BREAKING NEWS

देश में कोरोना का आंकड़ा 6 लाख के पार, पिछले 20 दिनों के अंदर 3 लाख से अधिक केस आए सामने ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 6 लाख के पार, अब तक 5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾मध्यप्रदेश : शिवराज सरकार के कैबिनेट का विस्तार होगा आज, करीब 24 मंत्री ले सकते है शपथ ◾असम में बाढ़ से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 33 हुई, 15 लाख लोग हुए प्रभावित◾प्रियंका गांधी का मकान खाली कराने का कदम PM मोदी और CM योगी की बेचैनी दिखाता है : कांग्रेस◾रेलवे ने दी निजी यात्री ट्रेने शुरू करने को हरी झंडी, 30,000 करोड़ रुपये का होगा निवेश◾भारत के साथ सैन्य कमांडरों की बातचीत में प्रगति का चीन ने किया स्वागत, कहा - तनाव जल्द कम होगा ◾चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के फैसले पर भारत के साथ खड़ा हुआ अमेरिका, कहा - सुरक्षा के लिए जरूरी ◾दिल्ली में 2,442 नए मामले सामने आने के बाद कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 89 हजार के पार ◾UAPA कानून के तहत गृह मंत्रालय ने खालिस्तानी समूहों से जुड़े नौ लोगों को आतंकवादी घोषित किया ◾ 5,537 नए मामलों के साथ महाराष्ट्र में कोरोना मीटर पहुंचा 1,80,298, अबतक 8,053 मरीजों की मौत ◾59 चीनी ऐप बैन करने के बाद पीएम मोदी ने चीनी सोशल मीडिया प्लेटफार्म वीबो को कहा अलविदा ◾कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से एक महीने में सरकारी बंगला खाली करने का आदेश◾चीन की दादागिरी पर अमेरिका सख्त,कहा - अगर हांगकांग को “निगलने” की कोशिश की हम चुप नहीं बैठेंगे ◾कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुंबई में 15 जुलाई तक लगाई गई धारा 144◾सैन्य तैयारियों का जायजा लेने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को कर सकते है लद्दाख दौरा ◾आनंदीबेन पटेल ने मध्यप्रदेश के प्रभारी राज्यपाल पद की शपथ ली ◾चीन को एक और झटका देने की तैयारी में भारत, हाईवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियों को करेगा बैन◾कोरोनिल को लेकर आयुष मंत्रालय के साथ समाप्त हुआ विवाद, देश में हर जगह होगी उपलब्ध : रामदेव◾कोरोनिल पर विवाद को लेकर बोले रामदेव, क्या सिर्फ कोट-टाई वालों ने रिसर्च का ठेका ले रखा है◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

NRC पर CJI रंजन गोगोई का बड़ा बयान, बोले- ये भविष्य के लिए मूल दस्तावेज है

देश के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने रविवार को कहा कि असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) 'भविष्य के लिए मूल दस्तावेज है' और 'शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के लिए एक जरूरी पहल है।' न्यायमूर्ति गोगोई ने कहा कि असम एनआरसी सिर्फ आज के समय का दस्तावेज नहीं है। 

उन्होंने कहा कि यह भविष्य के दावों को निर्धारित करने में मददगार होगा। प्रधान न्यायाधीश, मृणाल तालुकदार की किताब 'पोस्ट कॉलोनियल असम' के विमोचन पर बोल रहे थे। न्यायमूर्ति गोगोई ने कहा, "19 लाख या 40 लाख कोई मुद्दा नहीं है। बल्कि यह भविष्य के लिए आधार दस्तावेज है। भविष्य के दावों को निर्धारित करने के लिए इस दस्तावेज का जिक्र कर सकते हैं। मेरी राय में एनआरसी का वास्तविक महत्व आपसी शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व में है।" 

न्यायमूर्ति गोगोई ने कहा कि एनआरसी पर राष्ट्रीय संवाद के दौरान टिप्पणीकारों ने एक विकृत तस्वीर पेश की है। उन्होंने एनआरसी पर आक्षेप लगाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने वालों की निंदा की। उन्होंने कहा, "सोशल मीडिया और इसके टूल का इस्तेमाल बहुत से टिप्पणीकारों द्वारा इस मुद्दे पर दोहरी बात करने के लिए किया गया है। उन्होंने एक लोकतांत्रिक संस्थान पर दुर्भावना से प्रेरित होकर आक्षेप लगाना शुरू किया है।" 

दिल्ली-NCR में लगातार जहरीली हो रही है हवा, बारिश के बाद भी प्रदूषण लेवल में नहीं आई गिरावट