BREAKING NEWS

भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾BJP द्वारा सरकार बनाने से इंकार किए जाने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में उभर रहे नए राजनीतिक समीकरण◾

देश

PM मोदी और शी चिनफिंग शिखर वार्ता के दौरान कश्मीर मुद्दा नहीं होगा : चीन

चीन का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच नियोजित दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के दौरान कश्मीर मुद्दा संभवत: चर्चा का “बड़ा विषय” नहीं होगा। चीन की ओर से मंगलवार को कही गई यह बात इस लिहाज से अहम है कि भले ही उसका करीबी सहयोगी पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा रद्द करने के भारत के फैसले पर जोर-शोर से अभियान चला रहा हो लेकिन चीन को इस मुद्दे में खास दिलचस्पी नहीं है। 

पांच अगस्त को भारत सरकार की ओर से जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा रद्द किए जाने के फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया था। पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने कूटनीतिक संबंधों का दर्जा घटा दिया था और भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया था। चीन की एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यह मोदी और शी पर निर्भर करेगा कि वे किन मुद्दों पर चर्चा करना चाहते हैं। 

कन्हैया कुमार के खिलाफ मुकदमा चलाने का अनुरोध दिल्ली सरकार के समक्ष लंबित : पुलिस

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, “कश्मीर एजेंडा में शामिल होगा या नहीं, मैं इस बारे में आश्वस्त नहीं हूं क्योंकि यह एक अनौपचारिक शिखर वार्ता और नेताओं की बैठक है। मेरे विचार में हमें नेताओं को उस पर चर्चा करने के लिए अधिक वक्त देना चाहिए जिस पर वे चर्चा करना चाहें।” हुआ ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच कश्मीर चर्चा का बड़ा विषय संभवत: नहीं होगा। 

उन्होंने कहा, “मेरे विचार में कश्मीर जैसे मुद्दे, मुझे नहीं लगता कि बातचीत में बड़े विषय के रूप में शामिल किए जाएंगे, यह मेरी समझ है।” हुआ ने एक सवाल के जवाब में कहा, “लेकिन यह नेताओं पर हैं कि वे जो विषय चाहें उस पर बात करें।” पाकिस्तान का चिरकालिक दोस्त चीन पिछले महीने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा ले जाने का प्रयास कर चुका है। लेकिन बीजिंग और इस्लामाबाद दोनों की अनदेखी करते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बंद दरवाजे के पीछे हुई बैठक बेनतीजा रही। 

कश्मीर मुद्दे के समाधान पर चीन के रुख को लेकर पूछे गए सवाल पर हुआ ने दोहराया, “हमने कश्मीर को हमेशा से भारत और पाकिस्तान के बीच एक समस्या के तौर पर लिया है।” उन्होंने कहा, “और हम जानते हैं कि कश्मीर को लेकर संयुक्त राष्ट्र के कुछ प्रस्ताव हैं, इसलिए हमें उम्मीद है कि यह मुद्दा संयुक्त राष्ट्र चार्टर और संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावों के अनुरूप भारत और पाकिस्तान के बीच दोस्ताना एवं शांतिपूर्ण तरीके से हल किया जाएगा।” राष्ट्रपति शी के अगले महीने भारत आने की बात पर हुआ ने कहा कि दोनों देश एक-दूसरे से करीबी संपर्क में हैं लेकिन दौरे की तिथि और स्थान उन्होंने नहीं बताया।