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति तथा मैत्री कायम हो सके

सेना ने सोमवार सुबह एक वक्तव्य जारी कर कहा कि बातचीत के दौरान भारत ने दो टूक शब्दों में कहा कि यह गतिरोध चीन की पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर यथास्थिति में एकतरफा बदलाव करने की कोशिशों के कारण पैदा हुआ है। भारत ने कहा कि अब यह जरूरी है कि चीन शेष क्षेत्रों में लंबित मुद्दों के समाधान के लिए जरूरी कदम उठाये जिससे कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति तथा मैत्री कायम हो सके।

लंबित मुद्दों के समाधान से द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति का मार्ग प्रशस्त होगा

भारत ने जोर देकर कहा कि लंबित मुद्दों के समाधान से द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति का मार्ग प्रशस्त होगा। भारतीय पक्ष ने मुद्दों के समाधान के लिए सकारात्मक तथा रचनात्मक सुझाव दिये लेकिन चीनी पक्ष ने इस पर सहमति नहीं जतायी और न ही इस दिशा में आगे बढने वाला कोई प्रस्ताव पेश किया। इससे वार्ता के दौरान लंबित मुद्दों का कोई समाधान नहीं हो सका। रविवार सुबह साढे दस बजे शुरू हुई तेरहवें दौर की वार्ता शाम करीब सात बजे तक चीनी सीमा में स्थित मोल्दो गैरिसन में हुई थी।

 भारतीय पक्ष का नेतृत्व फायर एंड फ्यूरी कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल पी जीके मेनन ने किया

दो महीने से भी अधिक अंतराल के बाद हुई तेरहवें दौर की बातचीत में भारतीय पक्ष का नेतृत्व फायर एंड फ्यूरी कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल पी जीके मेनन ने किया जबकि चीनी पक्ष ने जनरल वांग हेजियांग की अगुवाई में बातचीत में हिस्सा लिया। सेना ने वार्ता का ब्योरा देते हुए कहा कि बैठक मुख्य रूप से पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के निकट विवाद के लंबित मुद्दों के समाधान पर केन्द्रीत रही।

वास्तविक नियंत्रण रेखा पर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की

भारत ने जोर देकर कहा कि चीन ने द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन कर वास्तविक नियंत्रण रेखा पर यथास्थिति को बदलने की कोशिश की। इसलिए अब इस स्थिति के समाधान के लिए चीन को उचित कदम उठाने चाहिए। भारतीय पक्ष ने कहा कि ऐसा करना दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की हाल में दुशांबे में हुई बातचीत के अनुरूप होगा। इस बातचीत में दोनों विदेश मंत्रियों के बीच सहमित बनी थी कि दोनों पक्षों को लंबित मुद्दों का जल्द से जल्द समाधान करना चाहिए।

 दोनों पक्षों ने पैगांग त्सो और गोगरा क्षेत्रों से अपने सैनिकों को पीछे हटा लिया है

रविवार को वार्ता के दौरान चीन के अड़यिल रूख के कारण लंबित मुद्दों के समाधान पर तो सहमति नहीं बनी लेकिन दोनों पक्ष जमीन पर शांति और स्थिरता बनाये रखने के लिए संवाद की प्रक्रिया को जारी रखने पर सहमत हुए।पिछले दौर की बातचीतों के आधार पर दोनों पक्षों ने पैगांग त्सो और गोगरा क्षेत्रों से अपने सैनिकों को पीछे हटा लिया है लेकिन देप्सांग और डेमचोक के क्षेत्रों को लेकर उनके बीच कोई सहमति नहीं बन पायी है।

प्रोटोकाल को ध्यान में रखकर बाकी बचे विवादित मुद्दों के समाधान की दिशा में काम करेगा

सेना ने कहा है कि हमें उम्मीद है कि चीन द्विपक्षीय संबंधों के व्यापक परिप्रेक्ष्य को देखते हुए द्विपक्षीय समझौतों और प्रोटोकाल को ध्यान में रखकर बाकी बचे विवादित मुद्दों के समाधान की दिशा में काम करेगा।उधर रिपोर्टों में कहा गया है कि चीन ने भारत पर आरोप लगाया है कि उसकी अतार्किक और अव्यवाहारिक मांगों के चलते बातचीत के दौरान दिक्कत पैदा हुई।इससे पहले बारहवें दौर की बैठक में पूर्वी लद्दाख में नियंत्रण रेखा से लगते क्षेत्रों में बाकी बचे विवादास्पद मुद्दों का मौजूदा समझौतों तथा प्रोटोकॉल के तहत जल्द से जल्द समाधान करने पर सहमति बनी थी

विश्वभर में कोरोना केस का आंकड़ा 23.78 करोड़ के पार, अब तक 6.45 अरब से ज्यादा लोगों का हुआ वैक्सीनेशन