BREAKING NEWS

अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾CM नीतीश की चेतावनी पर पवन वर्मा बोले- मुझे चिट्ठी का जवाब नहीं मिला◾भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- देश हित में लिए प्रधानमंत्री के फैसलों से देश में नई ऊर्जा एवं उत्साह पैदा हुआ◾नेताजी ने हिंदू महासभा की विभाजनकारी राजनीति का विरोध किया था : ममता बनर्जी◾‘हिंदुत्व’ की राह पर निकले राज ठाकरे, MNS का नया झंडा लॉन्च किया◾

वाणिज्यिक और कारोबारी कानून अब अधिक महत्वपूर्ण बने : कोविंद

कटक : राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने आज कहा कि अर्थव्यवस्था के विकास और कानूनी पेशे के विस्तार के कारण वाणिज्यिक और कारोबारी कानून अब अधिक महत्वपूर्ण, जटिल और बौद्धिक उत्प्रेरक हो गये हैं। श्री कोविंद ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ओडिशा के तीसरे स्थापना दिवस व्याख्यान में कहा कि व्यापार और वाणिज्य, अंतरराष्ट्रीय समझौते और यहां तक कूटनीतिक मसले भी वकीलों और विधि विशेषज्ञों के पास वार्ता और कुशल मसौदा प्रारुप के लिए लाये जाते हैं।

उन्होंने कहा कि मध्यस्थता और विधिक सेवाओं के भूमंडलीकरण ने आज के वकीलों को शेष विश्व से जोड़ दिया है। कानूनी पेशे के आधुनिकीकरण से विधि स्नातकों और युवा वकीलों के लिए इस क्षेत्र में अवसर बढ़ रहे हैं। श्री कोविंद ने कहा कि अदालतों में मुकदमे लड़ना कानूनी पेशे का मुख्य कार्य है लेकिन अब एक विधि स्नातक अपने लिए कई तरह राहें खोज सकता है। इस तरह के अवसर पहले उपलब्ध नहीं थे। राष्ट्रपति ने कहा कि वकील, अदालत का विधि अधिकारी होता है, लेकिन उसकी जिम्मेदारी मुवक्किल के प्रति होती है। उसका कर्तव्य है कि वह अदालत में न्याय के लिए सहायता करे।

उन्होंने कहा कि उन्हें यह जानकार प्रसन्नता हुई है कि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ओडिशा अपने छात्रों को नये क्षेत्रों से जोड़ रही है और उन्हें नयी जिम्मेदारियां दे रही है। यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल ई-कामर्स लॉ और कारपोरेट गवर्नेंस के भी प्रस्ताव दे रही है। उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायालय दीपक मिश्रा ने स्थापना दिवस की महत्ता पर जोर देते हुए कहा कि आज का दिन स्मरण दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा,' हमें आत्ममंथन करना है कि हम भविष्य के लिए क्या कर सकते हैं।

ओडिशा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश विनीत सरन ने कहा कि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ओडिशा का नाम न केवल राष्ट्रीय स्तर पर है बल्कि इसकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी ख्याति है। इस मौके पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेन्द, प्रधान भी मौजूद थे। राष्ट्रपति आज सुबह भुवनेश्वर पहुंचे और नेताजी सुभाष चन्द, बोस राष्ट्रीय संग्रहालय भी गये। उन्होंने आनंद भवन संग्रहालय और अध्ययन केन्द, ओडिशा की जनता को समर्पित किया।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।