BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा : मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 41, पीड़ितों से मिलने पहुंचे LG अनिल बैजल ◾रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर वार, बोले- राजधर्म का उपदेश न दें सोनिया◾प्रधानमंत्री मोदी के आगमन से पहले छावनी में तब्दील हुआ प्रयागराज, जानिये 'विश्व रिकार्ड' बनाने का पूरा कार्यक्रम ◾ ताहिर हुसैन के कारखाने में पहुंची दिल्ली फोरेंसिक टीम, जुटाए हिंसा से जुड़े सबूत◾जानिये कौन है IB अफसर की हत्या के आरोपी ताहिर हुसैन, 20 साल पहले अमरोहा से मजदूरी करने आया था दिल्ली ◾एसएन श्रीवास्तव नियुक्त किये गए दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर, कल संभालेंगे पदभार ◾जुमे की नमाज़ के बाद जामिया में मार्च , दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती भरा दिन◾CAA को लेकर आज भुवनेश्वर में अमित शाह करेंगे जनसभा को सम्बोधित ◾CAA हिंसा : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अब हालात सामान्य, जुम्मे के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कायम◾CAA को लेकर BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले - कांग्रेस जो नहीं कर सकी, PM मोदी ने कर दिखाया◾Coronavirus : चीन में 44 और लोगों के मौत की पुष्टि, दक्षिण कोरिया में 2,000 से अधिक लोग पाए गए संक्रमित ◾भारत ने तुर्की को उसके आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचने की सलाह दी◾राष्ट्रपति कोविंद 28 फरवरी से 2 मार्च तक झारखंड और छत्तीसगढ़ के दौरे पर रहेंगे◾संजय राउत ने BJP पर साधा निशाना , कहा - दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो केंद्र सरकार क्या कर रही थी ?◾PM मोदी 29 फरवरी को बुंदेलखंड एक्स्प्रेस-वे की रखेंगे नींव◾दिल्ली हिंसा : SIT ने शुरू की जांच, मीडिया और चश्मदीदों से मांगे 7 दिन में सबूत◾PM मोदी प्रयागराज में 26,526 दिव्यांगों, बुजुर्गों को बांटेंगे उपकरण◾ओडिशा : 28 फरवरी को अमित शाह करेंगे CAA के समर्थन में रैली को संबोधित◾SP आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की विधानसभा सदस्यता खत्म◾AAP पार्टी ने पार्षद ताहिर हुसैन को किया सस्पेंड, दिल्ली हिंसा में मृतक संख्या 38 पहुंची◾

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूर्वोत्तर पर की अहम बैठक, NRC मुद्दे पर की गई चर्चा

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को पूर्वोत्तर को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की जिसमें राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और नागरिकता (संशोधन) विधेयक सहित कई मुद्दों पर चर्चा की गई और इस क्षेत्र में पार्टी की समन्वय समिति को मजबूत बनाने तथा एनआरसी से बाहर रह गए भारतीय नागरिकों को पूरी मदद मुहैया कराने भी निर्णय लिया गया। 

इस बैठक में पूर्वोत्तर के कई राज्यों के कांग्रेस अध्यक्षों ने नागरिकता (संशोधन) विधेयक का विरोध किया, हालांकि अभी कांग्रेस आलाकमान ने इस विषय पर कोई फैसला नहीं किया। इस पर पार्टी बाद में अपना रुख स्पष्ट करेगी। कांग्रेस ने इस विधेयक को लेकर उस वक्त चर्चा की है जब हाल ही में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि नागरिकता (संशोधन) विधेयक को भुला नहीं दिया गया है और इसे फिर से लाया जाएगा। 

हालांकि, पूर्वोत्तर के राज्यों की चिंताओं को दूर करते हुए उन्होंने कहा कि क्षेत्र से जुड़े विशेष कानून को नहीं छुआ जाएगा। बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, एके एंटनी और केसी वेणुगोपाल, पूर्वोत्तर के राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष और विधायक दल के नेता मौजूद थे।

 इस बैठक के बाद असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने बताया, ‘‘एनआरसी को लेकर चर्चा हुई और यह निर्णय हुआ कि जो वास्तविक भारतीय नागरिक एनआरसी की सूची से बाहर रह गए हैं उनके साथ कांग्रेस पार्टी खड़ी रहेगी और उनको कानूनी और दूसरी हर तरह की मदद मुहैया करएगी।’’ 

ऑड-ईवन स्कीम पर बोले नितिन गडकरी- दिल्ली में इसकी कोई जरूरत नहीं

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ने निर्देश दिया कि एनआरसी से बाहर रह गए भारतीय नागरिकों की पूरी मदद की जाए। उन्होंने कहा, ‘‘हमने भारत सरकार से आग्रह किया है कि भारतीय नागरिकों का नाम नहीं छूटना चाहिए। कांग्रेस की तरफ से हेल्प डेस्क बनाया गया है। अपील याचिका और कागजों के बारे में मदद की दी जा रही है।’’ 

बोरा ने कहा, ‘‘बैठक में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के बारे में चर्चा की गई। सारे नेताओं की राय ली गई और सभी इकाइयों ने इसके खिलाफ राय दी, लेकिन कांग्रेस आलाकमान ने फिलहाल कोई निर्णय नहीं लिया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बैठक में पूर्वोत्तर के राज्यों के विशेष दर्जे को लेकर भी चर्चा की गई। 

नगा शांति समझौते को लेकर बात हुई। हमारा यह रुख है कि इस नगा शांति फ्रेमवर्क में किसी सीमावर्ती राज्यों के हित से समझौता नहीं होना चाहिए और सभी के हितों की सुरक्षा होनी चाहिए।’’ बोरा ने कहा कि पूर्वोत्तर कांग्रेस समन्वय समिति को मजबूत बनाने का फैसला किया गया है। इसका गुवाहाटी में स्थायी कार्यालय बनाया जाएगा।