BREAKING NEWS

कृषि कानून : किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी, सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात◾देश में कोरोना केस 96 लाख के करीब, अब तक 90 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾हैदराबाद में GHMC चुनाव की मतगणना जारी, प्रचार अभियान में BJP ने झोंक दी थी पूरी ताकत◾TOP 5 NEWS 04 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 6 करोड़ के पार ◾आज का राशिफल ( 4 दिसंबर 2020 )◾अगले सप्ताह सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जा सकते हैं सेना प्रमुख जनरल नरवणे ◾PM मोदी IIT 2020 वैश्विक शिखर सम्मेलन को करेंगे संबोधित◾अमरिंदर ने शाह से मुलाकात की : केंद्र किसानों से जल्द गतिरोध समाप्त करने की अपील की◾कृषि कानूनों के विरोध में प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्म विभूषण ◾SC ने कोरोना के आंकड़ों की दोबारा जांच के तरीके के बारे में केजरीवाल सरकार से मांगी जानकारी◾दिल्ली में 24 घण्टे में संक्रमण के 3734 नए मामले आये सामने, 82 लोगों की मौत◾साढ़े सात घंटे तक चली किसानों और सरकार के बीच बैठक बेनतीजा, अब 5 दिसंबर को अगली वार्ता ◾गृह मंत्री बासवराज बोम्मई का ऐलान, कहा- लव जिहाद के खिलाफ कर्नाटक में भी लागू होगा कानून ◾किसान आंदोलन: आपस में उलझे CM अमरिंदर और केजरीवाल, कैप्टन को बताया 'मोदी भक्त' ◾नए कृषि कानूनों के विरोध में राज्यसभा सांसद सुखदेव ढींढसा ने भी लौटाया पद्मभूषण◾CM ममता की केंद्र को चेतावनी, 'कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया गया तो देशव्यापी विरोध प्रदर्शन होगा शुरू'◾मीटिंग के दौरान किसानों ने सरकार के लंच को ठुकराया, लंगर से मंगा कर जमीन पर बैठ कर किया भोजन ◾गुजरात में मास्क न पहनने वालों की कोविड सेंटर पर ड्यूटी लगाने के निर्देश पर सुप्रीम कोर्ट की रोक ◾इंटरपोल की चेतावनी - अपराधी गिरोह कोविड-19 का नकली टीका बेच सकते हैं, रहें सावधान ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत और यहां के बहुसंख्यक समुदाय के DNA में हैं सांप्रदायिक समरसता और सहिष्णुता : किरण रिजिजू

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने गुरुवार को कहा कि देश में अल्पसंख्यकों के धार्मिक और संवैधानिक अधिकार पूरी तरह से सुरक्षित हैं और इसका सर्टिफिकेट किसी और से लेने की जरूरत नहीं है क्योंकि सांप्रदायिक समरसता और सहिष्णुता देश और उसके बहुसंख्यक समुदाय के डीएनए में है। बौद्धधर्म से ताल्लुक रखने वाले रिजिजू की यह टिप्पणी अमेरिकी ट्रंप प्रशासन के एक अधिकारी के यह कहने के बाद आयी है कि भारत में धार्मिक स्वतंत्रता को लेकर जो कुछ हो रहा है, उससे अमेरिका चिंतित है।

केंद्रीय खेल मंत्री होने के साथ-साथ उनके पास केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री का भी प्रभार है। उन्होंने कहा, ‘‘भारत को सांप्रदायिक समरसता और सहिष्णुता पर किसी से सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है क्योंकि यह भारत और उसके बहुसंख्यक समुदाय के डीएनए में है।’’ उन्होंने कहा कि देश में अल्पसंख्यकों के सामाजिक, धार्मिक और संवैधानिक अधिकार पूरी तरह से सुरक्षित हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘कुछ असहिष्णु लोग डर और असहिष्णुता का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य के तौर पर मैं यह महसूस करता हूं कि भारत अल्पसंख्यकों के लिए दुनिया का सबसे अच्छा देश है।’’

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिका के राजनयिक सैमुअल ब्राउनबैक ने बुधवार को कहा कि भारत एक ऐसा देश रहा है जिसने खुद ही चार बड़े धर्मों को जन्म दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘भारत में जो भी हो रहा है, हम उससे बहुत चिंतित हैं। वह ऐतिहासिक रूप से सभी धर्मों के लिए बहुत ही सहिष्णु, सम्मानपूर्वक देश रहा है।’’ ब्राउनबैक ने कहा कि भारत में जो चल रहा है वह बहुत ही परेशान करने वाला है क्योंकि यह बहुत ही धार्मिक उपमहाद्वीप है लेकिन वहां अधिक साम्प्रदायिक हिंसा देखने को मिल रही है।

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए राजनयिक सैमुअल ब्राउनबैक की यह टिप्पणियां बुधवार को ‘2019 अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता रिपोर्ट’जारी होने के बाद आई है। विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ द्वारा जारी की गई इस रिपोर्ट में दुनियाभर में धार्मिक आजादी के उल्लंघन की प्रमुख घटनाओं का जिक्र है। धार्मिक स्वतंत्रता पर अमेरिका की रिपोर्ट को भारत पहले भी खारिज करते हुए कह चुका है कि किसी भी विदेशी सरकार को उसके नागरिकों के संवैधानिक अधिकारों की स्थिति पर फैसला सुनाने का कोई अधिकार नहीं है। गौरतलब है कि भारत सरकार ने पहले इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा था, ‘‘भारत को सबसे बड़ा लोकतंत्र और सहिष्णुता एवं समावेशिता की दीर्घकालीन प्रतिबद्धता के साथ बहुलवाद समाज होने के नाते अपनी धर्मनिरपेक्षता, अपनी स्थिति पर गर्व है।’’